मैच (17)
आईपीएल (2)
ENG v PAK (W) (1)
T20I Tri-Series (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (3)
ख़बरें

टी20 विश्व कप की टीम में अपना स्थान पक्का करना चाहते हैं शिखर धवन

धवन आईपीएल 2019 से शानदार फॉर्म में हैं लेकिन भारतीय टी20 टीम में जगह बनाने में उन्हें काफी मशक्कत करनी पड़ रही है

Shikhar Dhawan leans into a drive, Sri Lanka vs India, 2nd ODI, Colombo, July 20, 2021

ड्राइव लगाते हुए शिखर धवन  •  ISHARA S. KODIKARA/AFP/Getty Images

शिखर धवन ने अपनी टी-20 बल्लेबाज़ी में काफी कुछ बदला है। तकनीक और स्ट्राइक रेट के मामले में भी उन्होंने अपने खेल में काफी बदलाव किए हैं और यह आईपीएल में उनके प्रदर्शन से स्पष्ट हो गया था। खास कर 2019 सीज़न से ही उनका प्रदर्शन काफी शानदार रहा है। आईपीएल 2020 में वह ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के स्मार्ट रन चार्ट पर, उस सीज़न के सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ के एल राहुल को पछाड़ते हुए, नंबर एक खिलाड़ी थे।
कोलकाता नाइट राइडर्स के ख़िलाफ़ 63 गेंदों में नाबाद 97 रनों की पारी खेलने के बाद धवन ने अपना शानदार फ़ॉर्म जारी रखा हैं। उस मैच के बाद से, 35 मैचों में 45.56 की औसत और 141.95 के स्ट्राइक रेट से 1367 रन बनाकर, धवन आईपीएल के सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। आईपीएल में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले शॉर्ष दस बल्लेबाज़ों में केवल एबी डिविलियर्स का स्ट्राइक रेट धवन से बेहतर है।
इसके बावजूद धवन को भारत की पहली पसंद वाली टी20 टीम में जगह नहीं मिलेगी। धवन ने आख़िरी बार मार्च 2021 में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पांच मैचों की सीरीज़ का पहला मैच खेला था, जिसमें उनका प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था। उस मैच में उन्होंने 12 गेंदों में सिर्फ 4 रन बनाए थे। इसके बाद धवन को उस सीरीज़ के बाकी चार टी20 मैचों में खेलने का मौका नहीं मिला था। इस सीरीज़ के पांचवें और अंतिम मैच में विराट कोहली ने सलामी बल्लेबाज़ की भूमिका निभाई थी और इस ओर इशारा किया था कि आगे भी वो रोहित शर्मा के साथ भारतीय पारी की शुरुआत कर सकते हैं। भारत के पास चार ऐसे खिलाड़ी हैं, जो नई गेंद का सामना कर सकते हैं। विराट कोहली के इस स्थान पर बल्लेबाज़ी करना उन चार बल्लेबाज़ों के लिए परेशानी का सबब बन सकता है।
उस संदर्भ में देखें तो धवन के लिए श्रीलंका के ख़िलाफ़ आगामी टी20 सीरीज़ काफी मायने रखती है। वह टीम के कप्तान ज़रूर हैं पर वह अच्छी बल्लेबाज़ी करने के मामले में भी टीम का नेतृत्व करना चाहेंगे।
धवन ने शनिवार को पहले टी20 मैच से पहले कहा, "यह सीरीज़ बहुत महत्वपूर्ण है। बेशक किसी भी अंतर्राष्ट्रीय मैच का अपना प्रभाव होता है और जब भी आप अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करते हैं तो उसका अलग प्रभाव पड़ता है। इसलिए एक व्यक्तिगत स्तर पर, मैं यहां बढ़िया प्रदर्शन करने और टी20 विश्व कप के लिए टीम में अपनी जगह को और अधिक मज़बूत बनाने के लिए उत्सुक हूं। उसके बाद भविष्य में जो होगा सो होगा।"
कप्तान के रूप में भी धवन के सामने सीरीज़ के लिए स्पष्ट लक्ष्य है। भारत ने सीरीज़ जीतने के बाद तीसरे और अंतिम वनडे में नए खिलाड़ियों को मौका दिया था। धवन ने संकेत दिया कि टी20 सीरीज़ में भी ऐसा हो सकता है।
उन्होंने कहा, "हमें सीरीज़ जीतनी है। तीसरे वनडे में कुछ युवाओं को टीम में जगह देकर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का बढ़िया मौका दिया गया था, क्योंकि हम पहले ही सीरीज़ जीत चुके थे। हम निश्चित रूप से पहले अपनी सर्वश्रेष्ठ एकादश के साथ जाएंगे। हम पहले दो मैच जीतने की कोशिश करेंगे और फिर स्थिति के अनुसार ज़रूरत पड़ने पर अंतिम मैच में कुछ बदलाव करेंगे।
"अगर हम दो मैच जीतते हैं तो हमारे पास किसी भी प्रकार की टीम संरचना के साथ खेलने का विकल्प होगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो हमारा मुख्य लक्ष्य सीरीज़ जीतने के लिए सर्वश्रेष्ठ एकादश के साथ खेलना है। यही हमारी पहली प्राथमिकता है। उसके बाद अगर हम इसे वनडे सीरीज़ के जैसे पहले ही जीतने में कामयाब होते हैं तो हम प्रयोग करने के बारे में सोच सकते हैं।"
वनडे सीरीज़ के दौरान धवन ने युवा खिलाड़ियों में विश्वास जताया था। ज़्यादातर युवा खिलाड़ी आईपीएल के कारण वनडे मैचों की तुलना में टी20 मैचों से ज़्यादा परिचित हैं। उन्होंने इस ओर भी इशारा किया कि दूसरे और तीसरे वनडे में श्रीलंका ने बेहतर प्रदर्शन किया है। साथ ही साथ श्रीलंकाई टीम, भारतीय खिलाड़ियों के कमज़ोर और मज़बूत पक्षों को जान चुकी है, जो टी20 सीरीज़ को चुनौतीपूर्ण बनाएगा।
धवन ने कहा, "बेशक वे खिलाड़ी इस स्तर पर खेलने के लिए तैयार हैं तभी वो यहां खेल रहे हैं। जैसा कि आपने देखा, युवाओं ने वनडे श्रृंखला में इतना अच्छा प्रदर्शन किया। वे टी20 सीरीज़ में उसी आत्मविश्वास को आगे बढ़ाएंगे और अच्छा प्रदर्शन करेंगे। एक टीम के तौर पर हमने यहां एक अद्भुत और सकारात्मक माहौल बनाया है और हम अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद कर रहे हैं। न सिर्फ युवा बल्कि सीनियर खिलाड़ी भी ऐसे प्रदर्शन का इंतजार कर रहे हैं।"
"मुझे लगता है कि दोनों टीमों के बीच अच्छा मुक़ाबला होगा। आपने देखा कि श्रीलंकाई टीम ने किस तरह से पिछले दो (वनडे) मैचों में सुधार किया है। उन्होंने बढ़िया वापसी करते हुए शानदार खेल का मुज़ाहिरा किया। वे एक युवा टीम हैं। हम दोनों टीमें अब तक इस श्रृंखला में एक-दूसरे के ख़िलाफ़ तीन मैच खेल चुके हैं। दोनों पक्ष एक-दूसरे की ताक़त और कमज़ोरियों को बख़ूबी जानते है। यह अच्छी बात है जो आने वाले मैचों को और भी ज़्यादा चुनौतीपूर्ण बना देगा," यह कहकर धवन ने अपनी बात का अंत किया।

सौरभ सोमानी ESPNcricinfo के असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।