फ़ीचर्स

विराट कोहली : जांबाज़ बल्लेबाज़ और विदेशी धरती पर धुरंधर कप्तान

भारत के टेस्ट कप्तान के रूप में उनके बेहद सफल कार्यकाल के प्रमुख आंकड़े

Virat Kohli was presented with the Test mace, India v New Zealand, 3rd Test, Indore, 4th day, October 11, 2016

विराट कोहली ने भारत को टेस्ट क्रिकेट रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर पहुंचाया  •  BCCI

साउथ अफ़्रीका में सीरीज़ हारने के एक दिन बाद विराट कोहली ने टेस्ट की कप्तानी त्यागने का निर्णय लिया। अपनी कप्तानी में 68 में से 40 टेस्ट जीतने से वह भारत के सर्वकालिक सफलतम टेस्ट कप्तान बनते हैं। उनकी टेस्ट कप्तानी से जुड़े और मज़ेदार आंकड़ों पर एक नज़र डालते हैं।
भारत के सफलतम टेस्ट कप्तान
कोहली की कप्तानी में भारत ने 40 टेस्ट मैच जीते जो कि महेंद्र सिंह धोनी के पिछले रिकॉर्ड से 13 टेस्ट ज़्यादा हैं। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में केवल ग्रैम स्मिथ, रिकी पोंटिंग और स्टीव वॉ ने उनसे अधिक टेस्ट मैच जीते हैं।
कोहली 25 सीरीज़ में भारत के कप्तान रहे और इनमें भारत ने 18 सीरीज़ जीती और छह हारी। एक सीरीज़ बांग्लादेश के ख़िलाफ़ बारिश के चलते ड्रॉ रही।
भारत में कप्तान कोहली का रिकॉर्ड अद्वितीय है। भारत ने उनकी नेतृत्व में ना तो सीरीज़ हारी और ना ही ड्रॉ की। किसी भी भारतीय खिलाड़ी का घर पर कप्तानी करते हुए इतना ज़बरदस्त रिकॉर्ड नहीं है। कप्तान कोहली ने अपने घर पर 11 सीरीज़ में केवल दो टेस्ट मैच हारे। उनकी टीम घर पर इतनी हावी रही कि उन्होंने नौ मैच पारी के अंतर से जीते और नौ और में फ़ासला 150 रन से अधिक का रहा।
विदेशी धरती के धुरंधर
कोहली की कप्तानी में भारत ने 16 टेस्ट घर के बाहर जीते। यह भी भारत के लिए एक रिकॉर्ड है - सौरव गांगुली ने बतौर कप्तान 11 टेस्ट विदेशी धरती पर जीते थे। कोहली ऑस्ट्रेलिया में सीरीज़ जीतने वाले पहले एशियाई कप्तान भी बने। कोहली की टीम ने 2017 में श्रीलंका को 3-0 से, 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से, और वेस्टइंडीज़ को दो बार 2-0 से हराया। पिछले साल इस टीम ने इंग्लैंड को उसकी धरती पर 2-1 की बढ़त रहते सीरीज़ को छोड़ा। सेना (साउथ अफ़्रीका, इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रेलिया) देशों में कोहली ने सात बार टेस्ट जीता है जबकि भारत के किसी और कप्तान के लिए यह रिकॉर्ड तीन टेस्ट मैचों का है। ऐसे देशों में एशिया के किसी भी कप्तान के लिए भी यह रिकॉर्ड है - वसीम अकरम और जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान को यहां चार-चार टेस्ट जिताए थे।
जांबाज़ बल्लेबाज़ कोहली
कप्तानी का भार अक्सर एक अच्छे बल्लेबाज़ पर थोड़ा दबाव डालता है लेकिन कोहली इस दबाव में निखरते हुए दिखे। बतौर कप्तान उन्होंने एडिलेड में अपने पहले टेस्ट में दोनों पारियों में शतक जड़े। बतौर कप्तान कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में 20 शतक और 18 अर्धशतक लगाए। सैंकड़ों के मामले में ग्रैम स्मिथ इकलौते कप्तान हैं जो उनसे आगे हैं
कप्तान कोहली ने 54.80 की औसत से 5864 रन बनाए। उनके सात दोहरे शतक भी किसी भी कप्तान के लिए एक रिकॉर्ड है।
अगर न्यूज़ीलैंड को छोड़ दें तो कोहली ने बतौर कप्तान किसी भी देश में कम से कम दो टेस्ट खेलते हुए शतक ठोके हैं। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में कप्तानी करते हुए कोहली ने 41 सैंकडे जड़े जो उन्हें इस मामले में पोंटिंग के साथ संयुक्त पहले स्थान पर रखेगा।
गेंदबाज़ों का कप्तान
कोहली की कप्तानी में भारतीय गेंदबाज़ी ने कई अवसरों पर ख़ासा फ़र्क़ पैदा किया। घर से बाहर 35 टेस्ट मैचों में कुल 22 टेस्ट ऐसे रहे जहां कोहली की कप्तानी में भारत ने विपक्ष के 20 विकेट लिए।
1990 के बाद कोहली के अलावा किसी और भारतीय कप्तान के रहते टीम ने 30 की औसत से कम या 60 के स्ट्राइक रेट से कम से विकेट नहीं गिराए। कोहली के गेंदबाज़ 25 की औसत से हर 52 गेंदों पर विकेट लेते थे। अगर आप तुलना करना चाहें तो पोंटिंग की टीमें 29.9 के औसत से हर 58 गेंदों में एक विकेट लिया करती थी। कोहली की कप्तानी में छह ऐसे गेंदबाज़ थे जिन्होंने 100 से अधिक विकेट लिए। रवि अश्विन ने 55 मैच में 293 विकेट लिए और किसी कप्तान और गेंदबाज़ की सर्वाधिक विकेट लेने वाली जोड़ी में केवल डेल स्टेन (347 विकेट) और ग्रैम स्मिथ उनसे आगे हैं।

गौरव सुंदरारमन ESPNcricinfo में सीनियर स्टैट्स विश्लेषक हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।