मैच (16)
AFG v IRE (1)
WPL (2)
PSL 2024 (1)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (2)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

किशन बनाम सूर्यकुमार, चहल बनाम कुलदीप, वॉशिंगटन बनाम शाहबाज़: भारतीय एकादश में किसे मिलेगा मौक़ा?

भारतीय टीम प्रबंधन को न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ एकादश चुनने में बहुत माथापच्ची करनी होगी

भारतीय गेंदबाज़ इस समय बेहतरीन फ़ॉर्म में हैं  •  BCCI

भारतीय गेंदबाज़ इस समय बेहतरीन फ़ॉर्म में हैं  •  BCCI

श्रीलंका पर रिकॉर्डतोड़ जीत दर्ज करने के महज़ दो दिन बाद भारत विश्व कप तैयारी के एक नए अध्याय की शुरुआत करेगा। भारत को आईसीसी वनडे रैंकिंग की टॉप टीम न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध तीन मैचों की सीरीज़ खेलनी है। अगर रोहित शर्मा की टीम 3-0 से सीरीज़ जीतती है तो वह शीर्ष स्थान पर चली जाएगी। हालांकि के एल राहुल और अक्षर पटेल की अनुपस्थिति में भारत को अपने संयोजन में बदलाव करना होगा और बुधवार को हैदराबाद में होने वाले पहले वनडे से पहले कुछ निर्णय लेने होंगे।

क्या इशान किशन ओपनिंग और विकेटकीपिंग करेंगे?



पारिवारिक कारणों से राहुल की अनुपस्थिति और ऋषभ पंत की कार दुर्घटना के बाद इशान वनडे और टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ में विकेटकीपिंग करने के प्रबल दावेदार बनकर उभरे हैं। हालांकि यह देखना होगा कि क्या वह वनडे सीरीज़ में दोबारा बतौर ओपनर खेलेंगे।



पिछले महीने 126 गेंदों पर वनडे क्रिकेट इतिहास का सबसे तेज़ दोहरा शतक लगाने के बावजूद इशान को श्रीलंका के विरुद्ध सीरीज़ के लिए बाहर बैठना पड़ा था। शुभमन गिल को उनसे आगे तरजीह दी गई और गिल ने तीन पारियों में एक शतक और एक अर्धशतक लगाया। हालांकि अगर भारत को राहुल की जगह पर सूर्यकुमार यादव को खिलाना है तो किशन को ओपनिंग पर भेजना पड़ेगा और ऐसे में गिल को एकादश से बाहर होना पड़ सकता है।

वॉशिंगटन सुंदर को मिलेगा मौक़ा?



रवींद्र जाडेजा के फ़िटनेस और अक्षर पटेल के ब्रेक के चलते ऑफ़ स्पिन ऑलराउंडर वॉशिंगटन सुंदर को न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध दोनों सीरीज़ में नियमित मौक़े मिल सकते हैं। बंगाल के ऑलराउंडर शाहबाज़ अहमद को अक्षर की जगह चुना गया है लेकिन टॉम लेथम, मार्क चैपमैन, डेवन कॉन्वे, माइकल ब्रेसवेल और मिचेल सैंटनर की बाएं हाथ की बल्लेबाज़ी से भरपूर न्यूज़ीलैंड की बल्लेबाज़ी के विरुद्ध वॉशिंगटन की ऑफ़ स्पिन कारगर साबित हो सकती है।

2017 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद चोट के चलते वॉशिंगटन को कम से कम दो विश्व कपों से बाहर रहना पड़ा है। आईपीएल 2022 के बाद से उन्होंने अपनी पावर हिटिंग पर काम किया है। उनके रचनात्मक शॉट पिछले साल न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध देखने को मिले थे। पारी में फ़िनिशर की भूमिका निभाने के लिए वॉशिंगटन ने अपनी घरेलू टीम तमिलनाडु के लिए रणजी ट्रॉफ़ी में निचले क्रम में खेलना शुरू कर दिया था। शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ के तौर पर अपने करियर की शुरुआत करने वाले वॉशिंगटन ख़ुद को एक बेहतर स्पिनर और फ़िनिशर बनाने पर काम कर रहे हैं।

शार्दुल ठाकुर की वापसी



श्रीलंका के विरुद्ध वनडे सीरीज़ से बाहर रहने के बाद शार्दुल ठाकुर की न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध सीरीज़ में वापसी हुई है जबकि बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ अर्शदीप सिंह वनडे टीम से बाहर गए हैं। दीपक चाहर के चोटिल और भुवनेश्वर कुमार के चयनकर्ताओं की नज़रों से बाहर होने के कारण शार्दुल को एक और मौक़ा दिया गया है। वैसे तो वह चाहर की तरह एक स्विंग गेंदबाज़ नहीं है लेकिन वह नई गेंद के साथ गेंदबाज़ी कर सकते हैं। साथ ही वह बल्ले के साथ महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। पिछले साल सितंबर में चेन्नई में न्यूज़ीलैंड ए के विरुद्ध उन्होंने आठवें नंबर पर खेलते हुए 33 गेंदों पर 51 रन बनाए थे>

प्रसिद्ध की अनुपस्थिति, उमरान का फ़ायदा



2022 के पहले भाग में प्रसिद्ध कृष्णा मध्य ओवरों में भारतीय टीम के प्रमुख तेज़ गेंदबाज़ थे, लेकिन लंबे समय की चोट ने उनके करियर को पीछे धकेल दिया है। प्रसिद्ध की अनुपस्थिति में भारतीय टीम प्रबंधन ने उमरान मलिक की तेज़ गति और उछाल का रुख़ किया है। उमरान अब तक खेले छह पूर्ण वनडे मैचों में खाली हाथ नहीं लौटे हैं। जब श्रीलंका गुवाहाटी की एक सपाट पिच पर 374 के लक्ष्य का पीछा कर रही थी, तो उमरान ने पथुम निसंका, चरिथ असलंका और दुनिथ वेल्लालगे को आउट करते हुए मैच का रुख़ पलट दिया। ऐसे प्रदर्शन उमरान को विश्व कप के लिए भारतीय टीम के योजनाओं में रख सकते हैं, फिर चाहे प्रसिद्ध उन योजनाओं में हो या ना हो।

कुलदीप बनाम चहल



यह तो तय है कि विश्व कप में भारत कम से कम एक स्पिन गेंदबाज़ी करने वाले ऑलराउंडर के साथ जाएगा। ऐसे में विश्व कप वर्ष में कुलदीप यादव और युज़वेंद्र चहल के बीच दूसरे स्पिनर के स्थान के लिए टक्कर होगी। अगर चहल कंधे की समस्या से ठीक नहीं हुए हैं तो कुलदीप न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ सीरीज़ की शुरुआत करेंगे।

हालांकि अगर चहल फ़िट हैं तो भारत को अपने दोनों कलाई के स्पिनरों के बीच मुश्किल निर्णय लेना होगा। हालिया वनडे मैचों में चहल ने रन ख़र्च किए हैं लेकिन उनका अनुभव और धीमी गति घर पर कारगर है। कुलदीप ने भी अपनी एक्शन में अतिरिक्त ज़ोर और गति लाकर दावेदारी पेश की हैं। अपने पिछले तीन अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कुलदीप ने दो बार प्लेयर ऑफ़ द मैच का ख़िताब अपने नाम किया है, जिसे दरकिनार नहीं किया जा सकता है।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं, अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है