मैच (18)
सीपीएल (3)
इंग्लैंड बनाम भारत (महिला) (1)
दलीप ट्रॉफ़ी (1)
Marsh Cup (1)
इंडिया ए बनाम न्यूज़ीलैंड ए (1)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
महिला विश्व कप क्वालिफ़ायर (4)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
Bangladesh in United Arab Emirates (1)
रोड सेफ़्टी (2)
लेजेंड्स लीग (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : स्पिनरों के ख़िलाफ़ खामोश है श्रेयस का बल्ला

राजस्थान बनाम कोलकाता मैच से जुड़े कुछ रोचक आंकड़े

Shreyas Iyer goes big, Delhi Capitals vs Kolkata Knight Riders, IPL 2022, Wankhede Stadium, Mumbai, April 28, 2022

अय्यर इस सीज़न पांच बार स्पिनरों पर आउट हुए हैं  •  BCCI

राजस्थान रॉयल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच होने वाले मुक़ाबले में आंकड़ों पर नज़र डालें तो कहानी साफ़ होती दिखती है। कोलकाता की टीम इस सीज़न बहुत संघर्ष कर रही है, लेकिन अब राजस्थान के स्पिनर उनकी असल परीक्षा लेने के लिए तैयार हैं।
ओपनर बढ़ा रहे कोलकाता का सिरदर्द
कोलकाता के इस सीज़न संघर्ष करने का सबसे बड़ा कारण उनके ओपनरों का रन नहीं बनाना भी है। ऐसा इसलिए क्योंकि नौ मैचों में कोलकाता के ओपनर केवल एक बार पहले विकेट के लिए 25 रन तक पहुंच पाए हैं। साथ ही केवल एक ही बार उन्होंने पावरप्ले में विकेट नहीं गंवाया है। कोलकाता के ओपनरों का औसत प्रति पारी 14.2 रन है। इस सीज़न यह सिर्फ़ चेन्नई सुपर किंग्स 12.6 से ही बेहतर है। कोलकाता ने इस दौरान लगातार ओपनरों को बदला। जितने ओपनर कोलकाता ने बदले हैं, उतने इस सीज़न किसी ने भी नहीं बदले हैं। कोलकाता ने पांच ओपनिंग जोड़ी को आज़माया है लेकिन कोई भी सफल नहीं हो सका।
श्रेयस को कलाई के स्पिनरों से बचना होगा
श्रेयस अय्यर इस सीज़न अच्छी शुरुआत नहीं कर पाए थे। उन्होंने पहली चार पारियों में केवल 69 रन बनाए थे लेकिन अगली पांच पारियों में उनके नाम 44 के औसत से 200 से ज़्यादा रन हैं।श्रेयस हमेशा से स्पिन के अच्छे खिलाड़ी रहे हैं, लेकिन तेज़ गेंदबाज़ों के सामने वह संघर्ष करते हैं। हालांकि चीज़ें घूम गई हैं। इस सीज़न उन्होंने तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ करीब 60 के औसत और 145 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं, लेकिन स्पिनरों के ख़िलाफ़ वह जूझते नज़र आए हैं। वह इस सीज़न पांच बार स्पिनरों पर आउट हुए हैं।
इस सीज़न कम से कम 100 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों में किसी का भी औसत स्पिन के ख़िलाफ़ श्रेयस के 22.4 से नीचे नहीं है और कोई भी इतनी बार स्पिनरों पर आउट नहीं हुआ है।पिछले सीज़न वह प्रत्येक 24.3 गेंद में स्पिनरों को अपना विकेट गंवाते थे लेकिन इस बार यह 17.6 तक पहुंच गया है। ख़ास बात यह है कि यह सभी विकेट उन्होंने कलाई के स्पिनरों को दिए हैं, जबकि उनके ख़िलाफ़ श्रेयस का स्ट्राइक रेट भी मात्र 93 का रहा है।
डेथ में हेटमायर का जोड़ नहीं
इस साल आईपीएल में शिमरॉन हेटमायर ने फ‍़िनिशर के तौर पर नाम कमाया है। डेथ ओवरों में उनका औसत 50 से ज़्यादा और स्ट्राइक रेट 200 के करीब है। उनका योगदान राजस्थान के लिए अहम साबित हुआ है। जब बात फ‍़िनिश करने की आए तो उन्होंने छह बार मज़बूती से ऐसा किया है, जिसमें एक कोलकाता के ख़िलाफ़ तेज़ नाबाद 26 रन की पारी शामिल है।किसी भी बल्लेबाज़ ने इस आईपीएल में डेथ ओवरों में हेटमायर से ज़्यादा रन और छक्के नहीं लगाए हैं।
16 से 20 ओवरों के बीच उन्होंने 57.7 के औसत से 173 रन बनाए हैं, जबकि सबसे ज़्यादा 15 छक्के भी उनके नाम हैं।राजस्थान के स्पिनर कर रहे कमालराजस्थान के स्पिनर इस आईपीएल में सबसे अच्छा कर रहे हैं। उनके नाम सबसे ज़्यादा 28 विकेट हैं। 7.6 की तीसरी सर्वश्रेष्ठ इकॉनमी भी उनके नाम है। वहीं 20.6 का बेहतरीन औसत और 16.3 का स्ट्राइक रेट भी उन्हीं के पास है। युज़वेंद्र चहल ने जहां नौ मैचों में राजस्थान के लिए 13.7 के औसत से सबसे अधिक 19 विकेट लिए हैं, तो अश्विन ने भी नौ मैच में 31.4 के औसत से आठ विकेट लिए हैं।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं।