मैच (8)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
एशिया कप (3)
ईरानी ट्रॉफ़ी (1)
लेजेंड्स लीग (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
फ़ीचर्स

कैसे स्टोक्स ने अपनी ऊर्जा और विश्वास से इंग्लैंड को लॉर्ड्स टेस्ट में बनाए रखा

साउथ अफ़्रीका मैच में आगे है लेकिन इंग्लैंड ने दिखाया है कि कुछ भी असंभव नहीं

Ben Stokes grabbed two quick wickets to get England back in contention, England vs South Africa, 1st LV= Insurance Test, Lord's, day 2, August 18, 2022

तीन विकेट लेकर बेन स्टोक्स ने मेज़बान टीम को मैच में बनाए रखा  •  PA Images via Getty Images

लॉर्ड्स मैदान का माहौल ऐसा होता है कि किसी टेस्ट के शुरुआती पड़ाव में यहां ज़्यादा शोरगुल नहीं सुनने को मिलता। इंग्लैंड और साउथ अफ़्रीका के बीच पहले टेस्ट के पहले दो दिनों में ऐसा ही देखने को मिला है।
दूसरे दिन के निर्धारित 98 ओवरों में केवल पहले 13 ओवर में ही पहली पारी की समाप्ति हो चुकी थी। साउथ अफ़्रीका ने बिना ज़्यादा कठिनाई के इंग्लैंड के 165 के स्कोर को चाय के थोड़ी देर बाद पार किया। ऐसे में क्रिकेट पर अधिक ध्यान देने से मैदान पर मौजूद होने का मज़ा स्थानीय समर्थकों के लिए किरकिरा हो सकता था।
पूरे दिन में दो बार ऐसा हुआ कि दर्शक संपूर्ण तरीक़े से खेल पर ध्यान केंद्रित करते दिखे। साथ ही उन्होंने बुलंद आवाज़ में मेज़बान टीम का समर्थन किया। पहला पल तब आया जब 41 ओवर हुए थे और साउथ अफ़्रीका दो विकेट के क्षति पर इंग्लैंड के स्कोर से केवल 16 रन पीछे था।
जैक लीच नर्सरी छोर पर गेंदबाज़ी करने के लिए तैयार हो रहे थे। भारत के ख़िलाफ़ पिछले टेस्ट में उनकी जमकर पिटाई हुई थी और उनके 21 ओवरों का विश्लेषण था एक विकेट लेकर 99 रन। उसके बाद उन्होंने सॉमरसेट के लिए भी काउंटी चैंपियनशिप में 68 ओवर में एक ही विकेट लिया था। द हंड्रेड में उन्हें अपनी टीम बर्मिंघम फ़ीनिक्स के लिए इस साल खेलने का कोई मौक़ा नहीं मिला है।
दूसरा ऐसा पल लगभग 15 ओवर के बाद आया। बेन स्टोक्स पवेलियन छोर से गेंदबाज़ी कर रहे थे और अपने स्पेल में सारेल अर्वी और रासी वान दर दुसें को उछाल और स्विंग प्राप्त करते हुए आउट कर चुके थे। उन्होंने काइल वेरेन को जैसे गेंद डालने के लिए दौड़ की शुरुआत की, लॉर्ड्स का मैदान पूरी तरह उनके समर्थन में गूंज उठा। लीच ने एडन मारक्रम को आउट करके साउथ अफ़्रीका के पतन की शुरुआत की थी और अब मेहमान केवल 27 रन आगे थे। स्टोक्स की शॉर्ट गेंद ने वेरेन के पसलियों पर प्रहार किया और दर्द के मारे वह स्क्वेयर लेग की दिशा में चले गए।
इन दो लम्हों में ऐसा लगा कि मैच की काया और गतिशीलता में परिवर्तन आ चुका था। इस प्रक्रिया में स्टोक्स और लीच का साथ देना सही लग रहा था। स्टोक्स ने इस टीम को एक नई तीव्रता दी है और लीच इस नई सोच के बड़े लाभार्थी हैं। स्टंप्स पर स्टुअर्ट ब्रॉड ने बताया कि स्टोक्स को अपने पसंदीदा छोर को भूलकर दूसरे छोर से गेंदबाज़ी करने पर राज़ी करना पड़ा क्योंकि लीच को अच्छी टर्न प्राप्त हो रही थी।
स्टोक्स ने लीच को आक्रामक फ़ील्ड देकर उनका आत्मविश्वास भी बढ़ाए रखा। स्टोक्स ख़ुद अपनी फ़ील्ड सजाने में काफ़ी कलात्मक रख रहे थे - एक समय उन्होंने लेग साइड पर शॉर्ट लेग, लेग स्लिप, वाइड मिड ऑन, शॉर्ट फ़ाइन लेग, डीप फ़ाइन लेग और शॉर्ट मिड विकेट की सजावट से गेंदबाज़ी की। पहले दो सत्रों के परिश्रम के बाद ऐसा लग रहा था इंग्लैंड अपनी रणनीति पर डटे रहने की ज़िद लिए खेल रहा था।
दिन के आख़िर तक साउथ अफ़्रीका ने एक बार फिर वापसी कर ली थी। उनकी बढ़त सात विकेट पर 124 तक पहुंच चुकी थी और मार्को यानसन और केशव महाराज ने 72 रन जोड़कर दबाव को वापस इंग्लैंड पर डाल दिया था। दिन के अंत में फिर लीच और स्टोक्स ही गेंदबाज़ी कर रहे थे। इंग्लैंड का विश्वास और दर्शकों का उत्साह दोनों पस्त लग रहे थे। लेकिन ऐसे में स्टोक्स ने अपनी गेंद पर मिड ऑफ़ के पार एक शॉट का पीछा करके दिखाया कि इंग्लैंड के जोश में कोई कमी नहीं आई थी।
स्टोक्स ने इस पड़ाव पर महाराज को अपना तीसरा शिकार बनाया और ब्रॉड ने अपने कप्तान के बारे में कहा, "उनका अंदाज़ आपको प्रेरित करता है। मुझे लगा चाय के बाद खेल में ऊर्जा का संचार स्टोक्स ही लाए थे।" दरअसल सपाट पिच और अच्छे मौसम के बावजूद स्टोक्स की कप्तानी में यह सोच हावी थी कि क्रिकेट में कुछ भी संभव है। विकेटकीपर बेन फ़ोक्स के पास हमेशा चार स्लिप और एक गली या पांच स्लिप मौजूद रहते थे। ऐसे में साउथ अफ़्रीकी बल्लेबाज़ों ने संयम और धैर्य के साथ अपने स्कोर को आगे बढ़ाया।
बहरहाल इंग्लैंड के लिए अपनी दूसरी पारी तीन विकेट दूर है और नई गेंद केवल 18 गेंद दूर। ब्रॉड का मानना है कि 150 तक की बढ़त को एक अच्छी साझेदारी ख़ारिज कर सकती है। उन्होंने कहा, "हमने इस सीज़न साबित किया है कि कुछ भी असंभव नहीं। ड्रेसिंग रूम में एक सकारात्मक सोच है कि हमने 130 पर एक विकेट से ज़बरदस्त वापसी की है।"
क्या इंग्लैंड अविश्वसनीय वापसी के इस धारावाहिक में पांचवीं कड़ी भी जोड़ सकता है?

विदूशन अहंतराजा ESPNcricinfo में असोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।