मैच (5)
IPL (1)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

एसए20 में हो सकती है मैदानों में बिजली की दिक़्क़त

छह स्‍टेडियम चाहते हैं कि टूर्नामेंट के दौरान उनके पास स्‍वतंत्र पावर सप्‍लाई हो

सुपरस्‍पोर्ट पार्क में भी खेले जाएंगे एसए20 के मैच  •  BCCI

सुपरस्‍पोर्ट पार्क में भी खेले जाएंगे एसए20 के मैच  •  BCCI

साउथ अफ़्रीका के छह मैदान एसए20 के लिए चाहते हैं कि उन्‍हें टूर्नामेंट के दौरान लाइट जलाने के लिए स्‍वतंत्र पावर सप्‍लाई मिले।

साउथ अफ़्रीका ने 2022 में बेहद ख़राब लाइट कट झेला है, जहां पर 200 दिनों से अधिक लगातार पावर कट लगे हैं और इसके 2023 में और भी ख़राब होने की उम्‍मीद है।

अभी तक की स्थिति में देश रोटेशन पावर कट में स्‍टेज 2 (आठ में से) पर है, जहां पर प्रति दिन ढाई घंटे बिजली नहीं रहती है। यह दिसंबर 2022 में और भी ख़राब स्‍टेज 6 में पहुंच गया था जहां पर कुछ इलाक़ों में दिन में 11 घंटे से अधिक बिजली कटी रही।

वहीं क्रिकेट साउथ अफ़्रीका (सीएसए) पर कुछ घरेलू डे-नाइट मैचों को दिन के मैच में बदलने का दबाव डाला गया। एसए20 की सभी छह टीमों को आईपीएल फ़्रैंचाइज़ी ने ख़रीदा है और यह विश्‍व भर में टीवी पर स्थानीय समय के दोपहर 1:30 बजे और शाम 5:30 बजे प्रसारित होंगे जिन्‍हें बदला नहीं जा सकता है। किसी भी संभावित रुकावट से बचने के लिए एसए20 के लिए स्टेडियमों को फ़्लडलाइट्स, चेंजिंग रूम लाइट्स, बाथरूम में, स्टैंड्स में और ग्राउंड के चारों ओर लाइट चालू रखने के लिए जनरेटर किराए पर लेने की आवश्यकता होगी।

हर टीम को पांच होम गेम खेलने हैं और प्रति स्‍टेडियम पर जनरेटर का ख़र्चा करीब 96 लाख रूपये होगा, जो उनके मैच कराने की फ़ीस से भी अधिक है। प्रति स्‍टेडियम को मैच कराने के लिए 41 लाख रूपये और अन्‍य खर्चों के लिए 10 लाख रूपये दिए जाएंगे। अधिकांश मैदानों के लिए यह राशि बिजली सहित उनके खर्चों को कवर करती है।

पिछले साल नवंबर में सीएसए ने भारत से सीरीज़ की मेज़बानी करने के बावजूद 91 करोड़ रुपयों का नुक़सान झेला था। इस दौरे पर चार टी20 नहीं कराए गए थे, जिससे सीएसए को नुकसान पहुंचा। इस बार भी अधिक फ़ायदे की उम्‍मीद नहीं है, जहां इंग्‍लैंड के ख़‍िलाफ़ केवल वनडे, वेस्‍टइंडीज़ के ख़‍िलाफ़ पूरा दौरा और नीदरलैंड्स के ख़‍िलाफ़ वनडे होने हैं। साउथ अफ़्रीका और उनके तीनों घरेलू टूर्नामेंट को भी कोई प्रायोजक नहीं मिले हैं।

फ़‍िरदौस मूंडा ESPNcricinfo में साउथ अफ़्रीका की संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।