मैच (16)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
BAN v SL (1)
ख़बरें

कुंबले: अर्शदीप दबाव को काफ़ी अच्छी तरह से संभाल सकते हैं

टी20 विश्व कप में अपना पहला मैच खेलते हुए बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ ने बाबर, रिज़वान और आसिफ़ को आउट किया

अर्शदीप ने अपने चार ओवर में 32 रन देकर तीन विकेट लिए  •  Associated Press

अर्शदीप ने अपने चार ओवर में 32 रन देकर तीन विकेट लिए  •  Associated Press

पाकिस्तान के ख़िलाफ़ गेंदबाज़ी करते हुए अर्शदीप सिंह ने अपने पहली ओवर की पहली गेंद को अंदर की तरफ़ स्विंग कराते हुए, बाबर को पगबाधा आउट कराया।
अर्शदीप की शानदार गेंदबाज़ी की कहानी यहीं ख़त्म नहीं हुई। उन्होंने इसके बाद मोहम्मद रिज़वान और आसिफ़ अली को भी एक बेहतरीन शॉर्ट गेंद पर कैच आउट कराया। उन्होंने अपने पूरे स्पेल में सिर्फ़ 32 रन दिए।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के टी20 टाइम आउट कार्यक्रम में अनिल कुंबले ने कहा, "वह अभी काफ़ी युवा हैं। शायद अभी वह 21 या 22 साल के होंगे। पिछले तीन वर्षों में मैंने देखा है कि वह एक बहुत ही परिपक्व गेंदबाज़ बन गए हैं। साथ ही वह दबाव को काफ़ी बढ़िया तरीक़े से संभाल सकते हैं और शांत मिजाज़ के खिलाड़ी हैं। यहां तक ​​कि जब एशिया कप में जब उन्होंने कैच छोड़ा तो उसके बाद भी उन्होंने बढ़िया गेंदबाज़ी की।"
कुंबले जिस कैच के ड्रॉप होने की बात कही, वह मामला एशिया कप में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए मैच का जिक्र कर रहे थे, जो सुपर 4 स्टेज में हुआ था। उस मैच में अर्शदीप ने 18वें ओवर में आसिफ़ की कैच छोड़ दी थी। उस वक़्त पाकिस्तान को 16 गेंदों में 31 रन बनाने की आवश्यकता थी। उसक बाद अर्शदीप आख़िरी ओवर गेंदबाज़ी करने आए। अंतिम छह गेंदों में सात रनों की आवश्यकता थी और अर्शदीप इस मैच को पांचवें गेंद तक लेकर गए।
कुंबले ने कहा, "अपनी पहली गेंद पर (एमसीजी में) बाबर आज़म का विकेट लेना शानदार था। उन्हें पाकिस्तान के तीन मुख्य बल्लेबाज़ रिज़वान, आज़म और आसिफ़ का विकेट मिला। जिस तरह से उन्होंने गेंदबाज़ी की और उन्होंने अपना उत्साह बनाए रखा, वह अद्भुत है।"
कुंबले, जो अर्शदीप के कोच रहे हैं और आईपीएल में पंजाब किंग्स में उनके गेंदबाज़ी को काफ़ी क़रीब से देखी है। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि कैसे उन्होंने अपनी गेंदबाज़ों नए-नए कौशल को जोड़ा है।
कुंबले ने कहा, "शुरुआत में वह गेंद को स्विंग नहीं करा पा रहे थे। फिर किंग्‍स के गेंदबाज़ी कोच रहे डेमियन राइट ने उन पर काम किया। उन्होंने ट्रेंट बोल्ट के साथ भी काम किया था ,जब वह न्यूज़ीलैंड के कोच थे। मैं वास्तव में खुश हूं कि अर्शदीप सिर्फ़ गेंद को दोनों तरफ़ स्विंग करा रहे हैं।"