मैच (16)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
Women's Tri-Series (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : क्या शिखर और मयंक के गठजोड़ के पास है भुवनेश्वर का तोड़?

निकोलस पूरन राहुल चाहर के ख़िलाफ़ ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हैं

मयंक अग्रवाल और शिखर धवन को भुवनेश्वर कुमार का तोड़ निकालना होगा  •  BCCI

मयंक अग्रवाल और शिखर धवन को भुवनेश्वर कुमार का तोड़ निकालना होगा  •  BCCI

पंजाब किंग्स और सनराइज़र्स हैदराबाद के बीच आईपीएल के आंकड़े सनराइज़र्स के पक्ष में हैं। दोनों टीमों के बीच खेले गए कुल 18 मुक़ाबलों में सनराइज़र्स ने 12 मैचों में जीत दर्ज की है। हालांकि हर मुक़ाबला नया होता है, ऐसे में रविवार को दोनों ही टीमों के बीच एक रोचक मुक़ाबला देखने की उम्मीद है।
शिखर और मयंक के गठजोड़ के पास नहीं है भुवनेश्वर का तोड़
पंजाब किंग्स की सलामी जोड़ी मयंक अग्रवाल और शिखर धवन के पास सनराइज़र्स के स्ट्राइक गेंदबाज़ भुवनेश्वर कुमार का तोड़ नहीं है। दोनों ही बल्लेबाज़ों को भुवनेश्वर के विरुद्ध संघर्ष करते देखा गया है। भुवनेश्वर की 42 गेंदों पर शिखर ने 100 की भी कम की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। शिखर ने भुवनेश्वर के ख़िलाफ़ 98 की स्ट्राइक रेट से 41 रन बनाए हैं।
इतना ही नहीं शिखर ने टी नटारजन की भी 13 गेंदों पर 115 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। आंकड़े इस बात की गवाही देते हैं कि इन दोनों ही गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ शिखर को अपने हाथ खोलने में कठिनाई होती है।
वहीं पंजाब किंग्स के कप्तान और शिखर के जोड़ीदार मयंक को भी भुवनेश्वर के ख़िलाफ़ तेज़ गति से रन बनाने में दिक़्क़त आती है। मयंक ने आठ पारियों में भुवनेश्वर की कुल 29 गेंदों का सामना किया है, जिसमें उन्होंने 107 के स्ट्राइक रेट से 31 रन बनाए हैं। जबकि एक मर्तबा भुवनेश्वर ने उन्हें आउट भी किया है। ऐसे में, सलामी जोड़ी को बांध कर रखने की ज़िम्मेदारी भुवनेश्वर के कंधों पर होगी।
रबाडा और चाहर से बच के रहना
सनराइज़र्स के बल्लेबाज़ों को पंजाब किंग्स के तेज़ गेंदबाज़ कगिसो रबाडा और स्पिन गेंदबाज़ राहुल चाहर को खेलने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। सनराइज़र्स के कप्तान केन विलियमसन को छह पारियों में से दो बार रबाडा ने पवेलियन भेजा है। हालांकि इस दौरान विलियमसन ने रबाडा की गेंदों पर 160 की उम्दा स्ट्राइक रेट से 40 गेंदों में 64 रन बनाए हैं।
रबाडा की गेंदों पर निकोलस पूरन का रिकॉर्ड काफ़ी ख़राब है। पूरन ने अब तक कुल छह पारियों में रबाडा की 22 गेंदों का सामना किया है। इस दौरान पूरन ने 118 की स्ट्राइक रेट से 26 रन तो बनाए हैं, लेकिन दो मर्तबा उन्हें पवेलियन का रास्ता नापने पर भी मजबूर होना पड़ा है।
राहुल बनाम राहुल
रबाडा के अलावा राहुल सनराइज़र्स के बल्लेबाज़ों को परेशानी में डाल सकते हैं। दोनों टीमें जब रविवार को मैदान में उतरेंगी तब सनराइज़र्स के राहुल त्रिपाठी और पंजाब के राहुल के बीच कांटे का मुक़ाबला देखने को मिल सकता है। राहुल त्रिपाठी ने कुल तीन पारियों में अब तक राहुल चाहर की 18 गेंदों का सामना किया है। जिसमें 118 की स्ट्राइक रेट से उन्होंने 22 रन बनाए हैं। जबकि एक बार राहुल चाहर ने उन्हें पवेलियन भी भेजा है।
वहीं एडन मारक्रम भी राहुल चाहर के ख़िलाफ़ अपना पराक्रम दिखाने में अब तक नाकाम रहे हैं। मारक्रम ने चाहर की 15 गेंदों पर 18 रन बनाए हैं। वहीं चाहर ने एक बार उन्हें मैदान से बाहर का रास्ता भी दिखाया है।
चाहर को पूरन से है ख़तरा
भले ही पूरन रबाडा के ख़िलाफ़ हाथ न खोल पाते हों, लेकिन चाहर के ख़िलाफ़ वह ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हैं। पूरन ने चाहर की कुल 18 गेंदों पर 172 के स्ट्राइक रेट से 31 रन बनाए हैं। इस दौरान चाहर एक बार भी पूरन को आउट नहीं कर पाए हैं।

नवनीत झा ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं।