मैच (11)
Nepal Tri-Nation (1)
WPL (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
PSL 2024 (2)
Durham in ZIM (1)
IND v ENG (1)
ख़बरें

कमिंस : कोटला टेस्ट में ग्रीन और स्टार्क के चयन को लेकर निर्णय लिया जाएगा

दोनों खिलाड़ी चोट से उबर रहे हैं और अब तक 100% फ़िट नहीं हैं

उंगली में लगी चोट के बाद से कैमरन ग्रीन ने नेट्स में तेज़ गेंदबाज़ी का सामना नहीं किया है  •  Getty Images

उंगली में लगी चोट के बाद से कैमरन ग्रीन ने नेट्स में तेज़ गेंदबाज़ी का सामना नहीं किया है  •  Getty Images

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान पैट कमिंस ने पुष्टि की है कि उनकी टीम शुक्रवार को दिल्ली में भारत के ख़िलाफ़ शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट में ऑलराउंडर कैमरन ग्रीन और तेज़ गेंदबाज़ मिचेल स्टार्क की उपलब्धता को लेकर अभी भी चिंतित है। ग्रीन और स्टार्क ने बुधवार के नेट्स में भाग लिया था लेकिन दोनों ही खिलाड़ी अब तक अपनी ऊंगलियों के चोटों से पूरी तरह उबर नहीं पाए हैं।

कमिंस ने गुरुवार को कहा, "स्टार्की और ग्रीन दोनों ने कल कड़ा अभ्यास किया था और आज हम उनके फ़िटनेस को अच्छे से जांचेंगे। हमने उन पर कोई निर्णय नहीं लिया है।" ग्रीन का खेलना ख़ासकर टीम संतुलन के लिए काफ़ी ज़रूरी बात है क्योंकि उनके आने से बल्लेबाज़ी में गहराई के साथ तीन स्पिन गेंदबाज़ों को खिलाने की संभावना भी बढ़ जाएगी।

ग्रीन को गेंदबाज़ी करते हुए कोई परेशानी नहीं हो रही लेकिन उनकी बल्लेबाज़ी और फ़ील्डिंग पर चोट का असर ज़रूर पड़ा है। बॉक्सिंग-डे टेस्ट में तर्जनी में तोड़ के बाद हुई सर्जरी के पश्चात उन्होंने किसी तेज़ गेंदबाज़ को नहीं खेला है। बुधवार को उन्होंने स्टेडियम में एक घंटे तक बल्लेबाज़ी की, जिसमें बैटिंग कोच माइकल डीवेनुटो से थ्रोडाउन लेने के अलावा उन्होंने स्पिन गेंदबाज़ी को खेला। उन्होंने 27 दिसंबर को लगी चोट के बाद पहली बार ठोस क्रिकेट गेंद के साथ कैच लेने का अभ्यास भी किया।

कमिंस ने ग्रीन के बारे में कहा, "वह एक दाएं हाथ के बल्लेबाज़ हैं और एक पांचवें गेंदबाज़ी विकल्प भी। वह बड़े खिलाड़ी हैं और टीम को कई तरह से मज़बूत बनाते हैं। लेकिन वह चोट से लौट रहे हैं और एक ही अभ्यास का हिस्सा बने हैं। ऐसे में हमें देखना पड़ेगा।" हालांकि कमिंस ने यह संकेत भी दिए कि अगर ग्रीन 100% फ़िट होते हैं तो वह स्टार्क के फ़िट होने पर भी उनके आगे खेलेंगे और एक तीसरे स्पिनर को भी टीम में स्थान मिलेगा। उन्होंने कहा, "विकेट को देखकर ऐसा लगता है इसमें टर्न होगा। पिछले हफ़्ते दो सीमर के साथ हमने अच्छी गेंदबाज़ी की थी। तो तीसरा गेंदबाज़ स्कॉट [बोलंड] हो, स्टार्की हो या कोई स्पिनर हो, विविधता से फ़ायदा मिलता है।"

कमिंस ने तीसरे स्पिनर के विकल्प पर कोई बात नहीं की। नेथन लायन और टॉड मर्फ़ी की ऑफ़ स्पिन जोड़ी नागपुर में साथ खेली थी। हालांकि टेस्ट सीरीज़ से पहले बाएं हाथ के स्पिनर ऐश्टन एगार के चयन की संभावना जताई जा रही थी। नागपुर टेस्ट के बाद अभ्यास में वह बेहतर लय में ज़रूर दिखें हैं लेकिन उन्हें क्वींसलैंड के स्पिनर मैथ्यू कुनमन के साथ एक स्थान के लिए लड़ना पड़ सकता है। लेग स्पिनर मिचेल स्वेप्सन अपने पहले बच्चे के जन्म के लिए ऑस्ट्रेलिया वापस लौटे हैं और इसलिए कुनमन को अचानक भारत बुलाया गया था।

डेविड वॉर्नर का भारत में फ़ॉर्म भी चिंता का विषय बन सकता है। हालांकि कमिंस ने कहा, "मैं चयनकर्ता नहीं हूं लेकिन मुझे विश्वास है डेवी टीम में होंगे। आपने पिछले साल बॉक्सिंग-डे टेस्ट में देखा कि वह कैसे विपक्षी गेंदबाज़ों पर दबाव डाल देते हैं। ऐसे में उनको गेंद डालना मुश्किल बन जाता है। यहां स्पिन गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ उनकी बल्लेबाज़ी को लेकर काफ़ी चर्चा रही है लेकिन यह भी याद रखना ज़रूरी है कि नई गेंद के सामने बल्लेबाज़ी करना आसान नहीं।"

नागपुर में अच्छे फ़ॉर्म से गुज़र रहे ट्रैविस हेड को एशिया में स्पिन के विरुद्ध साधारण रिकॉर्ड के चलते टीम से बाहर रखा गया था, लेकिन कमिंस ने बताया कि उन्हें भी चयन के लिए शामिल किया सकता है। कमिंस ने कहा, "ट्रैव बेहतरीन इंसान हैं। उन्होंने अपने गेम पर काफ़ी मेहनत जारी रखी है। वह माहौल को बेहतर बनाने वाले खिलाड़ियों में हैं। उनके चयन को लेकर पहले टेस्ट में भी काफ़ी चर्चा रही थी और इस बार भी ठीक वैसा ही हुआ है।"

ऐलेक्स मैल्कम ESPNcricinfo में एसोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।