मैच (14)
IND v ENG (1)
PSL 2024 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
Marsh Cup (1)
NZ v AUS (1)
CWC Play-off (3)
WPL (1)
ख़बरें

पाकिस्तान मुख्य चयनकर्ता वसीम : हम बल्लेबाज़ी में अन्य टीमों से एक क़दम पीछे हैं

उनका मानना है कि पाकिस्तानी शीर्ष क्रम, मध्य क्रम पर भरोसा नहीं करता है

वसीम का मानना है कि हाल ही में पाकिस्तान का दौरा करने वाली इंग्लैंड की बल्लेबाज़ी पाकिस्तान से कहीं बेहतर थी  •  AFP/Getty Images

वसीम का मानना है कि हाल ही में पाकिस्तान का दौरा करने वाली इंग्लैंड की बल्लेबाज़ी पाकिस्तान से कहीं बेहतर थी  •  AFP/Getty Images

पाकिस्तान के मुख्य चयनकर्ता मोहम्मद वसीम का मानना है कि टी20 की अन्य शीर्ष टीमें पाकिस्तानी टीम से 'एक क़दम आगे' हैं। उन्होंने ख़ासकर बल्लेबाज़ी के संदर्भ में ये बातें कही हैं। उनका यह भी मानना है कि पाकिस्तान के शीर्ष क्रम, मोहम्मद रिज़वान और बाबर आज़म को अपने मध्य क्रम पर और 'विश्वास जताना' होगा।
उन्होंने जियो सुपर चैनल से बात करते हुए कहा, "हमें अभी भी आधुनिक टी20 क्रिकेट के अप्रोच को अपनाना बाक़ी है। इंग्लैंड और अन्य टीमें जिस तरह की क्रिकेट खेल रही हैं, वे हमसे निश्चित तौर पर एक क़दम आगे हैं। हमें अभी उस अप्रोच तक पहुंचने में थोड़ा और समय लगेगा क्योंकि उसके लिए कुछ खिलाड़ियों को भी पूरी तरह से तैयार होना होगा।"
उन्होंने आगे कहा, "अभी हमारा मध्य क्रम, शीर्ष क्रम के लिए पूरक का काम कर रहा है। हमें इससे भी सफलता मिली है। हमारा 2021 विश्व कप अच्छा गया था और हमने घर पर भी अच्छा प्रदर्शन किया है। हमारी सफलता का दर अच्छा ही रहा है। वर्तमान समय में हमारे लिए यह अच्छा रहेगा कि हम अपनी बैटिंग अप्रोच को अच्छे से मिश्रित करें।" हालिया समय में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए पाकिस्तान के शीर्ष तीन बल्लेबाज़ रिज़वान, बाबर और फ़ख़र ज़मान पारी को एंकर करते हैं, जिससे मध्य और निचले मध्य क्रम को बल्लेबाज़ी के लिए बहुत कम गेंदें मिलती हैं। वहीं लक्ष्य का पीछा करते हुए यह रणनीति बदल जाती है।
वसीम ने कहा, "अंतिम रणनीति तो कोच और कप्तान ही बनाते हैं। मैं अपने चयन में यह ज़ोर देता हूं कि निचले मध्य क्रम को भी भरपूर मौक़ा मिले, ताकि टीम को और बेहतर परिणाम मिल सके। आसिफ़ अली, ख़ुशदिल शाह और इफ़्तिख़ार अहमद को जब भी मौक़ा मिला है, उन्होंने अपने आप को साबित किया है। लेकिन उन्हें अभी और निरंतरता दिखाने की ज़रूरत है।"
इंग्लैंड के ख़िलाफ़ अंतिम और निर्णायक मैच में 210 रनों का पीछा करने उतरी पाकिस्तान टीम 33 रन पर तीन विकेट गंवाकर संघर्ष कर रही थी। इसके बाद शान मसूद और ख़ुशदिल ने 53 रन जोड़े। हालांकि इसके लिए उन्हें 7.1 ओवर लगे और फिर अंत के बल्लेबाज़ों के लिए आवश्यक रन रेट बहुत अधिक हो गया।
वसीम ने कहा, "मुझे लगता है कि उन्हें शायद सही मैसेज नहीं दिया गया है। निचले मध्य क्रम के बल्लेबाज़ अपने विकेट को बहुत अधिक मूल्य देते हैं। शान और ख़ुशदिल के बीच जो साझेदारी हुई है वह निराशाजनक थी। इससे टीम को कुछ नहीं मिलने वाला था। जब आप लक्ष्य का पीछा करते हैं तो आपको लक्ष्य पता होता है, उसी हिसाब से आपको अपनी योजना बनानी चाहिए।"
इस समस्या का एक समाधान यह भी हो सकता है कि स्पिन ऑलराउंडर शादाब ख़ान और मोहम्मद नवाज़ को नियमित रूप से नंबर चार और पांच पर बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिले।
वसीम कहते हैं, "सभी टीमों का मज़बूत और कमज़ोर पक्ष होता है। हमारी बल्लेबाज़ी थोड़ी कमज़ोर है। एक कोच के रूप में मैं शादाब और नवाज़ को ऊपर बल्लेबाज़ी करते हुए देखना पसंद करूंगा। मैंने इस बारे में टीम प्रबंधन से भी बात की है और आप निकट भविष्य में ऐसा होता हुआ देख सकते हैं। इससे मध्य क्रम को कुछ आकार मिलेगा। दोनों बल्लेबाज़ स्पिन को अच्छा खेल लेते हैं, स्ट्राइक रोटेट करते हैं और अच्छी स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी कर पारी की गति को बढ़ाते हैं।"
वसीम से जब पूछा गया कि क्या पाकिस्तानी टीम अपने सलामी बल्लेबाज़ों पर कुछ अधिक निर्भर नहीं है, तो उन्होंने कहा, "ऐसा लगता है कि शीर्ष क्रम, मध्य क्रम पर उतना विश्वास नहीं करता है, लेकिन इसे सुधारा जा सकता है। एक बल्लेबाज़ के रूप में आप निराश हो सकते हैं, लेकिन आपको दूसरे समूह को भी देखना होगा। मेरा ख़्याल है कि मुख्य कोच ने इस बारे में बल्लेबाज़ों से बात की होगी। यह अच्छी बात नहीं है कि दो विकेट गिरने के बाद पूरी टीम आउट हो जाती है। हमें अन्य बल्लेबाज़ों पर भी विश्वास जताना होगा।"
इंग्लैंड के ख़िलाफ़ सीरीज़ के बाद पाकिस्तान को न्यूज़ीलैंड में एक टी20 त्रिकोणीय श्रृंखला खेलना है, जिसमें मेज़बान टीम के अलावा तीसरी टीम बांग्लादेश की होगी। इसके बाद टीम टी20 विश्व कप के लिए ऑस्ट्रेलिया पहुंचेगी।