मैच (5)
IPL (1)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

आंकड़ों में : भारत के लिए एक बहुत बुरा दिन

जॉस बटलर और रोहित शर्मा ने बनाया अनोखा रिकॉर्ड

पहली पारी का स्कोरबोर्ड  •  Getty Images

पहली पारी का स्कोरबोर्ड  •  Getty Images

3- भारत ने 78 रन बनाए, जो कि पहले बल्लेबाज़ी करते हुए उनका तीसरा सबसे कम स्कोर है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत ने 1987 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ 75 और 2008 में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 76 रन बनाए थे। 2- 2011 के बाद टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने वाली टीम का यह दूसरा सबसे कम स्कोर है। 2013 में न्यूज़ीलैंड, साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ सिर्फ़ 45 रन पर ऑल-आउट हो गई थी।
2- पिछले 50 साल में इंग्लैंड के सामने यह पहली पारी का दूसरा सबसे कम स्कोर है। इससे पहले 2010 में पाकिस्तान ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पहली पारी में 72 रन बनाए थे।
22- भारत की अंतिम छह साझेदारियों ने सिर्फ़ 22 रन जोड़े, जो कि पांचवा न्यूनतम हैं। रिकॉर्ड 11 रन का है, जो कि 2017 के पुणे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ हुआ था।
3- यह भारत का इंग्लैंड के ख़िलाफ़ तीसरा न्यूनतम स्कोर है। रिकॉर्ड 42 रन का है, जो कि 1974 लॉर्ड्स टेस्ट में बना था, वहीं ओल्ड ट्रैफ़र्ड में 1952 में भारत ने सिर्फ़ 58 रन बनाया था।
5- जॉस बटलर ने पहली पारी के पहले पांच विकेटों में अपना योगदान दिया। टेस्ट क्रिकेट में यह सिर्फ़ दूसरा मौक़ा है, जब कोई फ़ील्डर शुरू के पांचों विकेट में भागीदार रहा हो। 2014 के गाबा टेस्ट में भारत के ख़िलाफ़ ही ब्रैड हैडिन ने इससे पहले यह कारनामा किया था।
19 - रोहित शर्मा 19 रन बनाकर इस पारी के टॉप स्कोरर रहें। भारत के लिए इससे पहले सिर्फ़ तीन बार ऐसा हुआ है, जब किसी पारी में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर 19 रन से कम रहा हो।
120* - इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज़ रोरी बर्न्स और हसीब हमीद के बीच पहले दिन नाबाद 120 रनों की साझेदारी 2016 के बाद पहले विकेट के लिए इंग्लैंड की सबसे बड़ी साझेदारी है। 2016 में भारत में खेलते हुए हमीद ने ही उस समय के अपने कप्तान ऐलिस्टर कुक के साथ 180 रनों की साझेदारी निभाई थी। साथ ही यह 2011 के बाद इंग्लैंड की सलामी जोड़ी द्वारा इंग्लैंड में पहली शतकीय साझेदारी भी है।
2 - आज से पहले केवल दो बार ऐसा हुआ है जब टेस्ट मैच में पहले गेंदबाज़ी करने के बाद किसी टीम ने पहले दिन के अंत में बिना कोई विकेट गंवाए बढ़त हासिल की है। इससे पहले साल 2001 में न्यूज़ीलैंड ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ हैमिल्टन में और 2010 के बॉक्सिंग डे ऐशेज़ टेस्ट में इंग्लैंड ने यह कारनामा किया था।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है।