ख़बरें

संन्यास से पहले मैं भारत में जाकर भारतीय टीम को हराना चाहता हूं: वॉर्नर

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज़ ने संकते दिए हैं कि वह अगला ऐशेज़ भी खेल सकते हैं

David Warner square drives, Australia vs England, 2nd Test, Adelaide, 1st day, December 16, 2021

वॉर्नर टी20 विश्व कप में प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट थे  •  CA/Cricket Australia/Getty Images

ऑस्ट्रेलिया टीम के खब्बू ओपनर ने इस बात के साफ़ संकेत दिए हैं कि वह अभी भी अपने करियर को आगे जारी रखते हुए 2023 में ऐशेज़ सीरीज़ की जीतना चाहते हैं और भारतीय टीम को भारतीय धरती पर हराना चाहते हैं।
टी 20 विश्व कप के दौरान ऑस्ट्रेलिया की जीत में प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट रहे वॉर्नर अक्तूबर में 35 वर्ष के हो चुके हैं। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अगली श्रृंखला के शुरू होने तक वह 37 के क़रीब हो जाएंगे।
ऑस्ट्रेलिया द्वारा मंगलवार को एमसीजी में घरेलू ऐशेज़ श्रृंखला को 12 दिनों के भीतर 3-0 से समेटने के बाद, वॉर्नर ने संकेत दिया कि टेस्ट क्रिकेट खेलना बंद करने से पहले वह अभी भी कुछ चीजे़ं हासिल करना चाहते हैं।
वॉर्नर ने कहा, मेरे करियर में अभी तक हमने भारत को भारत में नहीं हराया है। ऐसा करना अच्छा अनुभव होगा और ज़ाहिर है, इंग्लैंड में जाकर इंग्लैंड को हराना भी एक लक्ष्य होगा। 2019 में हमने उनके यहां जाकर श्रृंखला को ड्रा किया था लेकिन एक और बार मौक़ा मिलता है तो मैं वहां खेलने ज़रूर जाऊंगा।"
वॉर्नर ने इंग्लैंड में तीन श्रृंखलाओं में 13 टेस्ट और भारत की दो यात्राओं में आठ टेस्ट खेले हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने उन पांच श्रृंखलाओं में से चार में हार का सामना किया है और वॉर्नर का दोनों देशों में बिना किसी शतक के क्रमशः 26 और 24 का औसत है। स्पष्ट रूप से एक ऐसा आंकड़ा है जिसे वॉर्नर सुधारना चाहेंगे।
वह टी 20 विश्व कप और इस श्रृंखला के पहले तीन टेस्ट में शानदार प्रदर्शन करते हुए उन पर शक करने वाले लोगों को चुप कराने का इरादा मन में बनाए हुए हैं। वह अपनी उम्र को किसी बाधा के रूप में नहीं देखते हैं।
वॉर्नर ने कहा, "मुझे लगता है कि जेम्स एंडरसन इन दिनों ज़्यादा उम्र के खिलाड़ियों के लिए बेंचमार्क सेट करते हैं, हालांकि मेरे लिए, यह मेरी क्षमता के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन और बोर्ड पर रन बनाने के बारे में है। पहले दो टेस्ट में, मैं वास्तव में एक उचित बल्लेबाज़ की तरह दिख रहा था, यह अलग बात है कि स दौरान मैं शतक नहीं बना पाया।" "मैं अच्छा महसूस कर रहा हूं। जैसा कि मैंने कहा, मैं फ़ॉर्म से बाहर नहीं था, इसलिए उम्मीद है कि मैं इस नए साल में मैं और रन बनाऊंगा।"

ऐलेक्स मैल्कम ESPNcricinfo के असोशिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।