मैच (14)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

'समय की प्रतिबद्धता' के कारण भारत और ऑस्ट्रेलिया के कोच नहीं बने रिकी पोंटिंग

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने खुलासा किया कि मुख्य कोच के रूप में द्रविड़ की नियुक्ति से पहले बीसीसीआई ने उनसे संपर्क किया था

एक साल में 300 दिन घर से दूर नहीं रह सकते हैं पोंटिंग  •  Getty Images

एक साल में 300 दिन घर से दूर नहीं रह सकते हैं पोंटिंग  •  Getty Images

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग 'समय की प्रतिबद्धताओं' के कारण ऑस्ट्रेलियाई और भारतीय टीमों के साथ कोच की भूमिका निभाने में सक्षम नहीं हैं। पोंटिंग ने कहा, "साल में 300 दिन घर से दूर रहना ऐसी चीज़ नहीं है जो मैं करूंगा," वह भी एक युवा परिवार के साथ। उन्होंने यह भी खुलासा किया कि टी20 विश्व कप के बाद रवि शास्त्री के कार्यकाल की समाप्ति के बाद राहुल द्रविड़ के पदभार संभालने से पहले उनसे भारत के मुख्य कोच बनने के लिए संपर्क किया गया था।
पोंटिंग ने द ग्रेड क्रिकेटर पॉडकास्ट को बताया, "सच कहूं तो समय ही एकमात्र चीज़ है जो मुझे (वह नौकरी लेने से) रोक रहा है। मैं ऑस्ट्रेलियाई टीम को कोच करना पसंद करूंगा लेकिन एक खिलाड़ी के तौर पर अपने करियर के दौरान मैं अपने परिवार से लंबे समय तक दूर रहा हूं। मेरा अब एक युवा परिवार है, एक सात साल का लड़का है, और मैं साल में 300 दिन उससे दूर नहीं रहूंगा। वहीं आईपीएल मेरे लिए बहुत अच्छा काम करता है।"
उन्होंने आगे कहा कि उन्हें ख़ुश रखने और खेल के आसपास बनाए रखने के लिए पर्याप्त काम मिला है। इसके साथ-साथ वह परिवार के साथ पर्याप्त समय बिता सकते हैं।
पोंटिंग ने यह भी कहा कि उन्होंने आईपीएल के दौरान भारत के कोच बनने के प्रस्ताव के बारे में "कुछ बातचीत" की थी, लेकिन उन्हें "ठीक उसी कारण" के लिए इसे अस्वीकार करना पड़ा। वह इस बात से भी "हैरान" थे कि द्रविड़ ने यह पद संभाला, इसलिए क्योंकि उनके पास भी देखभाल करने के लिए एक युवा परिवार है। "जिन लोगों से मैंने बात की, वे इस योजना को सफल बनाने का पूरा प्रयास कर रहे थे। सबसे पहले तो मैं उस समय को छोड़ नहीं सकता, साथ ही इसका मतलब यह होता कि मैं आईपीएल में कोच नहीं हो सकता", पोंटिंग ने आगे बताया।
पोंटिंग ने यह भी पुष्टि की कि वह अगले आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के साथ बने रहेंगे, हालांकि उन्होंने अभी तक आधिकारिक तौर पर उनके साथ अपना अनुबंध नहीं बढ़ाया है। पिछले चार सत्रों से कैपिटल्स के मुख्य कोच के रूप में काम करने के बाद, उन्होंने कहा कि वह नए युवा खिलाड़ियों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं।
उन्होंने कहा, "मुझे जिन युवा खिलाड़ियों के साथ काम करने का मौक़ा मिला है उनमें से कुछ प्रतिभाशाली और अच्छे अच्छे लोग हैं। यही मैं करने में सक्षम होना चाहता हूं - पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर, आवेश ख़ान, ये लोग, हमारे पास सिस्टम में तीन-चार साल थे जो अब बेहतरीन आईपीएल खिलाड़ी, और कुछ तो अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी भी बन गए हैं।
मौजूदा फ्रेंचाइज़ी के लिए आईपीएल रिटेंशन की समय सीमा 30 नवंबर निर्धारित है। टीमें केवल चार खिलाड़ियों को बरक़रार रख सकती हैं। इस बारे में पोंटिंग ने कहा कि कैपिटल्स कोर खिलाड़ियों को बनाए रखने की कोशिश करेगी। हालांकि यह एक चुनौती होगी क्योंकि अगले आईपीएल में दो और टीमें जुड़ेंगी और जल्द ही एक बड़ी नीलामी होगी।