मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (2)
PAK v WI [W] (1)
ख़बरें

आप टी20 में बोझ लेकर आगे नहीं बढ़ सकते : बुमराह

तेज़ गेंदबाज़ ने कहा, पांच बार की चैंपियन टीम को "कई बदलाव करने और घबराने की ज़रूरत नहीं"

पांच बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल 2022 की शुरुआत अच्छी नहीं रही है। हालांकि, जसप्रीत बुमराह का मानना है कि टी20 क्रिकेट में किसी का भी ख़राब दिन हो सकता है और ऐसे में ज़रूरी है कि तेज़ी से इसे भुलाकर आगे बढ़ा जाए।
पंजाब किंग्स से मुक़ाबले से पहले बुमराह ने कहा, "यह टी20 क्रिकेट है, कोई भी टारगेट हो सकता है, किसी का भी अच्छा या ख़राब मैच हो सकता है। लेकिन इन मैचों में, यह बहुत ज़रूरी है कि आप कंधे पर भार लेकर आगे नहीं बढ़े क्योंकि यहां ऐसा बहुत होता है और आपको बहुत जल्द आगे बढ़ जाना होता है।"
सभी टीमों में देखा जाए तो आईपीएल 2022 की मेगा नीलामी में मुंबई की टीम में बड़े बदलाव देखने को मिले, जहां उनकी टीम में कई नए नाम शामिल हुए। इशान किशन और सूर्यकुमार यादव ने शीर्ष क्रम में कुछ अच्छा किया है, लेकिन मध्य क्रम की अपरिपक्वता एक से ज़्यादा मौक़ों पर मुंबई के ढहने की वजह रही है।
सीज़न के दूसरे मैच में राजस्थान के ख़िलाफ़ मुंबई में 194 रनों का पीछा करते हुए टीम 121 पर दो विकेट से 136 रन पर छह विकेट हो गया था और उन्‍होंने 23 रन और 15 गेंद के अंदर चार विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद पिछले मैच में भी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के ख़िलाफ़ मुंबई का स्कोर एक विकेट पर 50 रन से छ​ह विकेट पर 79 रन हो गया।
वहीं, मध्य क्रम का बिखरना अच्छा साइन नहीं है, बुमराह ने कहा कि दबाव बढ़ाना और बल्क में टीम में बदलाव करना अच्छा तरीक़ा नहीं है।
बुमराह ने विचार दिया, "यह बदलाव का दौर है। हमें मध्य क्रम में कुछ नए चेहरे मिले हैं जो सीख रहे हैं और वह आगे और बेहतर ही होंगे। तो मुझे नहीं लगता कि दबाव बढ़ाने और कई बदलाव करने की ज़रूरत है। हमें बस थोड़ा संयम रखने और उनके कौशल का बचाव करने की ज़रूरत है।"
"यही मुझे महसूस होता है कि हमारा प्लान आगे यही होगा। हमें उनके कौशल पर विश्वास करना होगा, क्योंकि इसी वजह से वह टीम में हैं, तो हम उन्हें उचित मैच देना चाहते हैं और उनके कौशल का बचाव करना चाहते हैं।"
लेकिन कैसे खिलाड़ी एक ख़राब शुरुआत के बाद ख़ुद को ऊपर उठाएंगे? इस पर मुंबई के गेंदबाज़ ने कहा कि जब इतने बड़े स्तर पर आप क्रिकेट खेलते हो तो किसी तरह की प्रेरणा की ज़रूरत नहीं है और चीज़ों को अपने पक्ष में बदलने के लिए टीम पूरा प्रयास कर रही है।
बुमराह ने जोर देकर कहा, "आपको पहिए को फिर से चलाने की ज़रूरत नहीं है। आपको नई प्रेरणा लाने की ज़रूरत नहीं है।"
"हम नए तरीक़े ख़ोजने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे बीच इस पर काफ़ी बातचीत हुई है कि कैसे इस स्थिति में प्रभाव छोड़ा जा सके। हमारा इस पर ध्यान है और हम नए प्लान के साथ आएंगे। ऐसे में देखते हैं यह कितना काम करता है और हम इसको अगले मैच में इस्तेमाल करने की कोशिश करेंगे।"
मुंबई का अगला मुक़ाबला महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पुणे में होना है, जहां पर वह अपने पिछले दो मैच भी खेले थे। जब पूछा ​गया कि टीम को यहां पर सफल होने में किन चीज़ों की ज़रूरत है तो बुमराह ने जवाब दिया, "मैं कहना चाहूंगा टॉस जीतो, इससे मदद भी मिलेगी।"
मुंबई चार में से तीन बार अब तक टॉस हारी है और ओस को देखते हुए लक्ष्य का बचाव करना बिल्कुल भी आसान नहीं होता है।
बुमराह ने पिच की परिस्थिति पर कहा, "अब तक चार मैचों में हमने तीन बार दूसरी पारी में गेंदबाज़ी की है जो कि थोड़ा मुश्किल हो जाती है क्योंकि जब ओस आती है तो गेंदबाज़ी करना आसान नहीं होता है और पहली पारी में विकेट कैसा बर्ताव करेगा यह भी जानना मुश्किल हो जाता है।"
"यह जानना रोचक होगा कि विकेट टूर्नामेंट के बीच में कैसा रहते हैं। हमारी इस पर नज़रें होंगी लेकिन अभी हमारा मौज़ूदा स्थिति पर ध्यान है। और यदि हमें दूसरी पारी में ही बल्लेबाज़ी करनी है तो हम देख रहें कि क्या विकल्प हो सकते हैं और वह कौन से विकल्प हैं जो हम ओस आने के समय पर विकेट लेने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।"

आशीष पंत ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।