मैच (19)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
ख़बरें

क्यों चहल की जगह राहुल चाहर? कैसे अश्विन लौटे टीम में?

हमने किशन, चाहर, अश्विन, अक्षर, वरुण और शमी के चयन के कारणों पर नज़र डाली

टी20 विश्व कप के लिए चुनी गई भारतीय टीम में नौ खिलाड़ियों का चुना जाना तो लगभग तय था, जो थे विराट कोहली, रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जाडेजा, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार।
दूसरे छह या नौ (रिज़र्व मिलाकर) स्थान के लिए बड़ी प्रतिस्पर्धा थी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में पिचें धीमी रहेंगी और स्पिनरों के मुफ़ीद। ऐसे में टीम में बेहतर स्पिनरों का होना और ऐसे बल्लेबाज़ों का शामिल होना ज़रूरी था जो स्पिन को अच्छे से खेल सकें। इसी को देखते हुए टीम में इशान किशन, राहुल चाहर, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, वरुण चक्रवर्ती और मोहम्मद शमी का चयन हुआ।
रविचंद्रन अश्विन
अश्विन ने जब अपना पिछला सफ़ेद गेंद से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला था, तब से अब तक भारत ने 63 टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेले। वह पिछली बार 2017 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले थे, लेकिन वह आईपीएल में कमाल की फ़ॉर्म में थे। वॉशिंगटन सुंदर के चोटिल होने से अश्विन के रुप में ही ऑफ़ स्पिन का सटीक विकल्प मौजूद था। आईपीएल 2020 से अश्विन पावरप्ले के बेहतरीन गेंदबाज़ हैं। इस दौरान पावरप्ले में उनसे ज़्यादा (7) किसी ने आईपीएल में विकेट नहीं लिए हैं और वह भी 7.34 के इकॉनमी के साथ। वह बायें हाथ के बल्लेबाज़ों को अक्सर मुश्किलों में डालते आए हैं। उन्होंने आईपीएल 2020 से पावरप्ले में बायें हाथ के बल्लेबाज़ों को 70 गेंद की है और 6.77 के इकॉनमी और 26.33 के औसत से गेंदबाज़ी की। टी20 मैचों को जीतने के लिए सही विकल्प को मैदान पर उतारना ज़रूरी है। जिन टीमों में शीर्ष क्रम पर कई बायें हाथ के बल्लेबाज़ हैं, ऐसी टीमों के ख़िलाफ़ भारत अश्विन को उतारने के बारे में सोच सकता हअश्विन के शामिल होने का मतलब है कि भारत के पास पांच स्पिनर है और तीन ही तेज़ गेंदबाज़।
प्रमुख चयनकर्ता चेतन शर्मा ने स्पष्ट करते हुए बताया था कि यह फ़ैसला स्पिनरों के मुफ़ीद रहने वाली पिचों को देखते हुए लिया गया है। उन्होंने कहा, "अगर ऐसी विकेट है कि जहां आप केवल दो तेज़ गेंदबाज़ों के साथ खेल सकते हो तो इसका कोई मतलब नहीं है कि अतिरिक्त तेज़ गेंदबाज़ बेंच पर बैठे रहें। इसकी जगह आपके पास ऐसे खिलाड़ी होने ज़रूरी हैं जो मैच में आपके लिए उपयुक्त साबित हो सकें और इसीलिए टीम में स्पिनर और ऑलराउंडर हैं।
इशान किशन
किशन इस टीम के प्रतियोगी साल के शुरुआत में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ बेमिसाल पदार्पण करने के बाद बने, जहां उन्होंने 32 गेंद में 56 रनों की पारी खेली थी। यही वजह रही कि उन्हें अन्य बल्लेबाज़ों शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, श्रेयस अय्यर (रिज़र्व) और संजू सैमसन पर तरज़ीह दी गई और वह छठे बल्लेबाज़ के तौर पर टीम में शामिल हुए। शर्मा ने कहा, "किशन ओपनर के तौर पर भी खेल सकते हैं और मध्य क्रम में भी किसी भी समय उतर सकते हैं। अय्यर आईपीएल के पहले हाफ़ में चोटिल होने की वजह से नहीं खेल पाए थे, यही वजह उनके चयन के ख़िलाफ़ गई।"
अन्य चीज़ जो किशन के पक्ष में गई वह है उनका बायें हाथ का बल्लेबाज़ होना। टीम में पंत के अलावा वह ही दूसरे बायें हाथ के बल्लेबाज़ हैं। इसका मतलब है कि वह लेग स्पिनरों और बायें हाथ के स्पिनरों के ख़िलाफ़ अच्छा कर सकते हैं। किशन को चुनने के बाद टीम के पास बैकअप विकेटकीपर, बैकअप ओपनर हो गया और साथ ही एक ऐसा खिलाड़ी जो मध्य ओवरों में स्पिनरों के ख़िलाफ़ आसानी से रन बना सकता है। यहां ध्यान देने वाली बात है कि उनका आईपीएल के मध्य ओवरों में स्पिनरों के ख़िलाफ़ स्ट्राइक रेट 124.45 का है और वह डेथ ओवरों में तेज़ रन भी बना सकते हैं। आईपीएल के डेथ ओवरों में उन्होंने स्पिनरों के ख़िलाफ़ 213.15 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।
