मैच (14)
सीपीएल (3)
यूएई बनाम बांग्लादेश (1)
रोड सेफ़्टी (3)
लेजेंड्स लीग (1)
इंडिया ए बनाम न्यूज़ीलैंड ए (1)
काउंटी डिवीज़न एक (1)
काउंटी डिवीज़न 2 (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
प्रीव्यू

नीदरलैंड्स के ख़‍िलाफ़ पाकिस्‍तान की नज़र एक बड़ी जीत पर

टी20 एशिया कप में दो हफ़्ते से भी कम समय बचा है, ऐसे में इस सीरीज़ के कुछ ख़ास मायने नहीं

Babar Azam savours his hundred, Pakistan vs West Indies, 1st ODI, Multan, June 8, 2022

एशिया कप से पहले एक बडे़ इम्तिहान के लिए तैयार है पाकिस्‍तानी टीम  •  AFP/Getty Images

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के लिए नीदरलैंड्स के दूसरे सबसे बड़े शहर रॉटरडैम में मौजूद होने के लिए यह समय बड़ा अजीब है। टी20 एशिया कप शुरू होने में लगभग दो हफ़्ते से भी कम का वक़्त बचा है लेकिन पाकिस्तान यहां वनडे क्रिकेट खेलने आया है। यूएई में मिलने वाली गर्मी और शुष्क मौसम के विपरीत यहां उन्हें ठंड, हल्की फुल्की बारिश और तेज़ हवाओं का सामना करना होगा। शारजाह, दुबई और अबू धाबी से अलग कप्तान बाबर आज़म का भी मानना है कि नीदरलैंड्स की पिचें मिज़ाज के तौर पर इंग्लैंड जैसी होंगी।
वैसे इस सीरीज़ का आयोजन अब होना भी कोरोना और उसके चलते दो साल तक क्रिकेट कार्यक्रम में उथल पुथल की ही देन है। कोई भी कारण हो, इस सीरीज़ का टी20 एशिया कप से पहले खेला जाना एक बार फिर वनडे क्रिकेट के प्रासंगिकता पर सवाल खड़ा कर देता है।
वैसे वनडे क्रिकेट का भविष्य कैसा भी हो, यह सीरीज़ ना सिर्फ़ नीदरलैंड्स के बोर्ड बल्कि उनके खिलाड़ियों के लिए भी एक विश्व स्तरीय इकाई को क़रीब से देखने का बेहतरीन मौक़ा प्रदान कर रहा है। तीन मैचों की सीरीज़ के लिए पाकिस्तान ने लगभग अपनी सबसे शक्तिशाली दल का चयन किया है, फिर चाहे शाहीन शाह अफ़रीदी को भले ही पहले दो मैचों में आराम देने की योजना बनाई गई हो।
दूसरी टीमों की तरह पाकिस्तान ने भी 2019 विश्व कप के बाद बहुत कम वनडे क्रिकेट खेला है। ऐसे में अगले साल भारत की मेज़बानी में होने वाले विश्व कप के लिए उनके फ़ॉर्म और तैयारी पर कोई भविष्यवाणी करना कठिन है। हालांकि कुछ रुझान देखते हुए लगता है कि एक मज़बूत टीम की नींव रखी जा रही है।
इस दौर की शुरुआत में यह टीम ज़िम्बाब्वे से घर पर एक वनडे मैच हारी थी, एक अनुभवहीन साउथ अफ़्रीका टीम को क़रीबी मुक़ाबलों में हराया और फिर बड़े नामों के बिना खेल रही तीसरे दर्जे की इंग्लैंड टीम से बुरी तरह हारे थे। तब से उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध सीरीज़ में वापसी करते हुए जीत हासिल की और फिर वेस्टइंडीज़ को क्लीन स्वीप का शिकार बनाया। नीदरलैंड्स जैसी टीम से 3-0 के अलावा कोई भी परिणाम आश्चर्य का हिस्‍सा होगा लेकिन इन तीन मैचों में वनडे टीम में कुछ चीज़ों को सही करने का बड़ा अवसर मिला है।
मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज़ों को कुछ रन बटोरने का मौक़ा मिल सकता है। 2019 विश्व कप के बाद पाकिस्तान के शीर्ष तीन बल्लेबाज़ों ने इस प्रारूप में टीम के दो तिहाई रन बनाए हैं। किसी और देश के लिए यह संख्या 55 प्रतिशत से अधिक नहीं है। इसका मुख्य कारण रहा है इमाम-उल-हक़ और बाबर का हालिया फ़ॉर्म, जिसके चलते कई मैचों में मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज़ों की जरूरत भी नहीं पड़ी है। ऐसे में पाकिस्तान पिछले 17 में से 11 वनडे जीता है।
हालांकि दिक़्क़त तब आई है जब शीर्ष के तीन बल्लेबाज़ों का योगदान उतना बड़ा नहीं रहा है। उन तीनों के अलावा इस चक्र में किसी के नाम एक भी वनडे शतक नहीं है। इस अवधि में शीर्ष चार बल्लेबाज़ों के बाहर केवल दो बार अर्धशतकीय पारियां खेली गई हैं और इनमें भी दो अर्धशतक हारिस सोहैल और वहाब रियाज़ ने बनाए हैं।
अफ़रीदी को आराम दिए जाने पर नई गेंद से बाक़ी विकल्पों के पास भी यह सीरीज़ एक अच्छा मौक़ा लाएगी। इस दौरान उनके अलावा पाकिस्तान ने दूसरे छोर पर सात खिलाड़ियों को नई गेंद से गेंदबाज़ी करने को कहा है, लेकिन अब तक किसी ने स्थायी रूप से इसे नहीं अपनाया है। बाबर पाकिस्तान टीम में तेज़ गेंदबाज़ी की गहराई की प्रशंसा जरूर करते हैं लेकिन हालिया प्रदर्सन बताता है कि इसमें सुधार की बड़ी संभावना है।
नीदरलैंड्स के लिए इन मुक़ाबलों का कार्यक्रम भी उन्हें एक मुश्किल समय पर मिला है। उनके चार प्रमुख खिलाड़ी द हंड्रेड में व्यस्त हैं। तीन और इंग्लैंड में रॉयल लंदन कप में टीमों का हिस्सा हैं। पूर्व कप्तान पीटर सीलार के संन्यास ले लेने के बाद टीम में और भी अनुभव की कमी आई है लेकिन उनकी जगह कप्तान नियुक्त किए गए सकॉट एडवर्ड्स भी ज़बरदस्त फ़ॉर्म में हैं। इंग्लैंड के विरुद्ध सीरीज़ में उन्होंने हर मैच में अर्धशतक जड़ते हुए 214 रन बनाए। वह शीर्ष चार के बाहर बल्लेबाज़ी करते हैं और ऐसे में उन्होंने पिछले तीन सालो में पाकिस्तान के लिए शीर्ष चार के बाहर बने सभी अर्धशतकों की लगभग बराबरी उसी सीरीज़ में कर ली।
उस सीरीज़ में इंग्लैंड से मिली हार के बाद नीदरलैंड्स ने ज़िम्बाब्वे में टी20 विश्व कप क्वालीफ़ायर में अच्छा खेल दिखाते हुए मेज़बान के साथ ऑस्ट्रेलिया में अपनी जगह सुनिश्चित की। नीदरलैंड्स की टीम आक्रामक क्रिकेट खेलने के लिए प्रसिद्ध है और टी20 विश्व कप में स्थान बनाने के दबाव से दूर पाकर और स्वतंत्रता से खेलने का माद्दा रखेगी।
इस सीरीज़ को शायद भुला दिए जाने में बहुत ज़्यादा समय नहीं लगेगा, लेकिन यूरोप में चल रही अभूतपूर्व गर्मी के बीच रॉटरडैम में मौसम ख़ुशनुमा होगा और सबसे बड़े शहर ऐम्स्टर्डैम के मुक़ाबले भीड़ भी कम होगी। ऐसे में भला इस शहर में मौजूद रहते हुए थोड़ा क्रिकेट खेलने और देखने में क्या हर्ज है?

दनयाल रसूल ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में स्‍थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।