मैच (11)
आईपीएल (2)
RHF Trophy (4)
Pakistan vs New Zealand (1)
WT20 Qualifier (4)
रिपोर्ट

रूट के शतक से इंग्लैंड की स्थिति मज़बूत

डेब्यू कर रहे आकाश को पहले सत्र में ही मिले तीन विकेट

रूट के टेस्ट करियर का यह 31वां टेस्ट शतक है  •  Associated Press

रूट के टेस्ट करियर का यह 31वां टेस्ट शतक है  •  Associated Press

इंग्लैंड 302/7 (रूट 106*, फ़ोक्स 47, आकाश 3/70)
भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे चौथे टेस्ट के पहले दिन इंग्लैंड ने 300 से ऊपर रन बनाकर अपनी स्थिति मज़बूत कर ली है। इंग्लैंड की तरफ़ से अनुभवी बल्लेबाज़ जो रूट ने अपने करियर का 31वां टेस्ट शतक लगाया और जब एक छोर से विकेट गिर रहे थे, वह दूसरे छोर को लगभग पूरे दिन थामे रहे। भारत की तरफ़ से पहला टेस्ट खेल रहे आकाश दीप ने पहले सत्र में ज़रूर तीन विकेट लिए, लेकिन उसके बाद कोई भी गेंदबाज़ प्रभावित नहीं कर सका।
दिन की शुरुआत में इंग्लैंड के कप्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला किया ताकि टूटती हुई पिच पर उन्हें चौथी पारी में लक्ष्य का पीछा ना करना पड़े। हालांकि डेब्यू कर रहे बंगाल के तेज़ गेंदबाज़ आकाश ने इस फ़ैसले को ग़लत साबित करने की कोशिश की। उन्होंने नई गेंद से लगातार विकेट टू विकेट गुड लेंथ गेंदबाज़ी की और स्टंप पर अंदर आती गेंदों से इंग्लिश शीर्षक्रम को परेशान किए रखा।
सबसे पहले उन्होंने पिछले मैच के शतकवीर बेन डकेट (11) को विकेट के पीछे लपकवाया, जो उनकी राउंड द विकेट से बाहर निकलती गेंद को समझ नहीं पाया और बल्ला अड़ा दिया। दो गेंद बाद ऑली पोप (0) भी आकाश की अंदर आती गुड लेंथ गेंद पर पगबाधा होकर पवेलियन में थे। अगले ही ओवर में आकाश ने अंदर आती गेंद से ज़ैक क्रॉली का स्टंप उड़ाया, जो कि 42 गेंदों में 42 रन बनाकर ख़तरनाक दिख रहे थे।
दिन के दूसरे घंटे में भारत के अनुभवी स्पिनरों ने जलवा दिखाना शुरू किया। जहां अश्विन ने तेज़ी से खेल रहे जॉनी बेयरस्टो (35 गेंदों में 38 रन) को विकेट के सामने पकड़ा, वहीं रवींद्र जाडेजा ने विपक्षी कप्तान स्टोक्स को नीची रहती गेंद से पगबाधा आउट किया। सिर्फ़ 112 रन पर पांच विकेट खोकर इंग्लैंड की टीम लंच तक कमज़ोर स्थिति में दिख रही थी।
लेकिन इसके बाद अनुभवी रूट ने विकेटकीपर बल्लेबाज़ बेन फ़ोक्स (47) के साथ मिलकर पारी को संभाला। दोनों ने पिछले टेस्ट मैचों के विपरीत संभलकर खेलना शुरू किया और जब कमज़ोर गेंद मिली, तब ही शॉट खेले। ख़ासकर रूट बहुत ही अधिक सतर्क दिख रहे थे, जिन्हें पिछली पारियों में बैज़बॉल के तहत रिवर्स शॉट खेलने के लिए आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा था। दोनों के बीच 261 गेंदों में 113 रनों की साझेदारी हुई, जिनमें रूट का योगदान 59 रनों का था।
भारत को दूसरे सत्र में एक भी विकेट नहीं मिला। तीसरे सत्र की शुरुआत में मोहम्मद सिराज ने ज़रूर दो विकेट लेकर भारत के लिए कुछ उम्मीदें जगाईं, लेकिन रूट एक छोर पर टिके रहे और उन्होंने आकाश को डीप एक्स्ट्रा कवर पर चौका मारकर 219 गेंदों में अपना 21वां शतक पूरा किया।
दिन के अंतिम घंटे में नौवें नंबर पर आए ऑली रॉबिन्सन (31) ने रूट का बख़ूबी साथ दिया और सुनिश्चित किया कि इंग्लैंड और कोई विकेट ना गंवाए व 300 के स्कोर को पार हो। स्टंप के समय रूट 226 गेंदों में 106 रन बनाकर खेल रहे हैं, जिसमें नौ चौके शामिल हैं।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।dayasagar95

Language
Hindi
मैच कवरेज
AskESPNcricinfo Logo
Instant answers to T20 questions
भारत पारी
<1 / 3>

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप