मैच (18)
IND v ENG (1)
PSL 2024 (2)
CWC Play-off (6)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
BPL 2023 (2)
WPL (1)
ख़बरें

डॉटिन ने जायंट्स के डब्ल्यूपीएल से बाहर किए जाने के 'आश्चर्यजनक तर्क' पर सवाल उठाए

ऑलराउंडर ने फ़्रैंचाइज़ी के दावों को नकारा जिसमें उन्‍होंने कहा था कि डब्‍ल्‍यूपीएल से पहले वह मेडिकल फ़‍िट नहीं हो पाई हैं

गुजरात जायंट्स के दिए बयान से निराश हैं डॉटिन  •  CPL T20 via Getty Images

गुजरात जायंट्स के दिए बयान से निराश हैं डॉटिन  •  CPL T20 via Getty Images

डब्‍ल्‍यूपीएल के पहले सीज़न में डिएंड्रा डॉटिन ने गुजरात जायंट्स द्वारा बाहर किए जाने पर दिए गए आश्‍चर्यजनक तर्क पर सवाल खड़े किए हैं।
डब्‍ल्‍यूपीएल की शुरुआत से पहले गुजरात ने एक बयान में कहा था कि डॉटिन मेडिकल परिस्थितियों से उबर रही हैं, जिसके बाद डॉटिन ने ट्विट करके कहा कि मैं किसी भी चीज़ से नहीं उबर रही हूं। गुजरात ने साफ़ किया था कि उन्‍हें डॉटिन से समय पर मेडिकल क्‍लीयरेंस नहीं मिल पाई थी जिसकी वजह से उन्‍हें डॉटिन की जगह ऑस्‍ट्रेलिया की किम गार्थ को शामिल करना पड़ा।
रविवार को डॉटिन ने ट्विटर पर विस्‍तृत बयान जारी किया और कहा, "मैं दिल से बहुत निराश हूं जिस तरह से टूर्नामेंट से बाहर होने का आश्‍चर्यजनक तर्क दिया गया है। टूर्नामेंट की शुरुआत में फ़्रैंचाइज़ी ने दावा किया कि मुझे टीम से बाहर रखा गया था क्योंकि मैं स्पष्ट रूप से एक चिकित्सा स्थिति से ठीक हो रही थी। इसके बाद एक स्पष्ट करने वाला बयान आया, जिसमें तर्क दिया गया था कि मैं वास्तव में 'चिकित्सा मंजूरी प्राप्त करने में असमर्थ' थी, जबकि 20 फरवरी को मंजूरी दी गई थी।"
डॉटिन ने कहा कि उन्होंने पिछले साल दिसंबर में मामूली पेट दर्द का अनुभव करने के बाद इलाज़ की मांग की थी और जनवरी में दूसरी सलाह लेने के बाद उन्‍हें 13 फ़रवरी तक आराम की सलाह दी गई थी। इसके बाद उन्‍होंने 14 फ़रवरी से ट्रेनिंग शुरू कर दी थी।
"नतीज़तन, मैंने अपने व्यक्तिगत प्रशिक्षण और फ़‍िटनेस को सलाह अनुसार शुरू किया और पहले दिन मुझे मुश्किल आई, यह होना भी था कि मुझे पहले कुछ सप्‍ताह में आराम के लिए कहा गया था।"
"इस मामले में गुजरात जायंट्स के फ़ि‍जियोथेरेपिस्‍ट के साथ बातचीत में पारदर्शिता थी, जिसके बाद फ़्रैंचाइज़ी मैनेजमेंट को यह बताया गया कि ट्रेनिंग करने के बाद उन्‍हें पेट में दर्द की शिकायत हुई है, जो बिल्‍कुल भी वह नहीं था, जो मैंने उन्‍हें बताया था।"
डॉटिन ने कहा कि जायंट्स ने जोर देकर कहा कि 20 फरवरी को उनके इलाज करने वाले सर्ज़न द्वारा मेडिकल क्लीयरेंस दिए जाने के बावजूद उन्होंने खु़द का स्थानीय स्तर पर मूल्यांकन कराया।
"डॉटिन ने बताया कि गुजरात के फ़‍िजियोथेरेपिस्ट से मुझे एक ईमेल मिला, जिसमें निम्नलिखित मांग की गई थी, 'डिएंड्रा डॉटिन को 26/02/2023 तक लेटेस्ट स्कैन के साथ अपनी फ़‍िटनेस रिपोर्ट जमा करने की सख्‍़त सलाह दी जाती है। उसे ही असली रिपोर्ट माना जाएगा। अगर वह इसका पालन नहीं करती हैं तो वह डब्ल्यूपीएल में टी20 मैचों के लिए अयोग्य करार दी जाएंगी। यह मांग मुझसे 25 फरवरी को की गई थी, जबकि अगले दिन का डेडलाइन था। इतने कम समय में हर तरह का मेडिकल टेस्ट कराना और उसे भेजना असंभव था।"
डॉटिन ने बताया कि अगले दिन 26 फ़रवरी को उन्हें अदानी स्पोर्ट्सलाइन के एक वरिष्ठ प्रबंधक द्वारा ईमेल के माध्यम से बताया गया था कि डब्ल्यूपीएल में उन्हें एक ठोस भूमिका अदा करनी है। हालांकि, इसके लिए एक नया सीटी स्कैन तैयार करना होगा और 1 मार्च तक रिपोर्ट करना होगा। जब मैं सीटी स्कैन की रिपोर्ट को हासिल करने में व्यस्त थी तो मुझे 27 फ़रवरी को एक और ईमेल मिला। इसमें लिखा था कि वह किसी प्राइवेट अस्पताल में मेरा अपॉइंटमेंट कराने में असमर्थ हैं और मुझे टीम में रिप्लेस करने की मांग करने लगे।"
जब इस बारे में ESPNcricinfo ने फ़्रैंचाइज़ी से पूछा तो उन्‍होंने पिछले बयान में कुछ भी जोड़ने से इंकार कर दिया।