मैच (5)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (1)
बांग्लादेश ए बनाम इंडिया ए (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
भारत अंडर-19 बनाम न्यूज़ीलैंड अंडर-19 (1)
ख़बरें

कर्नाटका के लिए खेलना मेरा पहला लक्ष्य है : एलआर चेतन

महाराजा ट्रॉफ़ी के तीसरे शतकवीर अपनी प्रतिभा से सभी को प्रभावित कर रहे हैं

Chethan LR celebrates his century, Maharaja T20 Trophy 2022, Bengaluru Blasters vs Shivamogga Strikers, Bengaluru, August 17, 2022

महाराजा ट्रॉफ़ी में शतक बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज़ बने एलआर चेतन  •  Maharaja T20

दौड़ में अव्वल आने वाला मायने रखता है। दूसरे या तीसरे स्थान पर रहने वाले को कोई याद नहीं करता। ऐसा मैं नहीं बल्कि अधिकतर लोग कहते हैं। हालांकि एलआर चेतन इस बात को ग़लत साबित कर रहे हैं।
बुधवार को जब कर्नाटका राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) की महाराजा ट्रॉफ़ी के दूसरे चरण की शुरुआत हुई, चेतन ने अपनी आक्रामक बल्लेबाज़ी से बेंगलुरु ब्लास्टर्स को एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में धमाकेदार जीत दिलाई। 55 गेंदों का सामना करते हुए इस युवा बल्लेबाज़ ने आठ चौकों और छह गगनचुंबी छक्कों की मदद से नाबाद 105 रन बनाए।
अपनी इस शतकीय पारी से चेतन ने सभी को अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। प्लेयर ऑफ़ द मैच चुने गए चेतन ने कहा, "मैंने इसी साल प्रथम डिविज़न में खेलना शुरू किया है। महाराजा ट्रॉफ़ी से पहले मुझे केएससीए की टी20 प्रतियोगिता में खेलने का अवसर मिला और वहां मेरे प्रदर्शन के चलते मुझे इस प्रतियोगिता के ड्राफ़्ट में जगह मिली।"
मैसूरु में रहने वाले चेतन 11वीं कक्षा में थे जब उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया। 2017, 2018 और 2019 में वह कर्नाटका प्रीमियर लीग के दौरान बॉल बॉय की भूमिका निभा रहे थे। सीमा रेखा के पास बैठकर मयंक अग्रवाल, मनीष पांडे और करुण नायर जैसे सुपरस्टार खिलाड़ियों को खेलते देखना उनके लिए किसी सपने से कम नहीं था।
बॉल बॉय की भूमिका निभाने के तीन साल बाद, महाराजा कॉलेज में बीबीए के छात्र, चेतन अब मयंक के साथ पारी की शुरुआत कर रहे थे। उनकी मंशा साफ़ थी, जाओ और विपक्षी गेंदबाज़ों के पसीने छुड़ा दो।
किसी भी नए खिलाड़ी के लिए इस स्तर पर राज्य के दिग्गज खिलाड़ियों के साथ खेलना आसान नहीं होता है। हालांकि जब कप्तान और कोच आपका समर्थन करते हैं तो सब कुछ आसान हो जाता है। चेतन ने बताया कि मयंक के साथ-साथ टीम के कोच नसीरउद्दीन और साथी खिलाड़ी केबी पवन उन्हें अपना स्वाभाविक खेल खेलने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।
रोहन पाटिल और अपने कप्तान मयंक के बाद चेतन महाराजा ट्रॉफ़ी में शतक जड़ने वाले केवल तीसरे बल्लेबाज़ बने। इस सूची में शामिल होकर वह प्रसन्न हैं लेकिन उन्होंने स्वीकार किया कि यह सरल नहीं था।
अपनी शतकीय पारी के बाद उन्होंने कहा, "मैं पहले कुछ मैचों में नर्वस था क्योंकि यह (टूर्नामेंट) टीवी पर आने वाला था और कई सारे लोग मैच देखने के लिए आ रहे थे। रोहन के शतक को देखकर मुझे एहसास हुआ कि मैं भी शतक लगा सकता हूं।"
चेतन इस समय 247 रनों के साथ सर्वाधिक रन बनाने वालों की सूची में चौथे स्थान पर हैं। उन्होंने बताया कि अपने शतकीय कारनामे के बाद कर्नाटका के लिए खेलना उनका सबसे बड़ा लक्ष्य है।
अपने क्रिकेट भविष्य के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "मैं इस खेल में थोड़ी देर से आया। दूसरे डिविज़न में खेलते समय में 16-17 साल का हो चुका था। अब मैं कर्नाटका के लिए खेलना चाहता हूं, यह मेरा पहला लक्ष्य है। मुझ जैसे खिलाड़ी के लिए महाराजा ट्रॉफ़ी एक बहुत बड़ा मंच है और मैं इसका पूरा लाभ उठाना चाहता हूं।"

अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।