मैच (19)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
ख़बरें

'आपका माइंडसेट हर पारी में एक जैसा नहीं हो सकता' : शुभमन गिल

सलामी बल्लेबाज़ ने गुजरात टाइटन्स द्वारा उन्हें चुने जाने की "अतिरिक्त ज़िम्मेदारी" पर ख़ुशी ज़ाहिर की

कम स्‍ट्राइक रेट के कारण सवालों के घेरे में रहे हैं शुभम गिल  •  BCCI

कम स्‍ट्राइक रेट के कारण सवालों के घेरे में रहे हैं शुभम गिल  •  BCCI

ओपनर के तौर पर पिछले दो आईपीएल सत्रों में शुभमन गिल का स्ट्राइक रेट मात्र 118.45 का रहा है। यह तब था जब पावरप्ले के दौरान केवल दो ही खिलाड़ी 30 गज़ के घेरे से बाहर रहते हैं। क्या गिल बहुत धीमी गति से रन बनाते हैं और दूसरे छोर पर बल्लेबाज़ पर दबाव डालते हैं, यह अक्सर बहस का विषय रहा है, लेकिन उन्होंने ख़ुद कहा कि हर स्थिति के लिए एक अलग "मानसिकता" की आवश्यकता होती है।
इस सीज़न में गुजरात टाइटन्स का प्रतिनिधित्व करने वाले गिल ने कहा, "यह स्थिति दर स्थिति अलग होता है और जब आप बल्लेबाज़ी करने जाते हैं, तो अलग-अलग लक्ष्य होते हैं। आपकी मानसिकता हर पारी में समान नहीं हो सकती। विकेट अलग हो सकता है, इसलिए आपको उसी के अनुसार योजना बनानी होगी। एक खिलाड़ी के रूप में, यह चुनौती है और आप जानते हैं कि यदि आप समान मानसिकता और गेम प्लान के साथ खेलते हैं, तो विपक्ष के लिए रणनीति बनाना बहुत आसान हो जाता है।"
"और जब विभिन्न परिस्थितियों के अनुकूल होने की बात आती है तो यहां अनुभव मायने रखता है। यही आपको आगे बढ़ने में मदद करता है। इस साल, मैं गैरी कर्स्टन के साथ काम करूंगा, जो हमारे सलाहकार और बल्लेबाज़ी कोच हैं, और उम्मीद है कि मुझे अपने हाथ खोलने की तरकीबें मिल ही जाएंगी।"
सलामी बल्लेबाज़ के रूप में अपने टी20 करियर में 70 में से 52 पारियां खेलने के बावजूद गिल का कहना है कि उन्हें अपनी टीम की ज़रूरत के अनुसार योगदान देने में ख़ुशी होगी। आख़िरी बार उन्होंने ओपनर के अलावा किसी भी स्थान पर 2019 में सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ बल्लेबाजी की थी, एक ऐसा सीज़न जब वह बल्लेबाज़ी क्रम में नंबर एक से सात नंबर तक केकेआर के लिए कहीं भी खेलते रहे।
उन्होंने कहा, "टीम मुझसे जो कुछ भी मांगेगी, मैं उसका इंतज़ार कर रहा हूं। मुझे यक़ीन है कि कप्तान और कोचिंग स्टाफ़ ने इस बारे में सोचा होगा। हम सभी मिलकर काम कर सकते हैं और टीम की मदद कर सकते हैं।"
अब तक भारत के लिए केवल टेस्ट और वनडे मैच खेलने वाले 22 वर्षीय गिल की तमन्ना इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने की है।
उन्होंने कहा, "अगर कोई खिलाड़ी आईपीएल में बहुत अच्छा करता है, तो ज़ाहिर तौर पर संभावना है कि उसे भारत के लिए खेलने का मौक़ा मिलेगा और विश्व कप सभी के लिए एक बहुत बड़ा टूर्नामेंट है, और हर कोई इसे खेलना चाहता है। और अगर मैं इस आईपीएल में मैं अच्छा करता हूं और मुझे वह मौक़ा मिलता है, तो मैं बहुत आभारी रहूंगा।"
बड़ी नीलामी से पहले आईपीएल में नए होने के कारण टाइटन्स को नीलामी पूल से तीन खिलाड़ियों को चुनने की अनुमति दी गई थी। उन्होंने गिल, हार्दिक पंड्या और राशिद ख़ान को चुना और युवा सलामी बल्लेबाज़ उस विश्वास को चुकाने के लिए उत्सुक है जो फ़्रेंचाइज़ी द्वारा उन पर दिखाया गया है।
उन्होंने कहा, "दुर्भाग्य से केकेआर ने मुझे रिटेन नहीं किया, लेकिन जब मुझे पता चला कि गुजरात टाइटन्स मुझे रिटेन करने में दिलचस्पी रखता है तो मुझे बहुत अच्छा लगा। अगर कोई टीम आपको बनाए रखती है और आप पर इतना भरोसा करती है, तो आपको बहुत आत्मविश्वास मिलता है।"
"यह मेरे लिए गुजरात में एक बहुत अच्छा और एक बड़ा अवसर है। आशु भाई [आशीष नेहरा, मुख्य कोच] और हार्दिक भाई ने मुझे पर भरोसा जताया। इससे एक अतिरिक्त ज़िम्मेदारी आती है और मुझे ज़िम्मेदारियां लेना पसंद है।"
अपनी भूमिका को पूरा करने के अलावा, गिल यह भी सुनिश्चित करना चाहते हैं कि टाइटन्स अच्छी तरह से तैयार हो जाएं और फिर इसे लंबे सीज़न तक जारी रखें, जहां प्रत्येक टीम प्लेऑफ़ में प्रवेश करने से पहले 14 मैच खेलती है।
उन्होंने कहा, "आईपीएल एक ऐसा टूर्नामेंट है जहां आप किसी भी टीम को हल्के में नहीं ले सकते क्योंकि टी20 सबसे छोटा प्रारूप है, जहां वापसी की संभावना काफ़ी ज़्यादा होती है, चाहे आप किसी भी टीम से खेलें।"
"सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इतने लंबे टूर्नामेंट होने का मतलब है कि आपने अपने पहले कुछ मैच जीतने के बाद जो गति हासिल की है उसे आगे बढ़ाना बहुत महत्वपूर्ण है। मैच एक के बाद एक होते हैं और इस तरह से आप लगातार दो या तीन मैच भी हार सकते हैं। और जो टीम अपनी हार को तोड़ने में सक्षम होती है, उसके पास सबसे अच्छा मौक़ा होता है।"