मैच (15)
ENG v PAK (1)
ENG v PAK (W) (1)
T20WC Warm-up (6)
Vitality Blast (5)
CE Cup (2)
ख़बरें

शुभमन या ईश्वरन, सौरभ या कुलदीप? किसे मिलेगा भारतीय एकादश में मौक़ा?

क्या तीन स्पिनर्स या फिर तीन तेज़ गेंदबाज़ों के साथ उतरेगी टीम इंडिया?

अपने आख़िरी टेस्ट मैच के पांच महीने बाद भारतीय टीम बांग्लादेश से मुक़ाबला करने के लिए चटगांव के मैदान पर उतरेगी। यह पिछले सात सालों में भारत का बांग्लादेश में पहला टेस्ट मैच होगा। आइए देखते हैं भारत के सामने क्या होंगी चुनौतियां?
राहुल के साथ कौन ओपन करेगा?
चोट के कारण भारतीय टीम के नियमित कप्तान रोहित शर्मा पहले टेस्ट से बाहर हो गए हैं और केएल राहुल उनकी जगह पर कमान संभालेंगे। लेकिन उनका साथ शुभमन गिल देंगे या अभिमन्यू ईश्वरन, यह तय नहीं हुआ है।
शुभमन का 11 टेस्ट मैचों की 14 पारियों में 30.47 का औसत है। टेस्ट खेलने के अनुभव के कारण उन्हें ईश्वरन की जगह प्राथमिकता दी जा सकती है। हालांकि बांग्लादेश के ख़िलाफ़ सीरीज़ में इंडिया ए के लिए दो शतक लगाकर ईश्वरन ने सबको प्रभावित किया है। 78 प्रथम श्रेणी मैचों में 45.33 का औसत उनकी दावेदारी को बख़ूबी पेश करता है।
मध्य क्रम में कोई जगह नहीं है!
भारत का मध्य क्रम सेट है। चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत नंबर तीन से नंबर छह पर बल्लेबाज़ी के लिए आएंगे। इसमें कुछ अधिक फेरबदल की संभावना नहीं है।
क्या होगा स्पिन काम्बिनेशन?
आर अश्विन के अलावा अक्षर पटेल, कुलदीप यादव और सौरभ कुमार के रूप में भारत के पास स्पिन गेंदबाज़ी के तीन विकल्प हैं। जहां अश्विन की जगह निश्चित है, वहीं अक्षर दूसरे स्पिनर के रूप में प्रबल दावेदार हैं। छह टेस्ट मैचों में 12.43 की बेहतरीन औसत से उनके नाम 39 विकेट हैं। अक्षर, कुलदीप या सौरभ से बेहतर बल्लेबाज़ी विकल्प भी हैं। अगर भारत तीन स्पिनरों के साथ उतरता है तो बाएं हाथ के कलाई के स्पिन विकल्प के कारण कुलदीप को सौरभ से ऊपर प्राथमिकता दी जा सकती है। सौरभ बाएं हाथ के फ़िंगर स्पिनर हैं, जो अक्षर भी करते हैं।
तेज़ गेंदबाज़ी कौन करेगा?
मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह की अनुपस्थिति में भारत के पास यहां उमेश यादव, शार्दुल ठाकुर, मोहम्मद सिराज, नवदीप सैनी और जयदेव उनादकट का विकल्प है। अनुभव और फ़ॉर्म के आधार पर उमेश और सिराज भारत के पहले दो विकल्प होंगे, वहीं शार्दुल को बल्लेबाज़ी क्षमता के कारण तीसरा विकल्प बनाया जा सकता है।
उनादकट 12 साल बाद टेस्ट टीम में वापस आ रहे हैं और उनके पास बाएं हाथ का विशेष कोण भी है। लेकिन बहुत कम संभावना है कि उन्हें या फिर सैनी को पहले टेस्ट में कोई मौक़ा मिले।

हिमांशु अग्रवाल ESPNcricinfo में सब ए़डिटर हैं