मैच (17)
MLC (3)
ZIM v IND (1)
LPL (2)
TNPL (1)
T20 Blast (7)
RHF Trophy (3)
ख़बरें

राशिद : सेमीफ़ाइनल में पहुंचना घर मैं बैठे युवाओं के लिए प्रेरणादायक है

नवीन ने भी बांग्‍लादेश को हराने के बाद इस जीत को अवास्‍तविक अनुभव बताया

Rashid Khan and Gulbadin Naib soak in Afghanistan's historic win, Afghanistan vs Bangladesh, Super Eight, Group 1, Men's T20 World Cup 2024, Kingstown, June 24, 2024

बांग्‍लादेश पर जीत को राशिद ने बताया अविश्‍वसनीय  •  AFP/Getty Images

राशिद खान ने टी20 विश्व कप सेमीफ़ाइनल में पहुंचने के बाद अफ़ग़ानिस्तान के प्रयास को "अविश्वसनीय एहसास" बताया है और कहा है कि यह स्वदेश में बैठे युवाओं के लिए "बड़ी प्रेरणा" होगी।
राशिद ने बांग्‍लादेश को हराने के बाद और ऑस्‍ट्रेलिया को टूर्नामेंट से बाहर करने के बाद कहा, "मुझे लगता है कि सेमीफ़ाइनल में पहुंचना अफ़ग़ानिस्‍तान के युवाओं के लिए बहुत ही बड़ी प्रेरणा होगी। यह अफ़ग़ानिस्‍तान टीम पहली बार सेमीफ़ाइनल में पहुंची है। हमने यह अंडर-19 स्‍तर पर किया है, लेकिन इस स्‍तर पर अभी तक ऐसा नहीं किया था। यहां तक कि हम सुपर 8 में भी पहली बार पहुंचे हैं। यह अद्भुत एहसास है। हम इस स्‍तर के हैं, लेकिन चीज़ों को आम रखना जरूरी है और अब तक इस टूर्नामेंट में हमने ऐसा ही किया है। हां कुछ मुश्किल समय आया है लेकिन हमने स‍िर नहीं झुकाए और हमेशा मज़बूती के साथ वापसी करने की कोशिश की।"
एक समय अफ़ग़ानिस्‍तान का स्‍कोर पांच विकेट पर 115 रन था, लेकिन राशिद और नवीन उल हक़ ने आपस में चार-चार विकेट बांटकर बांग्‍लादेश को 105 रनों पर समेट दिया।
राशिद ने मैच के बाद कहा, "यह बतौर टीम सेमीफ़ाइनल में पहुंचना एक सपने की तरह है। हमने इस टूर्नामेंट में बहुत अच्‍छी शुरुआत की। हमें यह विश्‍वास न्‍यूज़ीलैंड को हराने के बाद आया। तो यह अविश्‍वनीय एहसास है। मेरे पास अपने ज़ज्‍़बात बयां करने के लिए कोई शब्‍द नहीं है। बिल्‍कुल घर पर सभी लोग बहुत ही अधिक खुश होंगे।"
"एक ही इंसान थे जिन्‍होंने हमें सेमीफ़ाइनल में देखा था, वह ब्रायन लारा थे। जब उन्‍होंने हमने वेल्‍कम पार्टी दी तो मैंने उनसे कहा था, 'हम आपको नहीं झुकने देंगे। हम साबित करेंगे कि आप सही हैं।'"
अफ़ग़ानिस्‍तान को नॉकआउट में पहुंचने के लिए बस एक जीत की ज़रूरत थी और बांग्‍लादेश के लिए यह मुश्किल था क्‍योंकि उनको 12.1 ओवर में लक्ष्‍य हासिल करना था। लेकिन बारिश आने के बाद मैच कहीं बार इधर से उधर हुआ लेकिन आख़‍िर में अफ़ग़ानिस्‍तान ने मैच जीत लिया।
राशिद ने कहा, "हमारे दिमाग़ में यही था कि 130-135 का स्‍कोर इस विकेट पर सही है लेकिन हम 15-20 रन पीछे रह गए। लेकिन कुछ मैच हमने यहां पर देखे जहां पर इस विकेट पर 115 ही काफ़ी स्‍कोर था। यह बस माइंडसेट की बात है। हम जानते थे कि वह इस स्‍कोर तक 12 ओवर में पहुंचना चाहेंगे और इसी का हमने फ़ायदा उठाया।"
"अगर हम स्‍टंप्‍स पर गेंद रखते तो हमारे पास उनको ऑलआउट करने का मौक़ा था। हमें इससे अधिक कुछ करने की ज़रूरत नहीं थी। हम अपने प्‍लान पर साफ़ थे। 100 प्रतिशत देने के बाद चीज़ें हमेशा आपके हाथ में होती हैं। बारिश आपके हाथों में नहीं है। हमने अपने देश में बैठे लोगों को गौरान्वित किया है। यही बात हमने आपस में कि थी और सभी ने बेहतरीन काम किया।"
राशिद ने अपने तेज गेंदबाज़ों प्‍लेयर ऑफ़ द मैच चुने गए नवीन उल हक़ और टूर्नामेंट में सबसे अधिक विकेट लेने वाले फ़ज़लहक़ फ़ारूक़ी की भी तारीफ़ की। बांग्‍लादेश के ख़‍िलाफ़ दोनों ने तीन ओवर में उनको 23 रनों पर तीन विकेट पर रोक दिया।
राशिद ने कहा, "उन्‍होंने हमारा काम आसान कर दिया। टी20 में अगर आप अच्‍छी शुरुआत करते हो तो इससे हमारे स्पिनरों को मध्‍य ओवरों में बल्‍लेबाज़ों पर आक्रमण करने का मौक़ा बनता है। इससे पहले हमें यही कमी महसूस होती थी। वे केवल तेज़ गेंदबाज़ी नहीं करते हैं बल्कि कौशल से भी भरपूर हैं। टी20 में अगर आपके पास कौशल है तो आप और प्रभावी बनते हैं। वे बेहतरीन दिखे और इसे देखकर मैं बहुत खुश हूं।"
नवीन ने इसको "अवास्‍तविक अनुभव" बताया। शुरुआत में विकेट लेने के बाद उन्‍होंने अंत में लगातार दो गेंदों पर तस्किन अहमद और मुस्‍तफ़‍िज़ुर रहमान के भी विकेट लिए।
उन्‍होंने कहा, "मुझे लगता है कि यह ऐसे मैच हैं जिनमें आपको नहीं पता कि क्‍या हो सकता है। एक बाउंड्री खाने के बाद लगता है कि मैच आपके हाथ से फ‍िसल गया। एकदम से आप विकेट लेने हैं और आप मैच में लौट आते हैं। तो ग़लती की गुंजाइश बेहद कम है। लेकिन हां हमें आत्‍मविश्‍वास था कि इन पिचों पर अधिक रन नहीं बनेंगे। अगर हम अधिक रन या ख़राब गेंदबाज़ी नहीं करें तो हम मैच में हैं। खुशकिस्‍मती से ऐसा हो गया।"