पाकिस्तान 302/9 पारी घोषित (आलम 124, आज़म 75, रोच 3-68) और 176/6 पारी घोषित (बट 37, आज़म 33) ने वेस्टइंडीज़ को 150 (बॉनर 37, अफ़रीदी 6-51) और 219 (होल्डर 47, अफ़रीदी 4-43, नौमान 3-52) को 109 रनों से हराया।

2005, 2011 और 2021। लगातार दो मैचों की तीन श्रृंखलाओं में वेस्टइंडीज़ का अपने घर में हमेशा से विपक्षी टीमों पर हावी रही है। केवल पाकिस्तान ही एक ऐसी टीम है जिसने उन्हें सीरीज़ में वापस बराबरी पर लाकर खड़ा कर दिया है। बारिश, गीला आउटफ़ील्ड, ख़राब रोशनी सभी ने इस टेस्ट में बाबर आज़म के टीम की जीत को नकारने की साज़िश रची, लेकिन पाकिस्तान के सकारात्मक दृष्टिकोण और परिणाम की खोज में अथक प्रयास को कोई नहीं रोक पाया।

शाहीन अफ़रीदी इस मैच के नायक थे। उन्होंने इस मैच में 10 विकेट लेकर वेस्टइंडीज़ को वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया। वेस्टइंडीज़ को 2011 के बाद पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कोई भी टेस्ट सीरीज़ जीतने के लिए अभी और इंतज़ार करना पड़ेगा।

दिन की शुरुआत में पाकिस्तान को नौ विकेट और वेस्टइंडीज़ को 280 रन चाहिए थे। चौथे दिन के आख़िरी सत्र में पााकिस्तानी टीम कहीं ना कहीं वेस्टइंडीज़ के प्रतिरोध के सामने घबराई हुई नज़र आ रही थी। अंतिम दिन के पहले सेशन में भी कुछ ऐसा ही हाल रहा अल्ज़ारी जोसेफ़ और क्रेग ब्रैथवेट ने दिन के शुरुआती पलों में बढ़िया बल्लेबाज़ी कर रहे थे। दोनों बल्लेबाज़ों ने पांचवे दिन का पहला रन बाउंड्री लगा कर बनाया। नई गेंद की चमक खोने के बाद वेस्टइंडीज कहीं ना कहीं अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने का प्रयास करने लगा था।

लेकिन एक बार जब अफ़रीदी ने ज़ोसेफ को आउट किया तो पारी का रंग बदल गया। हसन अली का वेस्टइंडीज़ दौरा अभी तक कुछ ख़ास नहीं रहा था, लेकिन सीरीज़ को बराबर करने के लिए उन्हें सिर्फ़ एक गेंद की ज़रुरत पड़ी। एन्क्रुमाह बॉ बस एक गेंद को समझ नहीं पाए और ग़लत लाइन में खेल गए और इतना उनके आउट होने के लिए काफ़ी था। गेंद ठीक विकेटों के सामने पैड पर लगी थी। हसन अली ने तो अपील करने की भी ज़हमत नहीं उठाई और जश्न मनाने के लिए निकल पड़े।

ब्रैथवेट और जर्मेन ब्लैकवुड इस दौरे में वेस्टइंडीज के सबसे बढ़िया बल्लेबाज़ रहे हैं, और पांचवें दिन उन्होंने एक घंटे से ज्यादा बल्लेबाज़ी की।हालांकि यह साझेदारी एक ऐसे गेंदबाज़ ने तोड़ी जिनसे काफ़ी कम उम्मीदे की जा रही थी। पाकिस्तान के बाएं हाथ के स्पिनर नौमान अली ने गेंद को फ़्लाइट दिया ताकि बल्लेबाज़ आगे आए और इस तरह से बाहरी किनारा लगा और कीपर ने कोई ग़लती नहीं की।मध्य सत्र शुरू होने पर ब्रैथवेट एक छोर पर जमे रहे, लेकिन कुछ ही ओवरों में एक ढीले शॉट ने पाकिस्तान को इस मैच में पूरी तरह से पकड़ बनाने का मौका दे दिया क्योंकि इसके बाद नीचले क्रम के बल्लेबाज़ आने वाले थे। ब्रेथवेट का एक कमज़ोर स्लैश सीधे प्वाइंट पर फ़वाद आलम के हाथों में गया। अब पाकिस्तान चाय से पहले मैच को ख़त्म करने का मौक़ा ढूंढ रहा था।

लेकिन काइल मेयर्स, जो अभी तक इस श्रृंखला में एक भी रन नहीं बना पाए थे, उन्होंने थोड़ा लय दिखाया और जेसन होल्डर के साथ एक बढ़िया साझेदारी की ओर बढ़ने लगे। इस साझेदारी के दौरान समय-समय पर रन भी आने लगे थे लेकिन रन बनाना वेस्टइंडीज़ के लिए अभी पहली प्राथमिकता नहीं थी। उन्हें मैच बचाना था। जैसे ही पाकिस्तानी गेंदाबाज़ों ने कुछ देर के लिए लचीलापन दिखाया, वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ खेल को गहराई तक ले जाने का प्रयास कर रहे थे जो पाकिस्तानी टीम के लिए चिंता का एक सबब बन रही थी। स्लिप पर खड़े आबिद अली ने मेयर्स का कैच टपका दिया। उन्होंने पांचवे दिन 2 कैच स्लिप पर छोड़ा था। हालांकि बाद में मेयर्स रिज़वान को एक आसान सा कैच थमा कर पवेलियन की ओर चल पड़े।

जब अफ़रीदी ने मेयर्स को आउट किया तो काले बादलों का आसमान पर पहरा था और ऐसा लग रहा था कि जब-तब बारिश आ जाएगी। अफ़रीदी के द्वारा लिए गए इस विकेट ने पाकिस्तान के लिए एक बार फिर से जीत की ओर मुखर होने की उम्मीदों को बढ़ा दिया।

इसके बाद एक बार फिर से बादलों ने अपना रंग दिखाया जिसके कारण समय से पहले टी लिया गया। पाकिस्तान की शानदार गेंदबाज़ी को जीत की दहलीज़ पर पहुंचने से बादल बार-बार उन्हें रोक दे रहे थे। हालांकि चाय के बाद जब एक बार फिर से खेल शुरू हुआ तो भी मैदान के ऊपर काले बादलों का साया था। इसके बाद होल्डर ने तेज़ और स्पिन गेंदबाज़ों पर प्रहार करना शुरू किया। हालांकि इस दौरान अफ़रीदी ने सीमा रेखा पर एक कैच भी छोड़ दिया।

बाबर लगातार धीमे गेंदबाज़ो से बोलिंग करा कर नई गेंद लेने के फ़िराक में थे। हालांकि नई गेंद मिलने से पहले 76वें ओवर में होल्डर आउट हो गए। वो नौमान अली के एक फ़्लाइटेड गेंद पर ड्राइव लगाना चाहते थे लेकिन वो फ़वाद के हाथों में कैच थमा बैठे। इसके बाद अफ़रीदी ने अंत के दो विकेट लेकर पाकिस्तान को मैच जीत हासिल करा दिया।

दानयाल रसूल ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।