मैच (15)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

नो बॉल पर पाना होगा जाडेजा को नियंत्रण

जाडेजा ने दिसंबर 2020 से लेकर अब तक टेस्ट में 52 नो बॉल डाली हैं

इस श्रृंखला में जाडेजा अब तक 11 नो बॉल डाल चुके हैं  •  Getty Images

इस श्रृंखला में जाडेजा अब तक 11 नो बॉल डाल चुके हैं  •  Getty Images

रवींद्र जाडेजा ने दिसंबर 2020 से लेकर अब तक टेस्ट क्रिकेट में कुल 52 नो बॉल डाली हैं। हालांकि नो बॉल की संख्या में बढ़ोतरी का सिर्फ़ जाडेजा से लेना देना नहीं है।
ICC ने 2020 में फ़्रंटफ़ुट नो बॉल का पता लगाने की ज़िम्मेदारी थर्ड अंपायर को दे दी थी। इससे पहले थर्ड अंपायर सिर्फ़ किसी डिस्मिसल की अपील के दौरान ही नो बॉल चेक किया करते थे।
हालांकि जाडेजा इस बात के सबसे सटीक उदाहरण हैं कि आख़िर नो बॉल चेक करने के लिए थर्ड अंपायर की ज़रूरत क्यों है। ऑनफ़ील्ड अंपायर के लिए जाडेजा के पैर पर नज़र गड़ाए रखना चुनौती भरा काम होता है। क्योंकि गेंद डालते समय जाडेजा का अगला पैर पहले क्रीज़ के बाहर पड़ता है और फिर गेंद रिलीज़ करने से पहले वह अपना पैर क्रीज़ में ले आते हैं। इस दौरान उनका पैर फ़्लैट लैंड नहीं करता। ऐसे में अंपायर के लिए नो बॉल का आकलन करना बेहद चुनौतीपूर्ण हो जाता है क्योंकि उनके पास समय काफ़ी कम होता है।
जाडेजा द्वारा की जाने वाली अधिकतर नो बॉल के रिप्ले में पकड़े जाने के यह मायने हैं कि जाडेजा 2020 के पहले भी काफ़ी नो बॉल करते हुए आ रहे होंगे जो कि ऑनफ़ील्ड अंपायर की नज़रों से बच गई होंगी। हालांकि यह मामला सिर्फ़ जाडेजा के साथ नहीं रहा होगा।
थर्ड अंपायर द्वारा बॉल चेक करने का प्रावधान आने के बाद कगिसो रबाडा और बेन स्टोक्स ने टेस्ट क्रिकेट में संयुक्त रूप से सर्वाधिक 77 फ़ुट फ़ॉल्ट नो बॉल डाली हैं। यह जाडेजा द्वारा की गईं 57 नो बॉल से तो काफ़ी अधिक हैं लेकिन ख़ुद जाडेजा नो बॉल डालने वाले शीर्ष 14 गेंदबाज़ों में इकलौते स्पिनर हैं।
नो बॉल एक ऐसा पहलू है जिस पर जाडेजा को काम करने की ज़रूरत है। हालांकि उन्होंने अधिकतर करीबी नो बॉल डाली हैं, ऐसे में जाडेजा के लिए इसे ठीक करना मुश्किल भरा काम नहीं होना चाहिए। एक टेस्ट क्रिकेटर को नियमों में बदलाव के अनुरूप ख़ुद को ढालने में ज़्यादा देर नहीं करनी चाहिए।
मैदान पर साथी खिलाड़ियों के साथ हंसी ठिठोली करने वाले भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने ख़ुद इस टेस्ट सीरीज़ में बीच मैदान पर कहा था, "यार ये जाडेजा IPL में तो नो बॉल नहीं डालता। जड्डू सोच ये टी20 है।"
सीमित ओवरों में फ़्री हिट की आशंका को देखते हुए जाडेजा ने दिसंबर 2020 से टी20 में सिर्फ़ दो और वनडे में सिर्फ़ छह नो बॉल डाली हैं। उन्होंने अकेले इस सीरीज़ में अब तक 11 नो बॉल डाली हैं। हालांकि अब तक भाग्य का साथ रहा है कि एक भी बार नो बॉल ऐसी गेंद पर जाडेजा ने नहीं डाली है जिस पर उन्हें विकेट मिला है।

सिद्धार्थ मोंगा ESPNcricinfo के वरिष्ठ लेखक हैं