मैच (16)
आईपीएल (1)
WI vs SA (2)
ENG v PAK (W) (1)
ENG v PAK (1)
USA vs BAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (1)
Comment

अपनी ही बनाई हुई गंदगी से ख़ुद को बाहर निकालने के लिए क्रिकेट को एक साथ आने की ज़रूरत है

कोविड के समय में खेल पहले से ही चुनौतीपूर्ण है। अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम को तत्काल पुनर्मूल्यांकन की आवश्यकता है

Covid times: The dugout is sanitised before players' arrival, Chennai Super Kings vs Royal Challengers Bangalore, IPL 2020, Dubai, October 25, 2020

Covid times: कोविड 19 के कारण अंतर्राष्‍ट्रीय कार्यक्रम पूरी तरह से अस्‍त व्‍यस्‍त हुआ है  •  BCCI

हॉलीवुड के हास्य-कलाकार स्टेन लॉरेल और ऑलिवर हार्डी की मशहूर लाइन, "ठीक है, यहां एक और बढ़िया गड़बड़ है, जहां आप मुझे पहुंचा दिए हैं", क्रिकेट के वर्तमान कार्यक्रम की स्थिति पर आसानी से लागू हो सकती है। हास्य-कलाकारों के मामले में हार्डी ने अपने बुदबुदाते साथी लॉरेल पर एक और बड़ी गलती का आरोप लगाया। क्रिकेट इसके लिए ख़ुद को दोषी मान सकता है, अव्यवहारिक कार्यक्रम, जिसे कोविड महामारी ने लैंड माइन की तरह उड़ा दिया है।
सबसे पहले, कोविड के प्रकोप के बाद साउथ अफ़्रीका में दिसंबर 2020 की वनडे सीरीज़ से इंग्लैंड ने हाथ पीछे खींच लिए। कार्यक्रम ब्रेकडाउन की गति हाल ही में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पांच मैचों की सीरीज़ में आख़िरी टेस्ट खेलने से भारत के इनकार के साथ तेज़ हुई। इसके बाद न्यूज़ीलैंड ने पाकिस्तान के साथ टी20 और वनडे सीरीज़ से अंतिम क्षणों में नाम वापस ले लिया, जिसने इंग्लैंड को उस देश के अपने प्रस्तावित पुरुषों और महिलाओं के दौरे को रद्द करने के लिए प्रेरित किया।
इसमें कोई संदेह नहीं है कि महामारी के दौरान बिना किसी बाधा के क्रिकेट दौरों को पूरा करना अनिश्चित बात है। बस दिन-प्रतिदिन जीवित रहना वर्तमान माहौल में एक उपलब्धि है। फिर भी, पाकिस्तान के साथ किया गया व्यवहार, विशेष रूप से, अत्यधिक कठोर प्रतीत होता है, जिस तरह से उन्होंने महामारी के दौरान निःस्वार्थ रूप से अन्य देशों का दौरा किया है।
पाकिस्तान ने अब इस खेल के बारे में एक सबक सीख लिया है, जिसे इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और निपुण प्रसारक टोनी लुईस ने एक बार ऑन एयर रहते हुए स्पष्ट रुप से बता दिया था। इंग्लैंड की टीम ने गर्मियों के पहले टेस्ट में शुरुआती विकेटों के नुकसान के बाद ख़ुद को मुश्किल में पाया था। "आह, यह बेहतर है," लुईस ने कहा, "अब इंग्लैंड के खिलाड़ी स्थिति की वास्तविकता को समझेंगे - हर आदमी अपने लिए है।" या, जैसा कि यह कहना अधिक सही हो सकता है कि आधुनिक क्रिकेट की भाषा में - "प्रत्येक पुरुष और महिला अपने लिए है।"
यह विशेष रूप से अफ़ग़ानिस्तान के संवेदनशील मामले में है, जहां खूंखार तालिबान ने महिला खेल को ना कहा दिया है। इससे ना ​केवल अफ़ग़ानिस्तान की पुरुष टीम के ऑस्ट्रेलिया के साथ अपना पहला टेस्ट रद होने की प्रबल संभावना बन रही है, बल्कि टेस्ट खेलने वाले देशों की सूची से भी उनके निष्कासन की संभावना बन गई है। अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्रम प्रभावित हो गया है, जिसमें कई दरारें नज़र आती है।
स्थिति और भी कठिन हो सकती है, जब इंग्लैंड के खिलाड़ियों को उन प्रतिबंधों के बारे में बताया जाएगा, जो ऑस्ट्रेलिया के ऐशेज़ दौरे के दौरान लागू होंगे। गंभीर रूप से ऐशेज़ सीरीज़ या जल्दबाज़ी में व्यवस्थित प्रतिस्थापन दौरे के बीच ऑस्ट्रेलिया को पाकिस्तान जैसे देशों के अनुभव के लिए सहानुभूति महसूस हो सकती है।
क्या यह संभवतः "बिग थ्री" में से एक को अन्य देशों की दुर्दशा के लिए सहानुभूति की भावना के साथ आईसीसी की संकटकालीन बैठक में ला सकता है? केवल एक आशावादी ही उस प्रश्न का उत्तर "हां" में देगा।
फिर भी इसकी ज़रूरत है - कुछ सहानुभूति, कोविड व्यवधानों के कारण अंतर्राष्ट्रीय कैलेंडर के लिए। क्रिकेट के दृष्टिकोण से, महामारी से केवल एक ही तरीक़े से निकला जा सकता है, वह है कार्यक्रम का गहन पुनर्मूल्यांकन।
हालांकि, इसके लिए क्रिकेट देशों को खेल के सर्वोत्तम हित में निर्णय लेने की दृष्टि से अच्छे विश्वास के साथ एक साथ आने की आवश्यकता होगी। जैसा कि हमने पिछले कुछ वर्षों में देखा है, और विशेष रूप से हाल के दिनों में, ऐसा होने की संभावना लगभग वैसी ही है जैसी डॉनल्ड ट्रंप ने विनम्रता प्रदर्शित की थी।
इस सदी के पहले दशक की शुरुआत में जब खेल के प्रशासकों ने सुनहरे सफ़र का अनुभव किया और इसके अंत में आईपीएल की खोज की, तो उन्होंने अनजाने में खिलाड़ियों के हाथों में भारी शक्ति हस्तांतरित कर दी। प्रशासकों के लिए उस पक्ष में कॉल करने और खेल के लिए बेहतर और अधिक न्यायसंगत भविष्य का नक्शा बनाने के लिए खिलाड़ियों के साथ काम करने का इससे बेहतर समय नहीं है।
यदि वह स्थिति उत्पन्न होती है और परिणाम एक व्यावहारिक कार्यक्रम है जो सभी को समायोजित करता है, तो क्रिकेट को अपने स्वयं के निर्माण का मौक़ा मिलने के लिए महामारी को धन्यवाद कहना होगा।

ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान इयन चैपल कॉलमिस्‍ट हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।