मैच (6)
आईपीएल (2)
T20I Tri-Series (1)
ENG v PAK (1)
CE Cup (1)
USA vs BAN (1)
ख़बरें

गांगुली : पंत की जगह भरना आसान नहीं लेकिन सरफ़राज़ को मौक़े ज़रूर मिलने चाहिए

दिल्ली के क्रिकेट निदेशक ने पहले मैच में ख़राब विकेटकीपिंग के कारण आलोचना का शिकार बन रहे सरफ़राज़ का बचाव किया

Delhi Capitals' head coach Ricky Ponting with director of cricket Sourav Ganguly, Delhi, March 26, 2023

दिल्ली के प्रमुख कोच पोंटिंग के साथ गांगुली  •  Delhi Capitals

दिल्ली डेयरडेविल्स के क्रिकेट निदेशक सौरव गांगुली का मानना है कि सरफ़राज़ ख़ान ने लखनऊ सुपर जांयट्स के ख़िलाफ़ पहले मैच में भले ही विकेट के पीछे कुछ ग़लतियां की हों, लेकिन उन्हें आगे मौके ज़रूर मिलने चाहिए। उनका मानना है कि अगर आप कुछ ट्राई नहीं करते हैं, तो आपको कुछ नया भी नहीं मिलता है।
गुजरात टाइटंस के ख़िलाफ़ मंगलवार को होने वाले मैच से पहले प्रेस कॉन्फ़्रेंस में गांगुली ने कहा, "एक खेल के रूप में क्रिकेट काफ़ी बदल चुका है। आप ऐसे खिलाड़ियों को कीपर के रूप में देखते हैं, जो बल्लेबाज़ी भी कर सके। आप आईपीएल टीमों को ही देखिए, उनके पास केएल राहुल, निकोलस पूरन और महेंद्र सिंह धोनी जैसे कीपर हैं, जो रन भी बनाते हैं। अब यह एक ऑलराउंड पॉज़िशन है। सरफ़राज़ ने इस साल मुंबई के लिए विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी मैचों में कीपिंग किया था। हालांकि आईपीएल में दबाव थोड़ा अधिक होता है। उसने (सरफ़राज़ ने) सिर्फ़ एक मैच में ही कीपिंग किया है और सिर्फ़ 20 ओवर के आधार पर कोई निर्णय नहीं लिया जा सकता।"
ग़ौरतलब है कि लखनऊ के ख़िलाफ़ कीपिंग करने के दौरान सरफ़राज़ बहुत असहज नज़र आए। तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ उन्होंने कुछ आसान ग़लतियां की और विकेट के पीछे बाय रन दिए, वहीं 16वें ओवर में उन्होंने कुलदीप यादव की गेंद पर पूरन का स्टंपिंग चांस मिस किया। उस समय पूरन सिर्फ़ 10 रन के स्कोर पर थे। पूरन ने इस मैच में 21 गेंदों में दो चौकों और तीन छक्कों की मदद से 36 रन की पारी खेली और लखनऊ की पारी को 193 के चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। इस मैच में दिल्ली की टीम को 50 रन की बड़ी हार का सामना करना पड़ा था।
गांगुली ने कहा, "कुछ खिलाड़ी ऐसे होते हैं, जिनकी जगह भरना आसान नहीं होता है। ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर और जसप्रीत बुमराह उसी स्तर के खिलाड़ी है, लेकिन यह कुछ नए खिलाड़ियों के लिए मौक़ा भी होता है। जब धोनी ने खेलना बंद किया तभी पंत और बेहतर हुए। इसी तरह से खिलाड़ी बनते हैं। जब आप कुछ नई कोशिश करते हो तभी आपको कुछ नया मिलता है। मैंने राहुल द्रविड़ के साथ ऐसा किया था। केएल राहुल भी ऐसे ही उदाहरण हैं, जो सिर्फ़ बल्लेबाज़ थे लेकिन अब अंतर्राष्ट्रीय मैचों में भी कीपिंग कर चुके हैं।"
हालांकि जब गांगुली से पूछा गया कि क्या टीम में किसी विशेषज्ञ विकेटकीपर को इंपैक्ट खिलाड़ी के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है, तो उन्होंने इस संभावना से भी इनकार नहीं किया।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं. @dayasagar95