मैच (6)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
Pakistan vs New Zealand (1)
IRE-W vs THAI-W (1)
SA v SL (W) (1)
ख़बरें

शाकिब अल हसन : हम यहां विश्व कप जीतने नहीं आए हैं

बांग्लादेशी कप्तान ने कहा कि उनकी टीम भारत के विरुद्ध बड़ा उलटफेर करने का प्रयास करेगी

बुधवार को भारत के ख़िलाफ़ मुक़ाबले से पहले शाकिब अल हसन ने भारत को जीत का प्रबल दावेदार मानते हुए कहा है कि उनकी टीम इस मैच में बड़ा उलटफेर करने का प्रयास करेगी। शाकिब ने अपनी युवा टीम को भारत के विरुद्ध इस मासिकता के साथ खेलने की हिदायत दी है, जैसे उनके पास अब खोने के लिए कुछ नहीं है क्योंकि वह ख़ुद ऐसा मानते हैं कि वह यहां विश्व कप जीतने नहीं आए हैं।
नीदरलैंड्स और ज़िम्बाब्वे से पार पाने के बाद जब शाकिब से भारत और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेले जाने वाले मुक़ाबलों के संबंध पूछा गया तब उन्होंने कहा, "हम दोनों ही मुक़ाबलों में अच्छा करना चाहते हैं क्योंकि अगर हम इनमें से एक भी मैच जीतेंगे तो यह एक उलटफेर माना जाएगा।"
शाकिब ने कहा, "हम ऐसा कर के काफ़ी खुश होंगे। दोनों ही टीमें कागज़ पर काफ़ी मज़बूत हैं और हमसे बेहतर हैं। यदि हम अच्छा खेलते हैं और वह हमारा दिन होता है तो हम क्यों नहीं जीत सकते? हमने इस विश्व कप में आयरलैंड को इंग्लैंड को और ज़िम्बाब्वे को पाकिस्तान को हराते हुए देखा है। कुछ इस तरह का नतीजा हमें भी ख़ुशी देगा। जैसे कि मैंने पहले बांग्ला में कहा, भारत जीत का प्रबल दावेदार है। वह यहां विश्व कप को जीतने आए हैं। हम इस ख़िताब के प्रबल दावेदार नहीं हैं, हम यहां विश्व कप जीतने नहीं आए हैं। हम इस तथ्य से भली भांति परिचित हैं कि हमारी भारत के ख़िलाफ़ जीत को एक उलटफेर करार दिया जाएगा लेकिन हम अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करेंगे।"
यह कुछ ऐसे शब्द हैं जिन्हें प्रशंसक निश्चित तौर पर नहीं सुनना चाहेंगे। विशेषकर विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट के दौरान जब उनकी भावनाएं काफ़ी ऊपर होती हैं। टी20 अंतर्राष्ट्रीय में भी बांग्लादेश के विरुद्ध भारत का रिकॉर्ड अच्छा है। जहां भारतीय टीम ने 10 मैचों में जीत दर्ज की है जबकि सिर्फ़ एक जीत बांग्लादेश के हाथ लगी है। शाकिब मानते हैं कि एडिलेड ओवल में भारत, बांग्लादेश के लिए घातक साबित हो सकता है क्योंकि इस मैदान पर भारतीय टीम के पास अच्छा खासा अनुभव है। इस मैदान पर भारत द्वारा खेले 29 मैचों की तुलना में बांग्लादेश सिर्फ़ एक बार ही खेला है।
शाकिब ने कहा, "मैं यह नहीं कह सकता कि डे-नाइट का समय दोनों ही पक्षों के लिए मुक़ाबले को संतुलित कर देता है। भारत ने विभिन्न प्रारूपों में यहां कई मुक़ाबले खेले हैं जबकि हमारी टीम में से सिर्फ़ मैं और तस्कीन (अहमद) ही यहां खेले हैं। उन्होंने अपने तीनों मैचों में टीमों को 160 के भीतर रोका है। हमें 160-170 का स्कोर खड़ा करने के लिए उम्दा बल्लेबाज़ी करनी होगी। भारत के पास वैसे भी विश्व स्तरीय गेंदबाज़ी है।"
बांग्लादेशी कप्तान ने क़रीबी मुक़ाबलों को अपने पक्ष में झुकाने के लिए अपनी टीम की भी जमकर तारीफ़ की। विशेषकर ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ वह मुक़ाबला जिसमें गाबा की एक उछाल भरी और तेज़ पिच पर बांग्लादेश के संघर्ष की संभावना जताई जा रही थी लेकिन इसके बावजूद वह 150 के स्कोर का बचाव करने में सफल हो गए।
शाकिब ने कहा, "टी20 के अधिकतर मैचों का निर्णय अंतिम ओवर में होता है। ऐसे में अपनी इंद्रियों पर काबू रखना बहुत ज़रूरी है। एक ऐसा समय भी था जब हम क़रीबी मैचों में सफलता प्राप्त नहीं कर पाते थे लेकिन अब हम इस मामले में काफ़ी सुधार कर रहे हैं। मैं मेरी टीम के प्रदर्शन से संतुष्ट हूं। साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ मैच को छोड़ दिया जाए तो हमने अब तक अच्छा क्रिकेट खेला है। टी20 में ऐसा होते रहता है, हम अब अपने आगामी मैचों में अच्छा खेलना चाहते हैं।"
इसके साथ ही शाकिब ने यह उम्मीद भी जताई कि इस मैदान पर 2015 विश्व कप की उनकी याद बांग्लादेश टीम को ज़रूर प्रेरित करेगी। बांग्लादेश ने इंग्लैंड को 15 रनों से मात देकर पहली बार विश्व कप के नॉकआउट में प्रवेश किया था।

मोहम्मद इसाम (@isam84) ESPNcricinfo के बांग्लादेशी संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।