मैच (9)
ज़िम्बाब्वे बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
बीबीएल (1)
आईएलटी20 (2)
बीपीएल 2023 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (1)
सुपर स्मैश (1)
एसए20 (1)
ख़बरें

थाईलैंड के विरुद्ध खेली पारी ने बढ़ाया हरमनप्रीत का हौसला

उन्होंने इस पारी को चोट से उबरने के बाद आत्मविश्वास के लिए सबसे ज़रूरी बताया

हरमनप्रीत ने 30 गेंदों में 36 रन बनाए  •  Asian Cricket Council

हरमनप्रीत ने 30 गेंदों में 36 रन बनाए  •  Asian Cricket Council

भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि थाईलैंड के विरुद्ध खेली गई उनकी 36 रनों की पारी से उनके हौसले में बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने इस पारी को चोट से उबरने के बाद आत्मविश्वास के लिए सबसे ज़रूरी बताया।
हरमनप्रीत दो लीग मैच नहीं खेल पाईं लेकिन थाईलैंड के विरुद्ध उनकी वापसी ने भारतीय टीम को थाईलैंड के विरुद्ध 148 रनों के स्कोर तक पहुंचाया।
थाईलैंड पर जीत दर्ज करने के बाद भारतीय कप्तान ने कहा, "जेमिमाह और मेरे बीच हुई साझेदारी ने हमें बोर्ड पर स्कोर खड़ा करने में मदद की। जब आप अधिक नहीं खेल रहे होते हैं तो आपको आत्मविश्वास प्राप्त करने के लिए रन चाहिए होते हैं। मैं अब अपने खेल को लेकर अब अधिक आत्मविश्वास से भरी हुई हूं लेकिन मैं इस पर काम करना जारी रखूंगी। मुझे टीम के लिए योगदान देना हमेशा खुशी पहुंचाता है।"
थाईलैंड के विरुद्ध मिली जीत ने भारतीय टीम को लगातार आठवीं बार एशिया कप से फ़ाइनल में पहुंचा दिया, जिसमें चार एकदिवसीय एशिया कप के फ़ाइनल भी शामिल हैं। 2012 से पहले, एशिया कप एकदिवसीय प्रारूप में ही खेला जाता था।
हरमनप्रीत ने आगे कहा, "हमने अच्छी बल्लेबाज़ी की लेकिन थाईलैंड ने भी अच्छी गेंदबाज़ी करते हुए हमें आसानी से रन नहीं दिए। हमें काफ़ी मशक्कत करनी पड़ी। जब आप अक्सर बोर्ड पर 150 के स्कोर को छू लेते हैं तो निश्चित तौर पर यह आपको आत्मविश्वास से भरता है।"
लक्ष्य का बचाव करते हुए दीप्ति ने थाईलैंड को सबसे अधिक नुकसान पहुंचाते हुए सात रन देकर तीन विकेट झटके। जिसके फलस्वरूप थाईलैंड केवल 74 रन ही बना सकी। कप्तान हरमनप्रीत ने भी दीप्ति की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, "वह मैच के किसी भी चरण में गेंदबाज़ी करने के लिए तैयार रहती हैं। टीम में एक ऐसे गेंदबाज़ की मौजूदगी हमेशा आत्मविश्वास देती है।"
भारतीय टीम अब श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच होने वाले दूसरे सेमीफ़ाइनल के विजेता से फ़ाइनल में भिड़ेगा। हरमनप्रीत ने इस संबंध में कहा, "हम पूरी तरह से तैयार हैं। जिस किसी से भी हमारा सामना होता है, हमें उसी हिसाब से अपनी रणनीति तैयार करनी होगी।"
28 गेंदों में 42 रनों की पारी खेलने वाली शेफ़ाली वर्मा को प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया। इस पर शेफ़ाली ने कहा, "अब मैं थोड़ा आत्मविश्वास से भरी हुई महसूस कर पा रही हूं। मैं कड़ी मेहनत करना जारी रखूंगी, टीम के लिए योगदान देना मुझे हमेशा अच्छा लगता है। विकेट बल्लेबाज़ी के लिए अच्छी थी। स्मृति और जेमिमाह ने बढ़िया भी अच्छी बल्लेबाज़ी की। हमें साझेदारी पर ध्यान देने की ज़रूरत है।