मैच (18)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
ख़बरें

ऑस्ट्रेलिया के ट्रॉय कूली का एनसीए में तेज़ गेंदबाज़ी कोच नियुक्त होना तय

कानितकर, एसएस दास और कोटक बल्लेबाज़ी कोच होंगे, जबकि बोर्ड तेज़ गेंदबाज़ों के लिए विशेष अनुबंध शुरू करने पर विचार कर रहा है

इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया की टीम के साथ काम कर चुके हैं कूली  •  Cricket Australia/Getty Images

इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया की टीम के साथ काम कर चुके हैं कूली  •  Cricket Australia/Getty Images

बीसीसीआई, ऑस्ट्रेलिया के ट्रॉय कूली को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में तेज़ गेंदबाज़ी कोच के रूप में नियुक्त करने के लिए तैयार हैं। वहीं, भारत के पूर्व बल्लेबाज़ ऋषिकेश कानितकर, शिव सुंदर दास और सितांशु कोटक बल्लेबाज़ी कोच के रूप में शामिल होंगे। इसके अलावा, भारत और मुंबई के पूर्व लेग स्पिनर साइराज बहुतुले स्पिन गेंदबाज़ी कोच होंगे।
देश की अगली पीढ़ी के तेज़ गेंदबाज़ों को तैयार करने के उद्देश्य से कूली को अनुबंधित किया गया है। एक प्रतिष्ठित तेज़ गेंदबाज़ी कोच, कूली अपने ऐतिहासिक 2005 एशेज अभियान के दौरान इंग्लैंड के सेट-अप के साथ थे, जिसमें उनके तेज़ गेंदबाज़, घरेलू धरती पर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों के लिए एक बुरा सपना बन गए थे। ऐंड्रयू फ्लिंटॉफ़, मैथ्यू हॉगर्ड, साइमन जोन्स और स्टीव हार्मिसन की सफलता का श्रेय कूली को दिया गया। इसके बाद कूली को अगले वर्ष क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अपने सेट अप में शामिल ​किया और उन्होंने 2010-11 सीज़न तक राष्ट्रीय टीम के साथ काम किया जिसके बाद वह ब्रिसबेन में बोर्ड के सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस में शामिल हुए।
बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "मैं कहूंगा कि सौरव गांगुली, बीसीसीआई अध्यक्ष और जय शाह, सचिव दोनों के लिए सबसे बड़ी सफलता ट्रॉय कूली को राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में भारत के अगले तेज़ गेंदबाज़ों के साथ काम करने के लिए मनाना है।" अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर पीटीआई को बताया। "हम सुन रहे हैं कि बीसीसीआई कूली को तीन साल का अनुबंध दे रहा है और वह एनसीए क्रिकेट के प्रमुख वीवीएस लक्ष्मण के साथ मिलकर काम करेंगे।"
तेज़ गेंदबाज़ों के साथ करार करेगा बीसीसीआई बीसीसीआई इस पर योजना बना रहा है कि तेज़ गेंदबाज़ों की अगली फ़सल कैसे तैयार की जाए और जो फ़ैसला लिया जाना है, वह 'एक्सक्लूसिव यंग पेसर कॉन्ट्रैक्ट' है। माना जा रहा है कि गांगुली, शाह, मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और एनसीए के नए प्रमुख वीवीएस लक्ष्मण एक ऐसा अनुबंध तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं जो केंद्रीय अनुबंध से अलग हो।
पता चला है कि कूली और लक्ष्मण 10 युवा तेज़ गेंदबाज़ों को चुनेंगे जो वर्तमान में राष्ट्रीय स्तर पर नहीं हैं या जिनके पास केंद्रीय अनुबंध नहीं है। इन युवा तेज़ गेंदबाज़ों को जूनियर और प्रथम श्रेणी के सेट-अप में से चुना जाएगा और उन्हें 'बीसीसीआई के तेज़ गेंदबाज़ों' का अनुबंध दिया जाएगा। द्रविड़ और लक्ष्मण द्वारा उनका मूल्यांकन किया जाएगा, यह देखने के लिए कि क्या उन्हें पाथवे टीम (इंडिया ए) और फ़िर सीनियर टीम में शामिल किया जा सकता है।
कानितकर और दास बल्लेबाज़ी कोच
कानितक और दास, कोटक के साथ बल्लेबाज़ी कोच के रूप में अपनी परिचित भूमिका में एनसीए में वापस आ गए हैं, जो भारत ए टीम के साथ साउथ अफ़्रीका की यात्रा करने के लिए तैयार हैं।
एनसीए में तीन फ़ील्डिंग कोच सुभदीप घोष, टी दिलीप और मुनीश बाली होंगे। दिलीप फ़िलहाल न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ सीरीज़ के लिए भारत की सीनियर टीम के साथ काम कर रहे हैं जबकि घोष ए टीम के साथ साउथ अफ़्रीका जाएंगे। बाली के भारत की अंडर-19 टीम के साथ काम करने की उम्मीद है। घोष और दास दोनों सितंबर-अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया के बहु-प्रारूप दौरे के लिए भारत महिला सहयोगी स्टाफ का हिस्सा थे।