मैच (28)
आईएलटी20 (2)
भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (17)
साउथ अफ़्रीका बनाम इंग्लैंड (1)
बीबीएल (1)
महिला अंडर-19 विश्व कप (2)
सुपर स्मैश (1)
बीपीएल 2023 (2)
ख़बरें

पेस सनसनी लांस मॉरिस ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम में शामिल

कप्तान पैट कमिंस के वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध दूसरे टेस्ट में खेलने पर संदेह

24 वर्षीय मॉरिस ने शेफ़ील्ड शील्ड के दौरान शानदार प्रदर्शन किया था।  •  Getty Images

24 वर्षीय मॉरिस ने शेफ़ील्ड शील्ड के दौरान शानदार प्रदर्शन किया था।  •  Getty Images

वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के लांस मॉरिस और क्वींसलैंड के माइकल नेसर को वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल किया गया है। मॉरिस को मौजूदा समय में ऑस्ट्रेलिया का सबसे तेज़ गेंदबाज़ माना जा रहा है।
24 वर्षीय मॉरिस ने शेफ़ील्ड शील्ड के दौरान शानदार प्रदर्शन किया था। वहां उन्होंने 18.40 की औसत से सबसे ज़्यादा 27 विकेट लिए थे। मॉरिस हालिया समय में एक पेस सनसनी के रूप में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट में उभरे हैं। कई बार उनकी तुलना शॉट टेट से की जाती है।
मॉरिस ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो से कहा, "मैं एक आक्रामक गेंदबाज़ हूं। मैं शुरुआती समय में ही आसानी से ही 150 किमी/घंटा की गति से गेंदबाज़ी कर सकता हूं। मैं फ़िलहाल अपनी शारीरिक क्षमता को बढ़ाने का प्रयास कर रहा हूं। कहा जाता है कि 26 वर्ष के आसपास आप मूल रूप से एक गेंदबाज़ के रूप में परिपक्व हो जाते हैं। मेरे पास अपनी गति को बढ़ाने के लिए अभी भी काफ़ी समय है।"
कप्तान पैट कमिंस पहले टेस्ट के दौरान दूसरी पारी में चोट के कारण गेंदबाज़ी नहीं कर पाए थे। ऐसे में दूसरे टेस्ट में उनके टीम में शामिल होने पर संदेह है। इसी कारण से ऑस्ट्रेलियाई टीम में दो खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। हालांकि कमिंस को भरोसा है कि वह इस डे-नाइट टेस्ट के लिए फ़िट हो जाएंगे लेकिन व्यस्त कार्यक्रम के कारण चयनकर्ता जोखिम नहीं लेना चाहते हैं।
मॉरिस को एकादश में जगह मिलेगी या नहीं, यह देखने वाली बात होगी। ऑस्ट्रेलियाई टीम में पहले से ही स्कॉट बोलंड मौजूद हैं, जिनकी गेंदबाज़ी में औसत 9.55 की है। ऐशेज़ सीरीज़ में शानदार प्रदर्शन करने के बावजूद अभी तक उन्हें खेलेने का मौक़ा नहीं मिला है।
हालांकि मॉरिस ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ी आक्रमण में एक अंतर ला सकते हैं और चयनकर्ता इस पर विचार करेंगे कि मॉरिस उच्च स्तर पर कैसा प्रदर्शन कर सकते हैं। मॉरिस ने इससे पहले पर्थ में एक टी20 विश्व कप मैच के दौरान भारतीय बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ नेट्स में गेंदबाज़ी की थी। उन्होंने कहा, "जितना अधिक मैं गेंदबाज़ी करता हूं, उतना ही मुझे लगता है कि मैं तेज़ गेंदबाज़ी को बेहतर तरीक़े से समझ रहा हूं। उम्मीद है कि मैं आगे भी बेहतर होता रहूंगा और तेज़ गति से गेंदबाज़ी करता रहूंगा।"