मैच (16)
IPL (3)
PAK v WI [W] (1)
Pakistan vs New Zealand (2)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Comment

'पंत, पंड्या, जाडेजा और अश्विन को एक साथ खेलते देखना चाहता हूं' : चैपल

'चारों अगर एक साथ खेलें, तो भारतीय टेस्ट टीम और मज़बूत हो जाएगी'

अश्विन का टीम में होना अनिवार्य है  •  Getty Images

अश्विन का टीम में होना अनिवार्य है  •  Getty Images

इस बात में कोई संदेह नहीं कि भारत एक मज़बूत टेस्ट टीम है। पहले ऑस्ट्रेलिया में सीरीज़ जीतकर और फिर इंग्लैंड को 2-1 से पछाड़कर उन्होंने लगातार ऐसा साबित किया है। घर पर तो वे पहले से ही अपराजेय हैं।
लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि टीम में सुधार की संभावना ही नहीं है। अच्छी टीमें हमेशा सुधार की संभावना ढूंढती रहती हैं, तभी वे शीर्ष पर होती हैं। 1920 के दशक में ऑस्ट्रेलिया के कप्तान हर्बी कॉलिंस ने कहा था कि टीम चयन का आधार टीम संतुलन होना चाहिए।
भारत का सही टीम संतुलन वही है, जिसमें आर अश्विन अनिवार्य रूप से शामिल हों। वह सभी परिस्थितियों के गेंदबाज़ हैं, जैसा कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में साबित किया था। इसलिए भारतीय टीम मैनेजमेंट को उन्हें अंतिम एकादश में फ़िट करने की ज़रूरत है।
दाएं और बाएं हाथ के बल्लेबाज़ मध्य क्रम में एक साथ खेलें, इसलिए ओवल टेस्ट की दोनों पारियों में रवींद्र जाडेजा को नंबर पांच पर भेजा गया। अगर जाडेजा इस क्रम पर सफल हो जाते हैं, तो भारतीय टीम को तेज़ गेंदबाज़ी ऑलराउंडर की पहेली सुलझानी होगी। अगर हार्दिक पंड्या पूरी तरह फ़िट होते हैं, तो वह इस स्थान के सबसे प्रमुख दावेदार होंगे, लेकिन हाल के दिनों में शार्दुल ठाकुर भी एक विकल्प बन कर उभरे हैं। यह भारतीय टीम की गहराई को दिखाता है।
निचले मध्य क्रम में जाडेजा, पंत, पंड्या और अश्विन की उपस्थिति भारतीय बल्लेबाज़ी को मज़बूती और गहराई प्रदान करेगी। इसके बाद तीन तेज़ गेंदबाज़ खिलाने का विकल्प हमेशा खुला रहेगा, जो स्पिनर्स और पंड्या के साथ किसी भी पिच और परिस्थितियों में 20 विकेट लेने का माद्दा रखते हैं।
जाडेजा-पंत-पंड्या-अश्विन की चौकड़ी की सबसे अच्छी बात है कि ये बल्लेबाज़ी में विविधता प्रदान करेंगे। पंत इस चौकड़ी के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ हैं, वह नंबर पांच पर आ सकते हैं, ख़ासकर तब जब भारत पहले बल्लेबाज़ी करे। लेकिन अगर भारत दूसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करता है और पंत विकेटकीपिंग के कारण थके होते हैं, तो जाडेजा या पंड्या में से कोई नंबर पांच पर आ सकता है।
पंत, जाडेजा और पंड्या की सबसे ख़ास बात यह है कि ये तीनों आक्रामक खिलाड़ी हैं और मैच के किसी भी मोड़ पर रन गति बढ़ाने की क्षमता रखते हैं। अगर भारत ने अच्छी शुरूआत की हो, तो वे इसे बड़ी पारी में बदल सकते हैं। वहीं लक्ष्य का पीछा करने की स्थिति में भी वे उपयोगी हैं।
ऐसी स्थिति में भारत को अजिंक्य रहाणे को ड्रॉप करना होगा। इसका एकमात्र नुक़सान यह होगा कि भारत एक अच्छा स्लिप फ़ील्डर खो देगा। टेस्ट मैचों में भी रोहित शर्मा उपकप्तानी की ज़िम्मेदारी निभाने के लिए तैयार दिख रहे हैं। अगर भारतीय टीम अपने मध्यक्रम में यह बदलाव कर अश्विन को प्राथमिकता देती है तो यह और भी घातक टीम हो जाएगी। अन्य टीमों के लिए यह बहुत ख़तरनाक बात है कि सबसे सफल टीम होने के बावजूद भारतीय टीम में अभी भी सुधार की गुंजाइश है।

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान इयन चैपल ESPNcricinfo में स्तंभकार हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है।