मैच (6)
LPL (2)
TNPL (1)
MLC (2)
ZIM v IND (1)
ख़बरें

मांजरेकर : विराट कोहली और रोहित शर्मा के बजाय मैं युवा टीम को तरजीह देता

मांजरेकर ने कहा कि अगर वह चयनकर्ता होते तो शिवम दुबे की जगह रिंकू सिंह को विश्व कप दल में रखते

टी20 विश्व कप 2024 में अपने अभियान की शुरुआत से पहले भारत ने अभ्यास मैच में बांग्लादेश को 60 रनों के अंतर से पटखनी दे दी। हालांकि इस जीत के बावजूद भारतीय टीम की सलामी जोड़ी को लेकर तस्वीर पूरी तरह से साफ़ नहीं हुई है। ESPNcricinfo के विशेषज्ञ और पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर का मानना है कि रोहित शर्मा के साथ विराट कोहली को ही भारतीय पारी का आगाज़ करना चाहिए। हालांकि मांजरेकर ने यह भी कहा कि अगर वह ख़ुद चयनकर्ता होते तो एक युवा टीम के साथ विश्व कप में जाते।
मांजरेकर ने कहा, "जिस तरह के दल का चुनाव हुआ है उससे भारतीय टीम ने ख़ुद के लिए ही दिक्कत बढ़ाई हैं। क्योंकि अगर आपने IPL में भी देखा होगा तो विराट कोहली पहले छह ओवर में तेज़ शुरुआत कर रहे थे। तो अगर उन्हें यह फ़ायदा ना मिले तो फिर समस्या हो सकती है। क्योंकि नंबर तीन पर वैसा एडवांटेज नहीं मिलता। कोहली नंबर तीन पर उतने असरदार नहीं होंगे।"
बांग्लादेश के ख़िलाफ़ अभ्यास मैच में यशस्वी जायसवाल रोहित के साथ पारी का आग़ाज़ करने नहीं आए। रोहित के साथ संजू सैमसन ने पारी की शुरुआत की थी। यह इस बात का संकेत हो सकता है कि विश्व कप में भारतीय टीम रोहित और कोहली से पारी का आगाज़ कराने की रणनीति के साथ उतरे। हालांकि ऐसी स्थिति में जायसवाल के लिए प्लेइंग इलेवन में जगह बनानी मुश्किल हो जाएगी, लेकिन मांजरेकर ने टॉप ऑर्डर को लेकर एक और कॉम्बिनेशन सुझाया है, जिससे जायसवाल को भी एकादश में फ़िट किया जा सकता है।
मांजरेकर ने कहा, "अगर बाएं और दाएं हाथ के कॉम्बिनेशन को सुनिश्चित करने के लिए यशस्वी जायसवाल को खिलाना ही है तो मैं कहूंगा कि विराट कोहली की बजाय रोहित शर्मा को नंबर तीन पर खिलाना चाहिए। क्योंकि कोहली की तुलना में नंबर तीन पर रोहित की बल्लेबाज़ी में इतना फ़र्क नहीं पड़ेगा। लेकिन यह शायद नहीं होगा, यशस्वी जायसवाल बाहर बैठेंगे।"
जायसवाल अगर बाहर बैठते हैं तब ऐसी स्थिति में भारतीय टीम के सामने अगली चुनौती यह होगी कि आख़िर नंबर तीन पर भारत के लिए बल्लेबाज़ी कौन करेगा। अभ्यास मैच में ऋषभ पंत ने नंबर तीन पर बल्लेबाज़ी भी की और उन्होंने अर्धशतक भी लगाया। अगर रोहित और कोहली पारी की शुरुआत करते हैं तब एक बाएं हाथ का बल्लेबाज़ होने के नाते इस स्थान पर पंत की दावेदारी और भी मज़बूत हो जाती है। हालांकि मांजरेकर अलग राय रखते हैं।
मांजरेकर ने कहा, "मेरे नंबर तीन संजू सैमसन होंगे। हां, लेकिन कीपर की पहली पसंद पंत ही होंगे और वह भी मेरे एकादश का हिस्सा होंगे। मैं पंत और सैमसन दोनों को ही अपनी टीम में रखूंगा क्योंकि युवा खिलाड़ियों की यह फ़ौज टी20 क्रिकेट उसी तरह खेलती है जैसे हम टेस्ट क्रिकेट खेला करते थे। टेस्ट क्रिकेट हमारे लिए नैचुरल गेम था और युवा खिलाड़ियों को टी20 क्रिकेट काफ़ी सूट करता है।"
