मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (2)
PAK v WI [W] (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : चेपॉक पर चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाज़ों को चकित कर सकते हैं चहल

मोईन और जाडेजा का हरफ़नमौला खेल लगा सकता है चेन्नई का बेड़ा पार

मोईन अली से एक बार फिर चेन्नई को काफ़ी उम्मीदें होंगी  •  BCCI

मोईन अली से एक बार फिर चेन्नई को काफ़ी उम्मीदें होंगी  •  BCCI

बुधवार को चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स इस सीज़न में पहली बार आमने सामने होंगी। दोनों ही टीमों का ज़ोर इस मुक़ाबले में जीत दर्ज कर सीज़न की तीसरी जीत हासिल करने पर होगा। हालांकि इस तीसरी जीत को सुनिश्चित करने के लिए दोनों टीमों की आंकड़ों की ज़मीन तलाश लेते हैं।
चेपॉक पर चकित कर सकते हैं चहल
अब तक खेले तीनों मुक़ाबले में चेन्नई की टीम बल्लेबाज़ों के ऊपर अधिक निर्भर रही है। हालांकि इस बार उनका सामना राजस्थान के युजवेंद्र चहल से होगा जो चेन्नई के बल्लेबाज़ों को पहले भी अपनी फिरकी से चकित कर चुके हैं। चहल ने पिछले मैच के हीरो रहे अजिंक्य रहाणे को टी20 की सात पारियों में तीन बार अपना शिकार बनाया है। इसके साथ ही उन्होंने ऋतुराज गायकवाड़, अंबाती रायुडू और महेंद्र सिंह धोनी को भी तीन-तीन बार पवेलियन भेजा है। जबकि मोईन अली और रवींद्र जाडेजा को भी दो-दो बार पवेलियन भेजा है। साफ़ है चहल चेन्नई के उपरी क्रम से लेकर निचले मध्य क्रम तक के बल्लेबाज़ों पर हावी रहे हैं। ऐसे में चहल की चुनौती से निपटना चेन्नई के बल्लेबाज़ों के लिए इतना भी आसान नहीं रहने वाला है।
चेन्नई की एक और चुनौती अश्विन की स्पिन
अगर चेन्नई के बल्लेबाज़ चहल पर नियंत्रण पा भी लें तब भी उन्हें रविचंद्रन अश्विन का सामना करना होगा और अश्विन की स्पिन के सामने भी चेन्नई के बल्लेबाज़ संघर्ष करते ही नज़र आते हैं। अश्विन ने रहाणे और रायुडू दोनों को ही टी20 में चार चार बार पवेलियन लौटाया है। जबकि मोईन अली को भी वह दो बार पवेलियन लौटा चुके हैं।चेपॉक से वैसे भी अश्विन की आईपीएल की पुरानी यादें तो जुड़ी हैं ही साथ ही वह यहां के लोकल बॉय भी हैं। ऐसे में अगर चेन्नई का यह लोकल अपनी गेंद से वोकल हो गया तो होम ग्राउंड पर चेन्नई के लिए खटिया खड़ी हो सकती है।
धोनी और बोल्ट का मुक़ाबला होगा मज़ेदार
अश्विन और चहल के अलावा ट्रेंट बोल्ट के आंकड़े भी प्रभावित करने वाले हैं। बोल्ट ने गायकवाड़ और रहाणे और धोनी को तीन तीन बार पवेलियन लौटाया है। हालांकि धोनी ने बोल्ट की 49 गेंदों पर 184 की स्ट्राइक रेट से 90 रन भी बनाए हैं। ऐसे में अगर धोनी की बल्लेबाज़ी पहले आती है तो बोल्ट और उनका मुक़ाबला देखने लायक होगा।
मोईन और जाडेजा दिखा सकते हैं कमाल
अगर राजस्थान के गेंदबाज़ शुरुआत में चेन्नई के बल्लेबाज़ों पर हावी रहते हैं तो चेन्नई काउंटर अटैक की ज़िम्मेदारी मोईन को सौंप सकती है। मोईन ने राजस्थान के अधिकतर गेंदबाज़ों के विरुद्ध चेन्नई की तरफ़ से बल्लेबाज़ी में 150 के आसपास और उससे अधिक के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। जेसन होल्डर ने उन्हें टी20 में तीन बार आउट ज़रूर किया है लेकिन उनकी 19 गेंदों पर वह 221 के स्ट्राइक रेट से 42 रन भी बना चुके हैं। मोईन गेंद से भी कमाल दिखा सकते हैं। उन्होंने जॉस बटलर को टी20 में तीन बार आउट किया है। जबकि बटलर ने उनकी 39 गेंदों पर 118 के स्ट्राइक रेट से 46 रन बनाए हैं।
मोईन के अलावा जाडेजा भी गेंद के साथ राजस्थान के बल्लेबाज़ों को परेशानी में डाल सकते हैं। उन्होंने टी20 में संजू सैमसन और शिमरॉन हेटमायर दो बार आउट किया है।