मैच (7)
T20 वर्ल्ड कप (2)
IND v SA [W] (1)
CE Cup (4)
ख़बरें

आईसीसी ने हरमनप्रीत कौर को दो मैच के लिए निलंबित किया

वह पहली ऐसी महिला खिलाड़ी हैं, जिन्हें यह सज़ा मिल रही है

Harmanpreet Kaur's bat got stuck in the pitch, leading to her run out, Australia vs India, Women's T20 World Cup, semi-final, Cape Town, February 23, 2023

हरमनप्रीत ने मैच रेफ़री के द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को स्वाकर कर लिया है, जिसके कारण सुनवाई की आवश्यकता नहीं पड़ी  •  ICC/Getty Images

हरमनप्रीत कौर एशियन गेम्स के पहले दो मैचों में नहीं खेल पाएंगी, क्योंकि बांग्लादेश सीरीज़ के अंतिम वनडे के दौरान आईसीसी के आचार संहिता का उल्लंघन करने के लिए उन्हें दो मैचों के लिए निलंबित कर दिया गया है। मंगलवार को एक मीडिया विज्ञप्ति में आईसीसी ने पुष्टि की है कि हरमनप्रीत कौर को "अंपायर के फै़सले पर असहमति दिखाने" से संबंधित कोड का उल्लंघन करने के लिए तीन डिमेरिट अंक मिले हैं। हरमनप्रीत पहली ऐसी खिलाड़ी हैं, जिनको आईसीसी के लेवल 2 के नियमों का उल्लंघन करने के लिए दोषी पाया गया है। इसके अलावा हरमनप्रीत पर 50 फ़ीसदी मैच फ़ीस का जुर्माना भी लगाया गया है।
इसके साथ ही हरमनप्रीत पर मैच के अधिकारियों की "सार्वजनिक रूप" से आलोचना करने के लिए 25 फ़ीसदी मैच का भी जुर्माना लगाया गया है।
बांग्लादेश और भारत के बीच खेले गए तीसरे वनडे के दौरान अंपायर ने हरमनप्रीत पर स्लिप पर लिए गए कैच के लिए आउट क़रार दिया गया था। इस फ़ैसले से नाख़ुश हरमनप्रीत ने अपने बल्ले से विकेट पर प्रहार किया था। साथ ही पवेलियन की तरफ़ जाते हुए उन्होंने अंपायर को कुछ कहा और फिर दर्शकों के तरफ़ भी कुछ इशारा किया था। इसके अलावा मैच के बाद हरमनप्रीत ने अंपायरों की काफ़ी आलोचना की थी।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला था कि मैच रेफ़री ने हरमनप्रीत को विकेट पर बल्ला चलाने के लिए तीन डिमेरिट अंक और सार्वजनिक रूप से मैच अधिकारियों की आलोचना करने के लिए एक डिमेरिट अंक की सिफ़ारिश की है।
आईसीसी ने अपने प्रेस विज्ञप्ति में यह भी लिखा है कि भारतीय कप्तान ने मैच रेफ़री अख्तर अहमद के द्वारा लगाए गए इन सारे आरोपों को स्वीकार कर लिया है। परिणामस्वरूप इन आरोपों के लिए औपचारिक सुनवाई की कोई आवश्यकता नहीं पड़ी।
आईसीसी के नियमों के अनुसार, जब कोई खिलाड़ी 24 महीने की अवधि के भीतर चार या उससे अधिक डिमेरिट अंक हासिल करता है, तो उन अंकों को निलंबन अंक में बदल दिया जाता है और खिलाड़ी पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है। एक टेस्ट या दो वनडे या दो टी20आई में प्रतिबंध लगाने के लिए दो निलंबन अंक की आवश्यकता होती है। ऐसी परिस्थिति में खिलाड़ी जिस भी फ़ॉर्मैट में अपना अगला मैच खेलेगा, उसे उस मैच से बैन कर दिया जाएगा।