मैच (19)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
ख़बरें

कर्णेवार ने मचाई धूम : विश्व रिकॉर्ड के अगले दिन बने हैट्रिक के हीरो

सिक्किम के ख़िलाफ़ सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी के मैच में किया यह कमाल

कर्णेवार दोनों हाथों से स्पिन गेंदबाज़ी करने के लिए जाने जाते हैं  •  Prakash Parsekar

कर्णेवार दोनों हाथों से स्पिन गेंदबाज़ी करने के लिए जाने जाते हैं  •  Prakash Parsekar

सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी टी20 टूर्नामेंट में लगातार दूसरे दिन विदर्भ के अक्षय कर्णेवार ने सुर्ख़ियां बटोरी। मणिपुर के ख़िलाफ़ सोमवार को विश्व रिकॉर्ड अपने नाम करने वाले इस हरफ़नमौला खिलाड़ी ने सिक्किम के ख़िलाफ़ हैट्रिक दर्ज की। कुल मिलाकर चार विकेट अपने नाम कर उन्होंने विदर्भ को लगातार दूसरी बड़ी जीत दिलाई।
मंगलगिरी में टॉस जीतने के बाद फिर एक बार विदर्भ के कप्तान अक्षय वड़कर ने पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला किया। पिछले मैच की तरह इस मैच में भी कर्णेवार को बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा नहीं मिला और उन्होंने गेंद के साथ शानदार प्रदर्शन किया। पारी के सातवें ओवर में अपने स्पेल की शुरुआत करते हुए कर्णेवार ने सलामी बल्लेबाज़ अजीत कार्तिक को 15 रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने उतरे कप्तान क्रांति कुमार पहली ही गेंद पर कर्णेवार को कैच थमाकर पवेलियन लौट गए। सलामी जोड़ी द्वारा मिली अच्छी शुरुआत को मात्र दो गेंदों के भीतर कर्णेवार ने 37/2 कर दिया था।
अपनी पिछली दो गेंदों पर दो सफलताएं अर्जित कर कर्णेवार हैट्रिक पर थे। सभी की नज़र उन पर थी और उनके सामने थे विकेटकीपर बल्लेबाज़ आशीष थापा। कर्णेवार ने फिर एक बार अपनी फिरकी का जादू दिखाया और थापा को कैच आउट कर अपनी हैट्रिक पूरी की। यह दो दिनों में गेंद के साथ कर्णेवार का दूसरा धमाकेदार प्रदर्शन है। इससे पहले उन्होंने मणिपुर के ख़िलाफ़ लगातार चार मेडन ओवर डालने का कीर्तिमान स्थापित किया था।
हैट्रिक के बाद कर्णेवार रुके नहीं। अपने दूसरे ओवर की तीसरी ही गेंद पर उन्होंने निलेश लामीछाने को हिट विकेट कर अपना चौथा शिकार किया। अपने पूरे स्पेल में उन्होंने महज़ पांच रन ख़र्च किए और चार सफलताएं अपने नाम की। इसी के साथ पिछले दो मैचों में उनके अविश्वसनीय आंकड़े कुछ इस प्रकार है : 8-4-5-6।
पांच मैचों में पांच जीत के साथ विदर्भ की टीम क्वार्टर-फ़ाइनल में प्रवेश कर चुकी है। विश्व रिकॉर्ड स्पेल के बाद कर्णेवार के कोच के आंखों में ख़ुशी के आंसू थे और वह आज भी अपने शिष्य के प्रदर्शन से बहुत प्रसन्न है। वह उम्मीद करेंगे कि कर्णेवार आने वाले मैचों में अपने अच्छे फ़ॉर्म को बरक़रार रखें और अपना और अपने परिवार का नाम रोशन करें।

अफ़्ज़ल जिवानी (@ jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।