राहुल चाहर
नंबरों के मामले में चाहर, युज़वेंद्र चहल से थोड़े ही अलग हैं। आईपीएल 2020 से मध्य ओवरों में उनके विकेट, औसत और इकॉनमी लगभग समान हैं। चहल जहां पीछे रह गए उसका कारण उनका 2020 से हालिया फ़ॉर्म हो सकता है। उन्होंने 13 मैचों में 41.36 के औसत और 8.92 के इकॉनमी से 11 विकेट लिए। चाहर ने केवल चार टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेले लेकिन उनका औसत 18.33 और इकॉनमी 7.33 का रहा, जो उन्हें ज़्यादा बेहतर बनाता है। शर्मा ने भी चाहर के चयन के पीछे उनकी गेंद पर अच्छी ​ग्रिप और गति को बताया। शर्मा ने कहा, "आप ऐसा स्पिनर चाहते हो जो ज़्यादा गति से गेंदबाज़ी कर सके। हाल में हमने राहुल चाहर को गति के साथ गेंदबाज़ी करते देखा। चयनकर्ताओं का मानना था कि ऐसे स्पिनर की ज़रुरत है जो पिच पर ग्रिप बनाकर गेंदबाज़ी कर सके और कुछ ज़्यादा गति के साथ। इस दौरान चहल पर काफ़ी चर्चा हुई, लेकिन हम अंत में राहुल चाहर के साथ गए।"
अक्षर पटेल
वहीं, अक्षर, रवींद्र जाडेजा के सिर्फ बैकअप ही नहीं रहेंगे। उनका ऑलराउंड कौशल और गेंदबाज़ी उन्हें कई रोल में फ‍़िट करता है। आईपीएल 2020 से उनका इकॉनमी 6.55 का है और इस मामले में उनसे आगे केवल दो ही स्पिनर हैं, राशिद खान और सुंदर। वहीं अक्षर की विकेट लेने की क्षमता सुंदर से काफ़ी बेहतर है। उन्होंने 29.26 के औसत से 15 विकेट लिए। बायें हाथ के स्पिनर आम तौर पर बायें हाथ के बल्लेबाज़ों को काफ़ी पसंद आते हैं, लेकिन बायें हाथ के बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ उनकी इकॉनमी 6.83 है, जो आईपीएल 2020 से अन्य बायें हाथ के स्पिनरों से बहुत बेहतर है। उनकी बल्लेबाज़ी भी बेहतरीन रही है। उन्होंने आईपीएल 2020 से नंबर आठ से 11 के बीच 190.47 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। निचले क्रम के लिए उनसे बेहतर कोई नहीं हो सकता था।
Varun Chakravarthy
वरुण की विविधता और अनआर्थोडॉक्स ग्रिप्स, साथ ही रिलीज़ उन्हें टीम के दूसरे स्पिनरों से अलग बना देती है। जहां भारत ने चाहर को लेग स्पिनर और दो बायें हाथ के स्पिनर और अश्विन को चुना, उनमें से वरुण 'एक्स फ़ैक्टर' साबित हो सकते हैं। वरुण ने खुद को इस टीम का प्रतियोगी आईपीएल के द्वारा बनाया। आईपीएल 2020 से वह पावरप्ले, साथ ही मध्य ओवरों में विकेट लेने वाले शीर्ष पांच स्पिनरों में से एक हैं। वह आसानी से बायें और दायें हाथ के बल्लेबाज़ों को गेंदबाज़ी कर सकते हैं और वह भी अच्छी इकॉनमी के साथ। भारत जिस ग्रुप में उनके काफ़ी बल्लेबाज़ आईपीएल में नहीं खेलते हैं, ऐसे में वरुण बेहतर साबित हो सकते हैं। शर्मा ने कहा, "दुनिया नहीं जानती कि वरुण चक्रवर्ती कैसे गेंदबाज़ी करते हैं। हम ही नहीं जानते तो बल्लेबाज़ क्या जानेंगे?"
मोहम्मद शमी
बुमराह या भुवनेश्वर का बैकअप तेज़ गेंदबाज़ बनने के लिए शमी एकदम उपयुक्त हैं, क्योंकि इन दोनों की ही तरह वह भी पावरप्ले और डेथ ओवरों में गेंदबाज़ी कर सकते हैं। डेथ ओवरों में गेंदबाज़ी में माहिर होने की वजह से ही उन्हें शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर पर तरज़ीह मिली। शमी ने आईपीएल 2020 से डेथ ओवरों में 14 विकेट लिए है, जो दीपक और मोहम्मद सिराज के बराबर हैं। वह गेंद को दोनों तरफ़ हिला सकते हैं और सबसे बड़ी बात जब वह अपनी लय में होते हैं तो उन्हें खेलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है, फ़ॉर्मैट कोई सा भी हो।
स्टैट्स इंपुट संपत बंदारुपल्ली

सौरभ सोमानी ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है। @nikss26