मैच (9)
इंग्लैंड बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
महाराजा टी20 (2)
आयरलैंड बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
द हंड्रेड (महिला) (1)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
ओमान बनाम बहरीन (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
रॉयल लंदन कप (1)
फ़ीचर्स

लेस्टर के साथ अभ्यास मैच से लाल गेंद की क्रिकेट में वापसी करेगी भारतीय टीम

पुजारा, पंत, बुमराह और प्रसिद्ध विपक्षी टीम से खेलेंगे

भारत अपने इंग्लैंड दौरे की शुरुआत लेस्टरशायर के विरुद्ध अभ्यास मैच से करेगा। प्रत्येक टीम में 13 खिलाड़ी होंगे और भारत के चार खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा, ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह और प्रसिद्ध कृष्णा लेस्टरशायर की ओर से खेलेंगे। भारत इस सीरीज़ में 2-1 से आगे है और अंतिम टेस्ट में जीत या ड्रॉ दर्ज कर वह 2007 के बाद इंग्लैंड में पहली बार टेस्ट सीरीज़ जीत सकता है। 2007 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में टीम इंडिया ने इंग्लैंड को उनकी धरती पर टेस्ट सीरीज़ में हराया था, जो कि अब टीम के कोच हैं।
द्रविड़ ने कहा है कि 2021 और वर्तमान की इंग्लैंड टीम में बहुत फ़र्क़ है। उस समय की इंग्लिश टीम बैकफ़ुट पर थी जबकि अभी वह टीम शानदार फ़ॉर्म में है। अलग टीम होने का मतलब यहां पर यह भी है कि नए कोच ब्रेंडन मक्कलम और नए कप्तान बेन स्टोक्स के नेतृत्व में इंग्लिश टीम आक्रामक और निर्भीक खेल दिखा रही है।
भारत ने इस साल मार्च के बाद से कोई टेस्ट नहीं खेला है। तब से पुजारा और शुभमन गिल को छोड़कर किसी ने भी लाल गेंद की क्रिकेट नहीं खेली है। इसके अलावा यह आईपीएल के बाद रोहित शर्मा, विराट कोहली, बुमराह, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, रवींद्र जाडेजा और शार्दुल ठाकुर की क्रिकेट मैदान पर वापसी भी है।
भारत ने 17 सदस्यीय दल की घोषणा की थी, लेकिन आर अश्विन के कोरोना पॉज़िटिव होने और केएल राहुल के चोटिल होने की वजह से इस टीम में अब सिर्फ़ 15 सदस्य हैं। राहुल ने पिछले साल रोहित के साथ कुछ अहम ओपनिंग साझेदारियां की थीं और वह जो रूट और रोहित के बाद सीरीज़ में तीसरे सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं। वहीं शुभमन के लिए यह दिसंबर, 2021 के बाद से पहला टेस्ट होगा। वह चोट के कारण पिछले इंग्लैंड दौरे से बाहर हो गए थे।
इसके अलावा यह मैच पुजारा और कोहली के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। साउथ अफ़्रीका में ख़राब फ़ॉर्म के कारण पुजारा को श्रीलंका के ख़िलाफ़ सीरीज़ से बाहर किया गया था, लेकिन काउंटी क्रिकेट में 120 की औसत से चार शतक के साथ 720 रन बनाने के बाद उनकी टीम इंडिया में वापसी हुई है।
वहीं कोहली निरंतरता की समस्या से जूझ रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अंतिम शतक बनाए हुए उन्हें 100 पारियां हो चुकी हैं। साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ में आराम करने के बाद वह गेंदबाज़ों पर दबदबा बनाने के लिए उतरेंगे जो कि उनकी ख़ासियत रही है।
वहीं आईपीएल में ख़राब फ़ॉर्म, चोट और कप्तानी से जूझने के बाद जाडेजा टीम में वापसी कर रहे हैं। उन्होंने पिछले साल इंग्लैंड दौरे पर चारों टेस्ट मैच खेले थे।

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं