मैच (9)
द हंड्रेड (पुरुष) (2)
CWC League 2 (1)
द हंड्रेड (महिला) (2)
महाराजा टी20 (2)
ओमान बनाम बहरीन (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
ख़बरें

रोहित शर्मा के बैकअप के तौर पर मयंक अग्रवाल एजबेस्टन टेस्ट में जुड़ेंगे टीम के साथ

मयंक को क्वारंटीन से नहीं गुज़रना होगा लिहाज़ा अगर ज़रूरत पड़ी तो वह खेलने के लिए उपलब्ध रहेंगे

Mayank Agarwal bats on the first morning of the Mohali Test, India vs Sri Lanka, 1st Test, Mohali, 1st day, March 4, 2022

मयंक अग्रवाल ने आख़िरी बार मार्च में श्रीलंका के ख़िलाफ़ घरेलू सीरीज़ में भारत के लिए टेस्ट खेला था  •  BCCI

भारतीय सलामी बल्लेबाज़ मयंक अग्रवाल को एजबेस्टन टेस्ट के लिए टीम इंडिया के साथ जुड़ने के लिए कहा गया है। इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ का ये आख़िरी टेस्ट एक जुलाई से खेला जाना है। सोमवार की शाम तक वह इंग्लैंड पहुंच जाएंगे और टीम इंडिया के साथ जुड़ जाएंगे। इंग्लिश सरकार की नई गाइडलाइन के मुताबिक़ मयंक को क्वारंटीन होने की ज़रूरत नहीं है, लिहाज़ा वह खेलने के लिए उपलब्ध रहेंगे।
मयंक इस दल का हिस्सा नहीं थे लेकिन फिर केएल राहुल चोट की वजह से टीम से बाहर हुए और अब रोहित शर्मा के कोरोना संक्रमित होने की वजह से उनके खेलने पर संशय बरक़रार है। ऐसे में मयंक को रोहित का बैकअप माना जा रहा है और अगर शुक्रवार को होने वाले टेस्ट में रोहित उपलब्ध नहीं होते हैं तो मयंक और शुभमन गिल पारी का आग़ाज़ करते नज़र आ सकते हैं।
मयंक ने आख़िरी बार भारत के लिए इसी साल मार्च में श्रीलंका के ख़िलाफ़ दो टेस्ट मैचों की सीरीज़ खेली थी। इस दौरान उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा था, उन्होंने 19.66 की औसत से सिर्फ़ 59 रन बनाए थे।
उसके बाद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में वह पंजाब किंग्स के कप्तान थे और फिर रणजी ट्रॉफ़ी में कर्नाटका का भी प्रतिनिधित्व किया। आईपीएल 2022 में मयंक ने 16.33 की औसत से महज़ 196 रन बनाए थे और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 122.5 ही रहा था।
उनका यही प्रदर्शन पंजाब के छठे स्थान पर आईपीएल ख़त्म करने की एक बड़ी वजह में से एक था। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री ने भी उनके इस फ़ॉर्म पर सवाल उठाए थे और कहा था कि ऐसा ही रहा था वह शायद भारतीय टीम से भी अपना स्थान खो बैठेंगे और हुआ भी वही।
"मुझे मयंक की बल्लेबाज़ी बहुत पसंद है। मैं जानता हूं वह कितने प्रतिभाशाली और अपने खेल को लेकर प्रतिबद्ध हैं। लेकिन उनका मौजूदा फ़ॉर्म उन्हें संकट में डाल सकता है, उनकी भारतीय टेस्ट टीम से जगह भी जा सकती है। क्योंकि चयनकर्ता अक्सर आपके वर्तमान फ़ॉर्म को देखते हैं, और उसी हिसाब से वह फ़ैसला लेते हैं।"
रवि शास्त्री, पूर्व भारतीय कोच
एजबेस्टन टेस्ट पिछले साल से खेली जा रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ का ही हिस्सा है। चार टेस्ट मैच हो चुके थे जिसमें भारत 2-1 से आगे है और आख़िरी टेस्ट से पहले टीम इंडिया के ख़ेमे में कोरोना ने दस्तक दे दी थी, जिसके बाद पांचवें टेस्ट को स्थगित करना पड़ा था।

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है। @imsyedhussain