मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (2)
PAK v WI [W] (1)
ख़बरें

इफ़्तिख़ार अहमद : भारत के ख़िलाफ़ मिली हार के बाद हम पीड़ा और दर्द में हैं

पाकिस्तानी बल्लेबाज़ के अनुसार ऐसा बर्ताव कर पाना संभव ही नहीं जैसे कुछ हुआ ही ना हो

इफ़्तिख़ार अहमद : "कप्तान और टीम प्रबंधन ने हमारा समर्थन किया है। हमारा हौसला बढ़ा हुआ है और हम हमेशा की तरह आत्मविश्वास से भरे हुए हैं"  •  Getty Images

इफ़्तिख़ार अहमद : "कप्तान और टीम प्रबंधन ने हमारा समर्थन किया है। हमारा हौसला बढ़ा हुआ है और हम हमेशा की तरह आत्मविश्वास से भरे हुए हैं"  •  Getty Images

भारत के ख़िलाफ़ मिली करारी हार के बाद पाकिस्तान के कप्तान बाबर आज़म के सामने अपने खिलाड़ियों के भीतर आत्मविश्वास को भरना सबसे बड़ी चुनौती थी। सोशल मीडिया पर चल रहे वीडियो में देखा जा सकता है कि खिलाड़ी बेहद निराश थे, कुछ के सिर पर हाथ थे, जो अभी अभी घटित हुआ था उसे समझने का प्रयास कर रहे थे। हालांकि बाबर ने बड़ी दृढ़ता और शांति के साथ अपने हाथों से इशारा करते हुए अपनी टीम का हौसला बढ़ाया।
भारत के विरुद्ध 34 गेंदों में 51 रनों की पारी खेलने वाले पाकिस्तानी बल्लेबाज़ इफ़्तिख़ार अहमद ने कहा, "बाबर ने हमसे कहा कि यह हमारा अंतिम मैच नहीं है। यह मैच अब समाप्त हो चुका है और हमने भरपूर प्रयास किया। कप्तान और टीम प्रबंधन ने हमारा समर्थन किया है। हमारा हौसला बढ़ा हुआ है और हम हमेशा की तरह आत्मविश्वास से भरे हुए हैं।"
भले ही हौसले बुलंद हो गए हों लेकिन चीर प्रतिद्वंदियों मिली यह हार हमेशा के लिए याद रहेगी। इफ़्तिख़ार ने कहा, "इतना बड़ा मैच हारना हमेशा पीड़ादायक होता है। हम ऐसा बर्ताव नहीं कर सकते कि जैसे कुछ हुआ ही ना हो। आख़िरकार हम 20 से 25 करोड़ लोगों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इसलिए हम सब इस दर्द और पीड़ा को महसूस कर रहे हैं।"
यह एक बड़ी चुनौती है लेकिन गुरुवार को ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध मुक़ाबले के लिए पाकिस्तान को ख़ुद को एकत्रित करना होगा। पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ हारिस राउफ़ टीम के लिए अहम कड़ी साबित हो सकते हैं।
इफ़्तिख़ार ने कहा, "हारिस हमारे प्रमुख गेंदबाज़ हैं और हम यह उम्मीद कर रहे हैं कि वह यहां अच्छी गेंदबाज़ी करेंगे और पाकिस्तान को जीत दिलाएंगे। ऑस्ट्रेलिया में पिच तेज़ और उछाल भरी होती है और हमने उसकी तैयारी भी की है।"
भुवनेश्वर कुमार और अर्शदीप सिंह की शानदार गेंदबाज़ी के बाद इफ़्तिख़ार ने ही पाकिस्तान की पारी को आगे बढ़ाया था। अक्षर पटेल के ओवर में अपने गियर बदलने से पहले उन्होंने मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर जमकर अच्छे गैप निकाले। उन्होंने कहा, "लोग कहते हैं कि मैं स्वीप और रिवर्स शॉट नहीं खेलता, इसलिए मैं इन शॉट्स पर भी पकड़ बनाने का प्रयास कर रहा हूं। यहां की उछाल भरी पिचों को देखते हुए स्वीप और रिवर्स शॉट काफ़ी कारगर साबित होंगे। टीम में मेरी भूमिका विकेट गिर जाने के बाद क्रीज़ पर ज़्यादा से ज़्यादा समय बिताने की है। मेरी ज़िम्मेदारी पहले पारी को संभालने और उसके बाद आक्रमण करने की है। जब आप बड़ी टीमों के विरुद्ध रन बनाते हैं तो यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाता है और मैं इस आत्मविश्वास को आगे ले जाने की कोशिश करूंगा।"
पहले मैच में मिली हार के बाद पाकिस्तान के लिए ग़लती करने की गुंजाइश अब कम ही है। अब एक भी ग़लती उन्हें सेमीफ़ाइनल में प्रवेश से वंचित कर सकती है। भले ही पाकिस्तान मुक़ाबले से पहले कागज़ पर ज़िम्बाब्वे पर भारी दिख रही है लेकिन वह उन्हें कमतर आंकने की भूल कभी नहीं करेंगे।
इफ़्तिख़ार ने कहा, "वह एक अंतर्राष्ट्रीय टीम है और हम इसे किसी भी अन्य देश के ख़िलाफ़ खेले जाने वाले मुक़ाबले की तरह ही खेलेंगे। खेलना ज़रूरी है और खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन करने के भूखे हैं। हम वापसी की तैयारी कर रहे हैं ताकि हम विश्व कप में अपनी दावेदारी को जारी रख सकें।"

ट्रिस्टन लैवलेट पर्थ में स्थित पत्रकार हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।