मैच (7)
AFG v IRE (1)
Nepal Tri-Nation (1)
NZ v AUS (1)
Durham in ZIM (1)
PSL 2024 (1)
WPL (1)
QAT v HKG (1)
फ़ीचर्स

महिला टी20 चैलेंज 2022 में इन खिलाड़ियों ने किया सबसे ज़्यादा प्रभावित

ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो ने उन आठ खिलाड़ियो को चुना है, जो भारतीय महिला टीम का हिस्सा बन सकती हैं

महिला टी20 चैलेंज की ट्रॉफ़ी के साथ हरमनप्रीत कौर  •  BCCI

महिला टी20 चैलेंज की ट्रॉफ़ी के साथ हरमनप्रीत कौर  •  BCCI

महिला टी20 चैलैंज 2022 एक ऐसे सीज़न के रूप में सामने आया है, जहां कई महिला युवा खिलाड़ियों ने भारतीय टीम में शामिल होने के लिए अपनी दावेदारी पेश की है।
पिछले एक साल में भारतीय महिला टीम का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा है। वनडे विश्व कप में भारत को लीग स्टेज से बाहर होना पड़ा था। साथ ही उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूज़ीलैंड के साथ खेली गई सभी श्रृंखलाओं में हार का सामना किया है।
अगर आगामी श्रृंखलाओं पर नज़र डालें तो भारत को श्रीलंका के साथ एक द्विपक्षीय श्रृंखला खेलनी है और उसके बाद कॉमनवेल्थ गेम में हिस्सा लेने के लिए जाना है, जो सीरीज़ जुलाई-अगस्त में खेली जानी है। इसके बाद इंग्लैंड के साथ एक सीरीज़ है और फिर भारत को संभवत: अक्तूबर में एशिया कप खेलना है। दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ एक सीरीज़ है। इसके बाद भारत का फोकस अंडर 19 टी20 विश्व कप पर होगा और जनवरी-फ़रवरी में टी20 विश्व कप खेला जाएगा।
मिताली राज और झूलन गोस्वामी का अंतर्राष्ट्रीय करियर लगभग समाप्त हो रहा है। ऐसे में भारत एक बार फिर से अपने टीम के संयोजन पर ध्यान देना होगा, साथ ही नए खिलाड़ियों को टीम में मौक़ा देना होगा। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ों ने आठ ऐसे खिलाड़ियों को चुना है जिन्होंने टी20 चैलेंज में काफ़ी प्रभावित किया है और वह मुख्य दल का हिस्सा बन सकती हैं।
जेमिमाह को हालिया खेले गए वनडे विश्व कप के दौरान टीम में शामिल नहीं किया गया था। हालांकि टी20 चैलेंज में उन्होंने वेलॉसिटी के ख़िलाफ़ 44 गेंदों में 66 रनों की शानदार पारी खेली।
सुपरनोवास के ख़िलाफ़ 21 गेंदों में 24 रनों की पारी खेलने के बाद जेमिमाह ने कहा था, "अब कुछ ही समय में टी20 विश्व कप और कॉमनवेल्थ गेम खेला जाना है। मैं चाहती हूं कि मेरी फ़ॉर्म में निरंतरता रहे। रन बनाने के बाद आप हमेशा अच्छा महसूस करते हैं। इससे आपको काफ़ी भरोसा मिलता है।"
जेमिमाह एक बेहतरीन बल्लेबाज़ के अलावा एक शानदार फ़ील्डर भी हैं, जिस पर कप्तान हरमनप्रीत कौर लगातार ज़ोर दे रही हैं।
तानिया पिछले कुछ सीरीज़ से भारतीय टीम के ऊपरी क्रम में जगह बनाने में असफल रही हैं। तानिया ने वेलॉसिटी के ख़िलाफ़ खेलते हुए 32 गेंदो पर 36 रन की पारी खेलते हुए, अपने कप्तान हरमनप्रीत कौर का साथ दिया था और टीम को एक मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकाला था। 2021-22 के घरेलू टी20 सीज़न में तानिया पंजाब की सबसे ज़्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ियों में से एक हैं।
टी20 चैलेंज के फ़ाइनल मैच में 10 गेंदों में 20 रनों की पारी खेल कर मैच में रोमांच को जीवित रखने वाली सिमरन ने भी इस सीज़न अपने गेंद और बल्ले से सबको प्रभावित किया है। उन्होंने दो मैचों में चार विकेट लिए हैं। हालांकि उनके विकेटों की संख्या बढ़ भी सकती थे लेकिन उनकी गेंदबाज़ी के दौरान उनके साथियों ने कई कैच छोड़े।
यही नहीं पिछले साल दिसंबर में खेले गए सीनियर महिला वनडे ट्रॉफ़ी में भी सिमरन ने काफ़ी बढ़िया प्रदर्शन किया था। पुछल्ले क्रम में वहां भी उन्होंने काफ़ी रन बनाया था।
टी20 चैलेंज में मेघना को बस एक ही मैच खेलने को मिला लेकिन उस मैच में उन्होंने 47 गेंदों 73 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। उस पारी में मेघना ने अपनी क्षमताओं का पुरज़ोर प्रदर्शन किया था।
घरले स्तर पर मेघना ने पिछले दो सीज़न में काफ़ी बढ़िया प्रदर्शन किया है। इसके अलावा मेघना ने भारतीय टीम के साथ अपने पहले सीरीज़ में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 4, 49, और 61 का स्कोर बनाया था।
भारतीय महिला टीम नए खिलाड़ियों को तलाशने या टीम में शामिल किए जाने के बाद उन्हें तराशने में कुछ ज़्यादा सफल नहीं रही है। जो भी नई खिलाड़ी टीम में कुछ समय के लिए आती हैं, उन्हें अपना रोल भी सही तरीक़े से नहीं पता होता है। हरलीन के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है। एक साल तक हरलीन को बल्लेबाज़ी क्रम के अलग-अलग स्थानों पर खेलने का मौक़ा दिया गया, जिसका परिणाम अच्छा नहीं रहा।
टी20 चैलेंज के पहले मैच में हरलीन ने 19 गेंदों में 35 रनों की पारी खेली। वह एक शानदार फ़ील्डर भी हैं। हरलीन उन खिलाड़ियों में से हैं, जिसे भारतीय टीम में फिर से मौक़ा मिल सकता है।
फ़रवरी 2019 में प्रिया को भारत के टी20 टीम में मौक़ा दिया गया था। उनका खेल वनडे प्रारूप के लिए ज़्यादा सही दिखता है। उन्होंने उस सीरीज़ में 4, 4 और 1 का स्कोर बनाया था। इसके बाद उन्हें टी20 क्रिकेट में कभी भी भारतीय टीम की तरफ़ से मौक़ा नहीं मिला।
अब महिला टी20 चैलेंज में प्रिया ने बढ़िया प्रदर्शन करते हुए, यह दिखाया कि अब चौके या सिक्सर मारने के मामले में पहले से बेहतर हो गई हैं। उन्होंने टी20 चैलेंज में 20 गेंदों में 22 रनों की पारी और 28 गेंदों में 29 रनों की पारी खेली। उन्होंने अपने सलामी जोड़ीदार डिएंड्रा डॉटिन का पूरा साथ दिया। इसके अलावा फील्डिंग में भी उन्होंने फ़ाइनल मैच में स्मृति मांधना और सोफ़िया डंकली का बढ़िया कैच पकड़ा।
आप इनमें से किस पारी को ज़्यादा याद रखेंगे - 34 गेंदों में 69 रनों की पारी या 13 गेंदों में शून्य की पारी। किरण नवगिरे ने टी20 चैलेंज के दौरान ये पारियां खेली थी। आपका जवाब कुछ भी हो लेकिन किरण के बारे में दो बातें एकदम सच हैं। पहला यह कि टी20 चैलेंज में उन्होंने जिस पावर के साथ अपने शॉट्स लगाए हैं वह एक अलग ही स्तर का था। दूसरा, अगर वह शॉर्टपिच गेंद के ख़िलाफ़ अपनी कमज़ोरी को दूर कर लेती हैं तो वह एक खतरनाक खिलाड़ी साबित हो सकती हैं। उन्होंने घरेलू टी20 श्रृंखलाओं में सबसे ज़्यादा रन बनाए हैं।
एकता बिष्ट को अब भारतीय टीम में शामिल नहीं किया जाता है। राजेश्वरी गायकवाड़ और राधा यादव वो बाएं हाथ की स्पिनर हैं, जिनके चयन के लिए विचार किया जाता है। राधा का प्रदर्शन ऊपर-नीचे होते रहता है। ऐसे में राशि के लिए भारतीय टीम में चयन का मौक़ा बन सकता है । महिला टी 20 चैलेंज के फ़ाइनल मैच में बाएं हाथ की स्पिनर राशि ने 4 ओवर में सिर्फ़ 22 रन दिए। वह उनका पहला मैच था।

ऑन्नेशा घोष ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।