मैच (9)
SL v AFG (1)
PSL 2024 (3)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

रेटिंग्‍स : सूर्यकुमार की बेहतरीन पारी से भारत को मिली जीत

हार्दिक, कुलदीप और अर्शदीप ने भी निभाया अहम रोल

इस बार मैच के मुताबिक सूर्यकुमार ने अलग तरह की पारी खेलकर जिताया  •  Associated Press

इस बार मैच के मुताबिक सूर्यकुमार ने अलग तरह की पारी खेलकर जिताया  •  Associated Press

एक मुश्किल पिच पर भारतीय टीम ने न्‍यूज़ीलैंड को दूसरे टी20 में छह विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज़ में 1-1 की बराबरी कर ली है। तो चलिए देख लेते हैं कि इस मैच में किस भारतीय खिलाड़ी ने कितने रेटिंग्‍स हासिल किए हैं।

क्या सही क्या ग़लत

सही बात यह रही कि एक स्पिन पिच पर भारतीय टीम ने तीन स्पिनर खिलाने का काम किया। लेग स्‍टंप पर गिर रही गेंद ऑफ़ स्‍टंप के बाहर से निकल रही थी। इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि स्पिनर इस पिच पर किस तरह का बवाल काट रहे थे। कितने ही सालों बाद एक मुश्किल पिच पर गेंदबाज़ों का मैच देखने को मिला, जहां पर पूरे मैच में एक भी छक्‍का नहीं लगा।

इस मैच में क्‍या सही रहा, यह तो ख़ोजने के लिए कुछ दिन लग जाएंगे। तो चलिए ग़लत बताते हैं। जब भारत के कप्‍तान हार्दिक पंड्या टॉस के बाद बताकर गए कि टीम तीन स्पिनरों के साथ खेल रही है तो लगा था कि वह इस पिच को मेहमानों से अच्‍छे से समझ गए हैं, लेकिन अर्शदीप सिंह और शिवम मावी ने कुल तीन ओवर किए और तीन विकेट भी लिए जबकि हार्दिक 25 रन देकर केवल एक ही विकेट ले पाए। वैसे हार्दिक चहल के पूरे चार ओवर भी करा सकते थे।

(रेटिंग्स 1 से 10, सर्वाधिक 10)

इशान किशन, 7 : इस मुश्किल पिच पर जिस तरह से स्पिन को खेलते हुए किशन ने भारतीय पारी को संभाला वह क़ाब‍िले तारीफ़ था। 32 गेंद में 19 रन नहीं दिखाते कि किशन ने किस तरह की बल्‍लेबाज़ी की है। स्पिनरों की ख़राब गेंदों का उन्‍होंने अच्‍छे से फ़ायदा उठाया। वहीं विकेट के पीछे कॉन्‍वे का कैच और चैपमैन का रन आउट उनको सात अंक तो दिला ही सकता है।

शुभमन गिल, 5 : वनडे प्रारूप में शॉर्ट आर्म पुल या जैब जिस तरह से गिल के लिए बेहतरीन सा‍बित हो रहा है, वहीं टी20 क्रिकेट में इस मुश्किल पिच पर उनका यह शॉट परेशानी लेकर आ गया। वह लेंथ बॉल की ललचाहट में पुल लगाने गए और डीप स्‍क्‍वायर लेग पर अपना विकेट खो बैठे।

राहुल त्रिपाठी, 6 : 18 गेंद में केवल 16 रन। यह रन इस प्रारूप में जितना ख़राब दिखते हैं, अगर किसी ने लखनऊ की पिच पर इस मैच को देखा होगा तो वह तारीफ़ ही करेगा। त्रिपाठी लगातार प्रयास करते दिखे लेकिन क़ामयाब नहीं हो पा रहे थे, तब भी उनके यह रन टीम के काम आए।

सूर्यकुमार यादव, 9 : सूर्यकुमार यादव इस मैच में अपनी क़ाबिलियत से अलग खेले। उन्‍होंने स्पिन गेंदबाज़ी का पूरा सम्‍मान किया और ख़राब गेंद का फ़ायदा उठाया। भले ही उनकी स्‍वीप या इन साइड आउट ड्राइव काम नहीं आ रही थी, लेकिन विजयी चौका उन्हीं के बल्ले से आया।

हार्दिक पंड्या, 8 : अपनी शॉर्ट लेंथ गेंद पर हार्दिक क्‍या प्रभाव छोड़ सकते हैं यह लखनऊ की मुश्किल प‍िच पर देखने को मिला। पहले दो ओवरों में उन्‍होंने बल्‍लेबाज़ों को फंसाकर रखा। इसके बाद बीच में आकर ब्रेसवेल का विकेट चटकाया और बाद में बल्‍लेबाज़ी पर आकर 20 गेंद में 15 रन नाबाद बनाए और संयम के साथ टीम को जीत दिलाई।

वॉशिंगटन सुंदर, 7 : मेहमान टीम का सबसे बड़ा विकेट तो सुंदर को ही मिला, कॉन्‍वे को फ़्लाइट में फंसाकर उन्‍होंने उनको कैच कराया। वह चोटिल हुए बाहर गए और बाद में अपना तीसरा ओवर करने भी आए। ऑफ़ स्‍टंप के क़रीब की लेंथ गेंदबाज़ी में उन्‍होंने बल्‍लेबाज़ों को फंसाकर रख दिया और सूर्यकुमार के लिए बल्‍लेबाज़ी के समय अपना विकेट भी कुर्बान कर दिया।

दीपक हुड्डा, 7 : हुड्डा को हार्दिक ने पिच का मिजाज देखकर गेंदबाज़ी थमाई और उन्‍होंने फ़‍िलिप्‍स का विकेट भी चतुराई से चटकाया, लेकिन जब सुंदर गेंदबाज़ी के दौरान चोटिल हुए तो उन्‍होंने स्पिन की यह अहम भूमिका निभाई और चार ओवर में केवल 17 रन दिए।

कुलदीप यादव, 8 : जब एक पार्ट टाइम गेंदबाज़ की गेंद इतनी टर्न हो रही हो तो कोई भी असमंजस में फंस जाएगा। इसी का फ़ायदा कुलदीप को मिला। उन्‍होंने डैरिल मिचेल को अंदर आती ऐसी गेंद पर बोल्‍ड किया जो चौथे स्‍टंप पर थी। ऐसी गेंद बहुत कम देखने को मिलती है। इसी असमंजस में बल्‍लेबाज़ जूझते नज़र आए।

अर्शदीप सिंह, 8 : पिछला मैच भारत के हारने की वजह अर्शदीप का आख़‍िरी ओवर ही था, लेकिन इस मैच में अर्शदीप को अंतिम में दो ही ओवर करने को मिले और उसमें उन्‍होंने अपनी बाउंसर और विविधताओं के साथ दो विकेट चटका कर दिखाए।

युज़वेंद्र चहल, 6 : चहल अक्‍सर पावरप्‍ले में गेंदबाज़ी नहीं करते हैं, लेकिन पिच की टर्न को देखकर हार्दिक ने उन्‍हें पावरप्‍ले में मौक़ा दिया और फ़‍िन ऐलेन की रिस्‍क लेने की कोशिश चहल को उनका विकेट दिलाकर गई।

शिवम मावी, कोई अंक नहीं : शिवम के लिए इस मैच में अधिक करने के लिए कुछ नहीं था। उन्‍हें केवल एक ही ओवर मिला और वह 11 रन देकर निकल गए।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं। @nikss26