फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते: वॉर्नर के सामने सरेंडर कर देते हैं पंजाब के धुरंधर

दिल्ली के गेंदबाज़ों के सामने शिखर जाते हैं बिखर

Shikhar Dhawan batted through the innings to finish on 88 not out, Chennai Super Kings vs Punjab Kings, IPL 2022, Wankhede Stadium, Mumbai, April 25, 2022

शार्दुल ने धवन को दो बार आउट किया है  •  PTI

दिल्ली कैपिटल्स और पंजाब किंग्स के बीच सोमवार की शाम को आईपीएल का एक और निर्णायक मुक़ाबला खेला जाना है। इस मुक़ाबले का हिस्सा रहने वाले कुछ अहम खिलाड़ी मैच में कितनी निर्णायक भूमिका अदा कर सकते हैं इसके लिए उनके आंकड़ों का रुख़ करते हैं।
वॉर्नर के सामने सरेंडर कर देते हैं पंजाब के धुरंधर
दिल्ली के इन फ़ॉर्म सलामी बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर पंजाब के अधिकतर गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ आक्रामक शैली में बल्लेबाज़ी करते हैं। वॉर्नर ने राहुल चाहर के विरुद्ध 179 के स्ट्राइक रेट से 34 गेंदों में 61 रन बनाए हैं, जबकि अर्शदीप सिंह के ख़िलाफ़ उन्होंने 32 गेंदों में 150 के स्ट्राइक रेट से 48 रन बनाए हैं। ऋषि धवन की 14 गेंदों पर उन्होंने 171 के स्ट्राइक रेट से 24 रन बनाए हैं। इन तीनों ही गेंदबाज़ों में से कोई भी एक गेंदबाज़ वॉर्नर को टी20 में अब तक एक बार भी आउट नहीं कर पाया है।
लेकिन सबसे दिलचस्प जंग वॉर्नर और कगिसो रबाडा के बीच रही है। एक तरफ़ जहां वॉर्नर, कगिसो रबाडा की गेंदों पर जमकर रन बरसाते हैं तो वहीं रबाडा भी उन्हें पवेलियन भेजने का मौक़ा अपने हाथ से नहीं जाने देते। वॉर्नर ने टी20 में रबाडा की 83 गेंदों पर 149 के स्ट्राइक रेट से 124 रन बनाए हैं, जबकि रबाडा ने पांच बार उन्हें पवेलियन भी भेजा है।
मार्श से सामना होगा तो क्या करेंगे रबाडा?
रबाडा ने भले ही वॉर्नर को टी20 में पांच बार पवेलियन भेजा हो लेकिन मिचेल मार्श के सामने रबाडा की हर तरक़ीब गुल हो जाती है। मार्श और रबाडा का टी20 में कुल 13 गेंदों पर सामना हुआ है जिसमें मार्श ने 177 के स्ट्राइक रेट से 23 रन बनाए हैं। कुछ ऐसा ही हाल पंजाब के हरफ़नमौला खिलाड़ी लियम लिविंगस्टन का हो जाता है जब उनका सामना रोवमन पॉवेल से होता है। पॉवेल ने टी20 में लिविंगस्टन की 12 गेंदों पर 250 के स्ट्राइक रेट से 30 रन बनाए हैं।
दिल्ली के गेंदबाज़ों के सामने बिखर जाते हैं शिखर
अपनी पुरानी फ़्रैंचाइज़ी दिल्ली के गेंदबाज़ों के सामने शिखर धवन का रिकॉर्ड उतना अच्छा नहीं रहा है। शिखर, अक्षर पटेल के ख़िलाफ़ 14 गेंदों पर महज़ 100 के स्ट्राइक रेट से 14 रन ही बना पाए हैं जबकि उन्होंने ख़लील अहमद की 16 गेंदों पर 19 और मिचेल मार्श की 12 गेंदों पर 16 रन बनाए हैं। हालांकि इन गेंदबाज़ों में सिर्फ़ ख़लील ने ही शिखर को एक बार आउट किया है। शार्दुल ठाकुर के विरुद्ध उनका रिकॉर्ड कुछ वैसा ही जैसा वॉर्नर और रबाडा का है। शिखर ने टी20 में शार्दुल की 48 गेंदों पर 148 के स्ट्राइक रेट से 71 रन तो बनाए हैं, लेकिन दो बार वह शार्दुल की गेंदों पर आउट भी हुए हैं।
हालांकि पंजाब के कप्तान मयंक अग्रवाल का शार्दुल के ख़िलाफ़ लाजवाब रिकॉर्ड है। उन्होंने शार्दुल की 26 गेंदों पर 181 के स्ट्राइक रेट से 47 रन बनाए हैं, जबकि शार्दुल एक बार भी मयंक को आउट नहीं कर पाए हैं।
पावरप्ले में इन बल्लेबाज़ों का चलता है पावर
जॉनी बेयरस्टो के बल्लेबाज़ी क्रम में बदलाव होते ही उन्होंने अपना जलवा बिखेरना शुरु कर दिया है। बतौर सलामी बल्लेबाज़ उन्होंने तीन पारियों में दो लगातार अर्धशतक के साथ कुल 123 रन बनाए हैं। जबकि सीज़न में पहले मध्य क्रम में बल्लेबाज़ी करते हुए उन्होंने 6 पारियों में महज़ 79 रन बनाए थे। बेयरस्टो ने सभी आठ छक्के भी पावरप्ले के दौरान ही लगाए हैं। मध्य ओवरों में वह एक भी छक्का नहीं लगा पाए हैं। पावरप्ले के दौरान उन्होंने 171 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। ऐसे में बेयरस्टो दिल्ली के गेंदबाज़ों के लिए एक बड़ा सिरदर्द साबित हो सकते हैं।
इस सीज़न में पावरप्ले के दौरान उन्होंने 171 के स्ट्राइक रेट से 130 रन बनाए हैं जो कि पावरप्ले के दौरान कम से कम 100 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों में सार्वाधिक स्ट्राइक रेट है। बेयरस्टो के बाद बारी पृथ्वी शॉ की आती है जिन्होंने नौ पारियों में 160 के स्ट्राइक रेट से 193 रन बनाए हैं। वहीं दिल्ली के ही सलामी बल्लेबाज़ वॉर्नर ने इस सीज़न कुल दस पारियों में 158 के स्ट्राइक रेट से पावरप्ले में 220 रन बनाए हैं। वॉर्नर इस सीज़न में पावरप्ले के दौरान सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ भी हैं।

नवनीत झा (@imnot_nav) ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं।