मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CAN T20 (2)
फ़ीचर्स

आईपीएल का आधा सीज़न बीत चुका, जानिए सभी टीमों का लेखा-जोखा

कई टीमें अंक तालिका के बीच में हैं, इसलिए प्ले ऑफ़ की टीमों का भविष्यवाणी करना अभी भी ख़तरे से खाली नहीं है

सबसे अधिक चिंताएं दिल्ली कैपिटल्स की हैं  •  BCCI

सबसे अधिक चिंताएं दिल्ली कैपिटल्स की हैं  •  BCCI

आईपीएल 2023 का लगभग आधा दौर बीत चुका है। जहां चेन्नई सुपर किंग्स और गुजरात टाइटंस की टीमें 10 अंकों के साथ अंक तालिका में शीर्ष पर हैं, वहीं चार टीमें आठ अंकों के साथ अंक तालिका के बिल्कुल बीच में हैं। आइए जानते है कि सभी टीमों को अब आगे क्या चुनौतियां मिलने वाली हैं।

दिल्ली कैपिटल्स

मैच 7, जीत 2, हार 5, अंक 4, अंक तालिका में स्थिति: दसवां
चुनौतियां: शीर्ष क्रम का स्थायित्व
किसकी कमी खल रही है: ऋषभ पंत, जो कि कार दुर्घटना के बाद चोट से उबर रहे हैं।
अभी तक वे कैसा खेले हैं: डेविड वॉर्नर अभी भी अपने विस्फ़ोटक रूप से कोसों दूर हैं, वहीं पृथ्वी शॉ अपने सबसे बुरे दौर से गुज़र रहे हैं। पिछले छह पारियों में उनका उच्चतम स्कोर 13 रन है और वे तेज़ गेंदबाज़ों की स्पीड और स्विंग का सामना करने में नाकाम रहे हैं। सरफ़राज़ ख़ान को विकेटकीपिंग के लिए बस एक मैच दिया गया और दो मैच के बाद वे टीम से ही बाहर थे। चार मैचों के बाद टीम में उनकी वापसी हुई, जब मध्य क्रम के अन्य बल्लेबाज़ भी नाकाम रहें। मिचेल मार्श अपनी शादी के कारण पहले कुछ मैचों के लिए अनुपलब्ध थे और राइली रुसो व रोवमन पॉवेल टीम से अंदर-बाहर होते रहे। टीम में हो रहे इतने बदलाव दिखाते हैं कि टीम किस स्थिति में है।

सनराइज़र्स हैदराबाद

मैच 7, जीत 2, हार 5, अंक 4, अंक तालिका में स्थिति: नौवां
चुनौतियां: शीर्ष क्रम की नाकामी
अभी तक वे कैसा खेले हैं: मयंक अग्रवाल ने अब तक संघर्ष किया है, फिर चाहे वह ओपन करने आए हों या फिर नीचे। अभिषेक शर्मा के साथ भी ऐसा है और उन्हें भी बल्लेबाज़ी क्रम में लगातार ऊपर-नीचे किया जा रहा है। इंग्लैंड के बल्लेबाज़ हैरी ब्रूक को मध्य क्रम के लिए ख़रीदा गया था, लेकिन उन्होंने ओपनिंग में आते हुए शतक लगाया। हालांकि वॉशिंगटन सुंदर अब हैमस्ट्रिंग चोट के कारण मैच से बाहर हो चुके हैं। कुल मिलाकर हैदराबाद के लिए कुछ अच्छा नहीं हो रहा है।

कोलकाता नाइट राइडर्स

मैच 8, जीत 3, हार 5, अंक: 6, अंक तालिका में स्थिति: सातवां
चुनौतियां: शीर्ष क्रम का अस्थायित्व
किसकी कमी खल रही है: श्रेयस अय्यर, जो पीठ की सर्जरी के बाद उबर रहे हैं।
अब तक वे कैसा खेले हैं: पावरप्ले में इस टीम ने 17 विकेट गवाएं हैं, जो कि सर्वाधिक है। अपने पहले सात मैचों में इस टीम ने पांच ओपनिंग जोड़ी को आजमाया है। बुधवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ मैच में कोलकाता ने जेसन रॉय और नारायण जगदीशन की जोड़ी को आजमाया और उन्होंने 83 रन की साझेदारी की। रविवार को मिली जीत के बाद वे शायद इसी जोड़ी को लेकर आगे बढ़ें।

मुंबई इंडियंस

मैच 7, जीत 3, हार 4, अंक: 6, अंक तालिका में स्थिति: आठवां
चुनौतियां: डेथ गेंदबाज़ी
किसकी कमी खल रही है: जसप्रीत बुमराह इस सीज़न से बाहर हैं, साथ ही जोफ़्रा आर्चर अपनी कोहनी की चोट से उबर रहे हैं। इस कारण से वह सिर्फ़ दो ही मैच खेल पाए हैं।
अभी तक वह कैसा खेले हैं: बुमराह और आर्चर की जोड़ी अगर एक साथ मैदान पर होती तो यह बल्लेबाज़ों के लिए एक बुरा सपना साबित हो सकता था। हालांकि मुंबई की टीम इस गैप को पूरा करने के लिए अर्जुन तेंदुलकर, रायली मेरेडिथ, कैमरन ग्रीन और जेसन बेहरनडॉर्फ़ का प्रयोग कर रहे हैं। हालांकि हैदराबाद के ख़िलाफ़ मिली जीत के बाद तीन बार मुंबई कें गेंदबाज़ों ने 200 या उससे ज़्यादा का स्कोर बनने दिया है। कुल मिला कर मुंबई की टीम में अब गेंदबाज़ी विकल्पों की कमी नज़र आने लगी है।

पंजाब किंग्स

मैच 7, जीत 4, हार 3, अक 8, अंक तालिका में स्थिति: छठा
चुनौतियां: शिखर धवन की अनुपस्थिति में उच्च क्रम के बल्लेबाज़ बढ़िया प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं।
अभी तक वे कैसा खेले हैं: शिखर के बिना पंजाब किंग्स के टॉप तीन बल्लेबाज़ों को काग़ज पर देखा जाए तो सभी टीमों की तुलना में वह सबसे ज़्यादा कमज़ोर नज़र आते हैं। धवन उच्च क्रम में अनुभव लेकर आते हैं और उसी के कारण वह परिस्थिति के अनुसार बल्लेबाज़ी करने में सफल रहते हैं। मैट शॉर्ट में निरंतरता की कमी है। हरप्रीत भाटिया को बढ़िया शुरुआत तो मिल रही है लेकिन वह उसे बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पा रहें हैं। इसका साफ़ मतलब है कि इससे प्रभसिमरन सिंह और लियम लिविंगस्टन पर दबाव बढ़ जाता है। कुल मिला कर पंजाब की टीम धवन की वापसी का बेसब्री से इंतज़ार कर रहा है।

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु

मैच 8, जीत 4, हार 4, अंक 8, अंक तालिका में स्थिति: पांचवां
चुनौती: रजत पाटीदार की अनुपस्थिति
अभी तक वे कैसा खेले हैं: बेंगलुरु के लिए सिर्फ़ फ़ाफ़ डुप्लेसी, ग्लेन मैक्सवेल और विराट कोहली ने रन बनाया है। इन तीन बल्लेबाज़ों के अलावा कोई भी बल्लेबाज़ रन बनाने में सफल नहीं हो पा रहा है। इन तीन बल्लेबाज़ों पर बेंगलुरु पर अत्याधिक निर्भर हो जाना, फ़िलहाल उनके लिए चर्चा का सबसे बड़ा विषय है। रजत पाटीदार का चोटिल हो जाना बेंगलुरु को काफ़ी खल रहा है। उनकी अनुपस्थिति में महिपाल लोमरोर और शाहबाज़ अहमद टीम को मध्यक्रम में रन बना कर नहीं दे पा रहे हैं।

लखनऊ सुपर जायंट्स

मैच 7, जीत 4, हार 3, अंक 8, अंक तालिका में स्थिति : चौथा
चुनौती: पावरप्ले में नहीं बन रहे हैं रन
अभी तक वे कैसा खेले हैं: कुल मिला कर अभी तक उनकी टीम ने कमज़ोर खेल का प्रदर्शन किया है। लखनऊ में पिच बल्लेबाज़ी के लिए कहीं से भी आसान नहीं होता है। काली मिट्टी की पिच पर वह लगातार खेल रहे हैं। जहां पर 150 को एक सम्मानजनक स्कोर माना जाता है। इसके बावजूद के एल राहुल जिस तरह से पावरप्ले में बल्लेबाज़ी कर रहे हैं, उस पर काफ़ी चिंताएं व्यक्त की जा रही है। जयपुर में उन्होंने जिस तरह से बल्लेबाज़ी की थी, उसे शायद ठीक ठहराया जा सकता है, क्योंकि वहां की पिच दोहरा उछाल और दोहरी गति वाला था। हालांकि जब वह गुजरात के साथ खेल रहे थे तो पहले तेज़ गति से रन बना रहे थे लेकिन उसके बाद उन्होंने धीमी बल्लेबाज़ी की और अंत में उनकी टीम लगभग जीती हुई मैच हार गई।
राहुल का स्ट्राइक रेट इस सीज़न तीसरा सबसे कम .है।

राजस्थान रॉयल्स

मैच 7, जीत 4, हार 3, अंक 8, अंक तालिका में स्थिति: तीसरा
चुनौती: एक भारतीय फ़िनिशर की कमी खल रही है
अभी तक वे कैसा खेले हैं: राजस्थान की टीम रियान पराग पर कई सालों से निवेश किए जा रही है लेकिन वह कारगर नहीं रहा है। इस साल पराग ने पांच पारियों में 112 के स्ट्राइक रेट से सिर्फ़ 54 रन बनाए हैं। हालांकि यह अच्छा रहा है कि ध्रुव जुरेल ने मुश्किल परिस्थितियों में कुछ अच्छी पारियों खेली हैं। हाल ही में ध्रुव को पराग की जगह पर टीम में रखा गया था और 189 रनों का चेज़ करते हुए उन्होंने 15 गेंदों में शानदार 34 रनों की पारी खेली थी।

गुजरात टाइटंस

मैच 7, जीत 5, हार 2, अंक 10, अंक तालिक में स्थिति: दूसरा
चुनौती : केन विलियमसन की अनुपस्थिति में एक एंकर बल्लेबाज़ को ढंढ रहा है गुजरात
अभी तक वह कैसा खेले हैं: जब केन विलियमसन पहले ही मैच में चोटिल हो गए तो गुजरात की टीम ने साई सुदर्शन को उनकी जगह पर मौक़ा दिया। सुदर्शन ने भी गुजरात की टीम को निराश नहीं किया। पांच मैचों में से प्रत्येक बार सुदर्शन को बढ़िया शुरुआत मिली है। साथ ही उन्होंने दो अर्धशतक भी लगाए हैं। अपने पांच पारियों में 123.94 के स्ट्राइक रेट से उन्होंने 176 रन बनाए हैं।

चेन्नई सुपर किंग्स

मैच 7, जीत 5, हार 2, अंक 10
संघर्ष: तेंज़ गेंदबाज़ी में अनुभव की कमी
अभी तक वह कैसा खेले हैं: प्रमुख गेंदबाज़ों के लगे चोट चेन्नई को काफ़ी महंगे पड़ सकते थे लेकिन युव तेज़ गेंदबाज़ आकाश सिंह, तुषार देशपांडे और मथीषा पथीराना को बैक किया और इसका उन्हें लाभ भी मिला। तुषार अपनी नो बॉल की समस्या से लगभग पार पा चुके हैं।सात मैचों में उन्होंने कुल 12 विकेट लिए हैं। वहीं आकाश गेंद को बढ़िया स्विंग करा रहे हैं।

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं