फ़ीचर्स

आंकड़े : भारत का दबदबा, ब्रेविस के​ रिकॉर्ड रन और क़ासिम का ख़ास रिकॉर्ड

वेस्टइंडीज़ में 2022 अंडर-19 विश्व कप के सभी प्रमुख आंकड़े

Who gets to sleep with the trophy? England vs India, Under-19 World Cup final North Sound, February 5, 2022

भारत ने रिकॉर्ड पांचवीं बार अंडर 19 विश्‍व कप खिताब जीता  •  ICC via Getty

भारत ने बढ़ाया अपना दबदबा
इंग्लैंड के ख़िलाफ़ चार विकेट की जीत के साथ भारत ने अपना पांचवां अंडर 19 विश्व कप ख़िताब जीता। इससे पहले, भारत ने 2000, 2008, 2012 और 2018 में ख़िताब जीता था। कुल मिलाकर भारत ने टूर्नामेंट के 14 संस्करणों में आठ बार फ़ाइनल में प्रवेश किया,​ जिसमें पिछले चार मौक़ों पर लगातार फ़ाइनल में प्रवेश शामिल रहा। पांच में से चार ख़िताब भारत ने टूर्नामेंट में अजेय रहते हुए जीते, जिसमें 2000, 2008, 2018 और अब 2022 शामिल रहा। भारतीय टीम के अलावा केवल तीन ही टीम पूरे प्रतियोगिता में अपराजेय रहत हुए अंडर 19 विश्व कप का ख़िलाब अपने नाम किया है। इससे पहले 2002 में ऑस्‍ट्रेलिया, 2014 में साउथ अफ़्रीका और 2020 में बांग्लादेश नेयह कारनामा किया था।
ब्रेविस के लंबे चौड़े आंकड़े
डेवाल्ड ब्रेविस इस टूर्नामेंट में रन मशीन साबित हुए हैं, उन्होंने छह मैचों में 506 रन बनाए हैं। यह अंडर 19 विश्व कप में एक खिलाड़ी द्वारा बनाए गए सबसे ज़्यादा रन हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड शिखर धवन के नाम था, जिन्होंने 2004 में 505 रन बनाए थे। ​ब्रेविस ने छह में से पांच पारियों में 50 या उससे अधिक का स्कोर किया, यह एक संस्करण में किसी बल्लेबाज़ द्वारा बनाया संयुक्त रिकॉर्ड है। ​ब्रेविस ने 18 छक्के भी लगाए, जो एक संस्करण में किसी बल्लेबाज़ द्वारा लगाए गए सबसे ज़्यादा छक्के हैं।
क़ासिम का अनोखा रिकॉर्ड
क़ासिम ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ पांचवें स्थान के मैच में एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम किया। उन्होंने नाबाद शतक लगाया और पांच विकेट लिए, वह यूथ वनडे में ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। पाकिस्तान के कप्तान ने 80 गेंद में नाबाद 135 रन बनाए और 63 गेंद में अपना शतक पूरा किया, यह अंडर 19 विश्व कप में सबसे तेज़ शतक रहा। क़ासिम ने ऑफ़ स्पिन के साथ शुरुआत की और दस ओवरों में 37 रन देकर पांच विकेट लिए। उनके शुरुआती झटकों से श्रीलंका ने 15 रन पर चार विकेट गंवा दिए थे और इसके बाद 127 पर ढेर होकर 238 रनों से मैच हार गए।
आगे आकर नेतृत्व किया
श्रीलंका के कप्तान दुनिथ वेल्लालगे ने अपने हरफ़नमौला कौशल से प्रभावित किया। उन्होंने सुपर लीग प्लेऑफ़ मैच में मैच जिताने वाला शतक लगाया और ऑस्‍ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 52 रन और 28 रन देकर पांच विकेट लिए। वेल्लालगे के 264 रन श्रीलंकाई बल्लेबाज़ द्वारा बनाए गए सबसे ज़्यादा और किसी खिलाड़ी का सातवां सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। वह इस टूर्नामेंट में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ भी रहे। उन्होंने छह मैचों में 17 विकेट लिए, जिसमें ग्रुप स्टज में पारी में पांच विकेट शामिल थे। इससे पहले, 1998 में थॉमस ओडोयो ही ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने अंडर 19 विश्व कप के एक संस्करण में 250 रन बनाए और 15 विकेट लिए।
फ़ाइनल में रिकॉर्ड स्पेल
राज बावा ने टूर्नामेंट की शुरुआत साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ चार विकेट के साथ की, लेकिन वह अगले चार मैचों में विकेट नहीं ले पाए। इस बीच उन्होंने इस संस्करण का सर्वश्रेष्ठ निजी स्कोर बनाया। उन्होंने यूगांडा के ख़िलाफ़ खेलते हुए नाबाद 162 रनों की पारी खेली थी। लेकिन फ़ाइनल में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ उन्होंने 31 रन देकर पांच विकेट लिए, यह अंडर 19 विश्व कप फ़ाइनल में किसी गेंदबाज़ के सर्वश्रेष्ठ आंकड़े हैं।
भारतीय गेंदबाज़ों का जल्द विकेट चटकाना
गेंदबाज़ों ने भारत की सफलता में अहम भूमिका निभाई क्योंकि कोई भी टीम उनके ख़िलाफ़ 200 रन के आंकड़े तक नहीं पहुंची। टूर्नामेंट में उनके ख़िलाफ़ किसी भी सलामी बल्लेबाज़ ने 30 से अधिक रन नहीं बनाए, और उन्होंने जो उच्चतम ओपनिंग साझेदारी स्वीकार की वह केवल दस रन थी। पहले विकेट के लिए औसत साझेदारी इस टूर्नामेंट में भारत के ख़िलाफ़ केवल 4.16 रन थी, जो अंडर-19 विश्व कप के एक संस्करण में किसी भी गेंदबाज़ी टीम के लिए सबसे कम थी।
फ़ाइनल से पहले इंग्लैंड के लिए शून्य नहीं
इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाज़ टूर्नामेंट में फ़ाइनल से डक पर आउट नहीं हुआ था, लेकिन यह सिलसिला तब खत्म हुआ जब उनके कप्तान फ़ाइनल में रवि कुमार की गेंद पर शून्य पर आउट हुए। यह भी पहली बार था जब अंडर-19 विश्व कप फ़ाइनल में कोई कप्तान शून्य पर आउट हुआ था। इंग्लैंड के दो और बल्लेबाज़ - जॉर्ज बेल और थॉमस ऐस्पिनवॉलफ़ाइनल में बिना स्कोर बनाए ही आउट हो गए ।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्‍टैटिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।