मैच (23)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
RHF Trophy (4)
ख़बरें

धोनी : मध्‍य ओवरों में ठीक से ज़‍िम्‍मेदारी उठाएं बल्‍लेबाज़

राजस्‍थान के ख़‍िलाफ़ अच्‍छी शुरुआत के बाद स्पिन में फ़ंंसे बल्‍लेबाज़, धोनी और जाडेजा का काम बढ़ा

एमएस धोनी अपने मध्‍य क्रम के बल्‍लेबाज़ों से निराश  •  Associated Press

एमएस धोनी अपने मध्‍य क्रम के बल्‍लेबाज़ों से निराश  •  Associated Press

राजस्‍थान रॉयल्‍स के ख़‍िलाफ़ बुधवार की रात को मध्‍य ओवरों में गड़बड़ाने के बाद एमएस धोनी ने चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के बल्‍लेबाज़ों को ज़‍िम्‍मेदारी लेने को कहा है। 176 रनों के लक्ष्‍य का पीछा करते हुए सीएसके एक समय दस ओवरों में एक विकेट पर 78 रनों पर थी लेकिन इसके बाद टीम 15 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 113 रन रन के स्कोर पर ही पहुंच सकी।
धोनी और रवींद्र जाडेजा ने अंतिम ओवरों में लगभग टीम को जीत दिला दी थी और सीएसके बस एक हिट से जीत से चूक गई, वह भी तब जब अंतिम तीन ओवरों में टीम को 54 रन चाहिए थे। लेकिन सीएसके के कप्‍तान ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में आने की ज़रूरत ही नहीं थी।
धोनी ने मैच के बाद कहा, "मुझे लगता है कि हमने मध्‍य ओवरों में अधिक विकेट गंवा दिए, हमें लगातार स्‍ट्राइक बदलने की ज़रूरत थी। मुझे नहीं लगता कि स्पिनरों को बहुत मदद मिली। हां वे अनुभवी स्पिनर हैं तो उन्‍होंने अच्‍छी गेंदबाज़ी की। उन्‍होंने सही लेंथ पर गेंदबाज़ी की, लेकिन मुझे लगता है कि हमने बहुत अधिक डॉट गेंद खेली।"
"अगर यह धीमा विकेट है, यदि गेंद रूककर और टर्न होकर आ रही थी तो मैं समझ सकता हूं, लेकिन एक सेट बल्‍लेबाज़ और एक नए बल्‍लेबाज़ के साथ मैं नहीं समझता कि यह मुश्किल था। तो मुझे लगता है कि बल्‍लेबाज़ों को ज़‍िम्‍मेदारी निभाने की ज़रूरत है।"
सीएसके को आख़‍िरी ओवर की शुरुआत में 21 रन की ज़रूरत थी और गेंदबाज़ी की ज़‍िम्‍मेदारी संदीप शर्मा पर थी। उन्‍होंने धोनी को दो वाइड गेंद से शुरुआत की और धोनी ने दूसरी और तीसरी गेंद पर लेग साइड पर दो छक्‍के लगा दिए। हालांकि इसके बाद संदीप ने वापसी की और धोनी को आख़‍िरी गेंद पर एक सटीक यॉर्कर डाली और एक ही रन आ पाया।
धोनी ने आख़‍िरी तीन में से दो गेंद खेली और दो ही सिंगल निकाल पाए, इसके बीच में संदीप ने एक गेंद जाडेजा को कि जो बायें हाथ के बल्‍लेबाज़ के लिए मारने से बहुत दूर थी और वहां पर भी सिंगल आ पाया।
संदीप ने मैच के बाद स्‍टार स्‍पोर्ट्स से बातचीत में अपनी रणनीति के बारे में बताया।
संदीप ने कहा, "आख़‍िरी ओवर में मैं यॉर्कर पर काम करना चाहता था। मैंने नेट्स पर अच्‍छी यॉर्कर की हैं। एक ओर का मैदान बड़ा था तो मैंने सोचा कि मुझे इसका इस्‍तेमाल करना होगा और बल्‍लेबाज़ की एड़ी पर गेंद करनी होगी लेकिन वे लोअर फुल टॉस में बदली और छक्‍के के लिए गई। तब मैंने अपना प्‍लान बदला और राउंड द विकेट गया और यह प्‍लान काम कर गया।"
"मैंने जाडेजा भाई को ओवर द विकेट से गेंदबाज़ी की और मेरा प्‍लान उनसे गेंद को दूर रखना था, क्‍योंकि उन्‍होंने जेसन होल्‍डर पर कुछ बेहतरीन शॉट लगाए थे। तो मेरा प्‍लान था कि गेंद को उनसे दूर रखा जाए। माही भाई के लिए मेरा प्‍लान था कि एंगल को बदला जाए लेकिन मुझे दो छक्‍के लग गए, जब मैं ओवर द विकेट से एड़ी पर गेंद कर रहा था। तो मैं राउंड द विकेट गया और उनसे गेंद को दूर रखा और यह क़ामयाब रहा।"

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।