टी20 विश्व कप में स्पिनर्स को काफ़ी मदद मिलने की संभावना है और इसलिए भारतीय टीम में भी स्पिनर्स की भरमार है। शिवम दुबे को जब भारतीय दल में चुना गया था तब इसके पीछे स्पिन के ख़िलाफ़ बड़े हिट्स लगाने की उनकी क्षमता को बड़ा कारण माना गया था। हालांकि IPL के दूसरे चरण में दुबे वह प्रभाव नहीं छोड़ पाए थे और अभ्यास मैच में भी वह 16 गेंदों पर 14 रन ही बना पाए।
ख़ुद मांजरेकर की प्लेइंग इलेवन में दुबे की जगह नहीं है। मांजरेकर ने तो यह भी कहा कि अगर वह चयनकर्ता होते तो विश्व कप में दुबे के ऊपर रिंकू सिंह को तरजीह देते।
"मैं प्लेइंग इलेवन में दुबे की जगह नहीं देखता। अगर मैं चयनकर्ता होता तो उनकी जगह पर रिंकू सिंह मेरे दल में होते। क्योंकि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में रिंकू ने बहुत बढ़िया प्रदर्शन किया था। लेकिन IPL को ज़्यादा अहमियत दी जाती है। चयनकर्ताओं ने कहा था कि वे IPL के प्रदर्शन को उतनी तवज्जो नहीं देंगे लेकिन रिंकू सिंह क्योंकि IPL में ज़्यादा कुछ नहीं कर पाए, इसलिए टी20 अंतर्राष्ट्रीय में उनके प्रदर्शन को सभी भूल गए। साउथ अफ़्रीका में उन्होंने साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ टी20 में बढ़िया प्रदर्शन किया था। टी20 अंतर्राष्ट्रीय के एक इन फ़ॉर्म बल्लेबाज़ को ड्रॉप कर के उन्होंने दुबे को टीम में लिया है लेकिन शुरुआती कुछ मैचों में मेरी टीम में दुबे की जगह नहीं होगी।"
अभ्यास मैच में हार्दिक पंड्या की 40 रनों की पारी को अगर छोड़ दिया जाए तो IPL का बीता सीज़न हार्दिक के लिए संतोषजनक नहीं रहा। हार्दिक 13 पारियों में 18 की औसत और 143 के स्ट्राइक रेट से 231 रन ही बना पाए।
वहीं जायसवाल भी IPL में वैसा प्रदर्शन नहीं कर पाए जैसी उनसे उम्मीद थी। जायसवाल ने 15 पारियों में 155.91 के स्ट्राइक रेट से 455 रन बनाए लेकिन इसमें एक शतक और एक अर्धशतक के अलावा अधिकत्तर अवसरों पर वह ख़ास प्रभाव नहीं छोड़ पाए। लेकिन मांजरेकर मानते हैं कि IPL की फ़ॉर्म का जायसवाल और हार्दिक पर असर नहीं पड़ेगा।
"IPL का फ़ॉर्म मुझे नहीं लगता कि हार्दिक पर असर डालेगा। हार्दिक एक बड़े स्टेज के खिलाड़ी हैं। इसलिए मुझे लगता है कि वह IPL के अपने ख़राब प्रदर्शन से पीछा छुड़ा लेंगे। IPL लंबा टूर्नामेंट होता है और उसका दबाव दूसरा होता है।"
भारत का पहला मैच 5 जून को आयरलैंड के ख़िलाफ़ है। मांजरेकर का मानना है कि आयरलैंड के ख़िलाफ़ तीन स्पिनर के साथ मैदान में उतरना बुरी रणनीति नहीं होगी। लेकिन फिर ऐसी स्थिति में तेज़ गेंदबाज़ी में मांजरेकर जसप्रीत बुमराह के जोड़ीदार के रूप में किसे देखना पसंद करेंगे?
"आयरिश खिलाड़ी सीम के विरुद्ध ज़्यादा सहज होंगे। (युजवेंद्र) चहल, कुलदीप (यादव) और (रवींद्र) जाडेजा मेरे तीन स्पिनर्स होंगे। अर्शदीप (सिंह) और बुमराह तो तेज़ गेंदबाज़ होंगे और हार्दिक तीसरे सीमर की भूमिका निभाएंगे।"

नवनीत झा ESPNcricinfo में कंसल्टेंट सब एडिटर हैं।