भारत 153 पर 2 (रोहित 60, राहुल 39, सूर्यकुमार 38*) ने ऑस्‍ट्रेलिया 152 पर 5 (स्मिथ 57, मैक्सवेल 37, स्टॉयनिस 41*, अश्विन 2-8) को आठ विकेट से हराया

ऑस्‍ट्रेलियाई टीम पर जीत दर्ज करने से ज़्यादा बुधवार को अपने दूसरे अभ्यास मैच में भारतीय टीम की निगाहें टी20 विश्व कप से पहले अपनी तैयारियों को पुख़्ता करने की ओर थी। निगाहें थी छठे गेंदबाज़ी विकल्प ढूंढने की, निगाहें थी ख़राब फ़ॉर्म से जूझ रहे बल्लेबाज़ों को लय दिलाने की। पहले अभ्यास मैच की तरह इस बार भी मैच का नतीजा भारतीय टीम के पक्ष में गया जहां पर उन्होंने 13 गेंद शेष रहते हुए यह मुक़ाबला आठ विकेट से जीत लिया।

अश्विन के विकेट, भुवनेश्वर की वापसी

टॉस जीतकर ऑस्‍ट्रेलिया की टीम जब बल्लेबाज़ी करने उतरी, तो उनके सामने डेविड वॉर्नर की ख़राब फॉर्म और कप्तान ऐरन फ‍़िंच की लंबे समय से क्रिकेट से दूरी चिंता का विषय थी। कप्तानी रोहित शर्मा संभाल रहे थे, क्योंकि विराट कोहली को बल्लेबाज़ी से आराम दिया गया था। अश्विन ने पारी के दूसरे ओवर में ही वॉर्नर की रन बनाने की उत्सुकता का फ़ायदा उठा लिया। वह विकेट पर अंदर आती गेंद पर रिवर्स स्वीप करने गए लेकिन गच्चा खा गए और एलीडब्ल्यू हो गए। अगली ही गेंद पर उन्होंने एक साधारण सी ऑफ़ स्पिन पर लय में चल रहे मिचेल मार्श को भी पवेलियन की राह दिखा दी। अश्विन ने दो ओवर में आठ रन देकर दो विकेट लिए और प्लेयिंग इलेवन में अपनी दावेदारी दिखाई। दूसरी ओर, पिछले मैच में भुवनेश्वर लय से जूझते दिखे, लेकिन इस बार उन्होंने किफ़ायती गेंदबाज़ी की। आख़िरी के ओवरों में उन्होंने ख़तरनाक दिख रहे स्टीव स्मिथ को आउट किया और अपने चार ओवरों में 27 रन देकर एक विकेट लिया।

छठा गेंदबाज़ी विकल्प

रवींद्र जाडेजा ने जैसे ही कप्तान फ‍़िंच का विकेट लिया, ऑस्‍ट्रेलियाई टीम मुश्किलों में आ चुकी थी। स्मिथ और शानदार फ़ॉर्म में चल रहे ग्लेन मैक्सवेल क्रीज़ पर मौजूद थे। ऐसे में अब समय था छठे गेंदबाज़ी विकल्प के इस्तेमाल करने का। विराट कोहली ने गेंद हाथों में संभाली और दो ओवर में 12 रन दिए। इस बीच शार्दुल ठाकुर की फ़ॉर्म ने ज़रूर चिंता बढ़ा दी। इस बीच मैक्सवेल हमेशा की तरह खाली स्थान ढूंढकर वहां पर बल्ले से निशाने लगाते नज़र आए। रिवर्स स्वीप और स्विच हिट में माहिर मैक्सवेल ने जाडेजा के ओवर में तीन चौके निकालकर दिखाया कि वह इस विश्व कप में अपनी टीम के लिए क्या कर सकते हैं। मैक्सवेल तो आउट हो गए, लेकिन गेंद के बराबर रन बना रहे स्मिथ को टिकने का मौक़ा मिल गया, जहां पर उन्होंने मैक्सवेल के आउट होते ही गियर बदल लिया। उन्होंने ठाकुर को निशाना बनाया। दूसरी ओर मार्कस स्टॉयनिस ने भी उनका अच्छा साथ दिया। यही वजह रही कि यह टीम 150 रनों के पार पहुंच गई।

रोहित का अर्धशतक, बल्लेबाज़ी नंबर वन

153 रनों के लक्ष्य का पीछा करने में भारतीय टीम को किसी तरह की समस्या नहीं आई। केएल राहुल ने वहीं से शुरू किया जहां पर वह छोड़कर गए थे। दूसरी ओर रोहित जब मौक़ा मिलता वह गेंद को सीमा रेखा तक पहुंचा रहे थे। राहुल के एगर पर लांग ऑन की दिशा में दो लंबे छक्के उनकी फ़ॉर्म का हवाला दे रहे थे, लेकिन इस बार गेंद राहुल के बल्ले का बार बार अंदरूनी किनारा ले रही थी। एगर की गेंद को साइट स्क्रीन की ओर उठाकर मारने के चक्कर में उन्होंने क़दम आगे निकाले लेकिन ताक़त निकालने के चक्कर में उनका दायं हाथ छूट गया और गेंद हवा में तो गई लेकिन दूरी तय नहीं कर सकी। नतीजा रहा कि वह लॉन्ग ऑफ़ पर पकड़े गए। रोहित ने लेकिन पीछे मुड़कर नहीं देखा उन्होंने पांच चौके और तीन छक्के की मदद से 41 गेंद में 60 रन बनाए और दूसरे बल्लेबाज़ों को मौक़ा देने की वजह से वह रिटायर आउट हो गए। इसके बाद सूर्यकमार यादव ने अपनी शानदार बल्लेबाज़ी से एक बार दोबारा दिल जीता। मिचेल स्टार्क पर डीप स्केयर लेग पर लगाया गया उनका ख़ूबसूरत छक्का उनके दमदख को दिखा गया था। सूर्य 37 गेंद में 38 रन बनाकर नाबाद लौटे। दूसरी ओर हार्दिक पंड्या को भी हाथ खोलने का मौक़ा मिल गया। ऑस्‍ट्रेलिया अपना पहला मैच 23 अक्‍तूबर को साउथ अफ्रीका और भारत अपना पहला मैच 24 अक्‍तूबर को पाकिस्‍तान के विरूद्ध खेलेगाा।