मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CAN T20 (2)
फ़ीचर्स

जब निकोल बोल्टन को समझ आया कि मैं खाना नहीं बना सकती, तो उन्होंने मुझे अंडे बनाना सिखाया : हरमनप्रीत

लंबे दौरों पर घर के बने खाने से दूर रहना, ग्लूटन को त्यागना और दाल के प्रति अपने प्यार का इज़हार

"मैंने पिछले दो सालों में किसी भी प्रकार का ग्लूटन नहीं खाया, जिसका मुझे बहुत फ़ायदा मिला है।"  •  BCCI

"मैंने पिछले दो सालों में किसी भी प्रकार का ग्लूटन नहीं खाया, जिसका मुझे बहुत फ़ायदा मिला है।"  •  BCCI

आपको खाने में कौन-सी चीज़ सबसे ज़्यादा पसंद है?
दाल या कुछ भी ग्रेवी आधारित। लेकिन किसी भी प्रकार की दाल मुझे बहुत पसंद है। मैं हफ़्ते के सातों दिन दाल खा सकती हूं और जब तक मैं अपनी थाली में दाल नहीं देखती, तब तक मेरा भोजन पूरा नहीं होता है।
किस पंजाबी व्यंजन को बनाने में आपकी मास्टरी है?
मुझसे खाना पकाने के तेल की गंध बर्दाशत नहीं होती है। मैं खाना बनाने में बिल्कुल अच्छी नहीं हूं। मैं रसोई-घर में ज़्यादा देर तक खड़ी भी नहीं हो सकती। सच कहूं तो मुझे इसमें ज़्यादा दिलचस्पी भी नहीं है। लॉकडाउन के दौरान मैंने एक-दो चीज़ें सीखने की कोशिश की थी परंतु मुझे उसमें कोई खास सफ़लता मिली नहीं। मैंने चिकन पकाने की भी कोशिश की, लेकिन फिर समझ आ गया कि ये मुझसे नहीं होगा। ये जितना आसान दिखाई देता है, उससे कई ज़्यादा मुश्किल है।
आपके परिवार की रसोई की विशेषता क्या है?
मेरे माता-पिता शाकाहारी हैं। मैं और मेरा भाई बाहर जाने पर ही मांसाहारी खाना खाते हैं। सामान्य तौर पर हम सब काफ़ी हल्का खाना खाते हैं। घर पर जो दाल बनती है, वह अतुलनीय है। इसलिए ये भुल्लर परिवार की सबसे अच्छी डिश के लिए मेरी पसंद होगी।
किस मैदान पर खानपान की व्यवस्था सबसे बढ़िया होती है?
मुझे आज भी याद है कि 2016 टी20 विश्व कप में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मैच के दौरान दिल्ली के फ़िरोज़ शाह कोटला में जो खाना हमें परोसा गया था, वह लाजवाब था। मैंने उसके बाद दिल्ली में और कोई अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला, पर उस दिन के खाने का स्वाद मैं आज तक नहीं भूल पाईं हूं।
सामान्य तौर पर आप भारत के किसी भी कोने में क्यों ना खेल रहे हो, आपको बहुत अच्छा खाना परोसा जाता है। और यह बात विदेशी खिलाड़ियों पर भी लागू होती है। मुझे ऐसा लगता है कि हमारा बोर्ड मेहमान टीम की पूरी देखभाल करता है, और खासकर भोजन के लिहाज़ से। इसलिए वह विदेशी खिलाड़ियों की पसंद-नापसंद के हिसाब से रसोइया चुनते हैं। पर जब हम विदेशी यात्रा करते हैं, तब लंबे समय तक सिर्फ़ सैंडविच खाने की आदत डालना थोड़ा चुनौतीपूर्ण हो जाता है।
आपके हिसाब से कौन-सी क्रिकेटर सबसे अच्छा खाना बनाती है?
मेरी दोस्त नूपुर [कश्यप], जिन्होंने मेरे साथ पंजाब में थोड़ा बहुत क्रिकेट खेला, बढ़िया खाना बनाती है। अगर आप उसे आधी रात को जगाएंगे, तब भी वह आपके खाने के लिए कुछ ना कुछ अद्भुत तैयार कर ही देगी। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटरों में, ऑस्ट्रेलिया के निकोल बोल्टन के पास काफ़ी प्रभावशाली कौशल है। किआ सुपर लीग में लैंकशायर थंडर के लिए अपने डेब्यू सीज़न के दौरान, हम एक अपार्टमेंट में साथ रहते थे। शुरू में, वह अपना नाश्ता खुद बनाती थी, और मैं सुबह 10 बजे तक भोजनालयों के खुलने का इंतजार करती थी, ताकि मैं बाहर खा सकूं। कुछ समय बाद, बोल्टन को समझ आ गया कि मैं खाना नहीं बना सकती (हंसते हुए), इसलिए उन्होंने मुझे अंडे के कुछ व्यंजन सिखाए। उनका ऐसा करना मुझे बहुत अच्छा लगा।
आप मैच के दिन क्या-क्या खाती हैं?
मैं मैच से पहले हल्का खाना पसंद करती हूं, वरना आप आसानी से फूला हुआ महसूस करने लगते हो और यह आपकी लय और दौड़ने की क्षमता को प्रभावित करता है। भारत में खेलते समय मैं दाल-चावल और शाकाहारी व्यंजनों के साथ जाती हूं। मैच के बाद मैं, खोई हुई कैलरी की भरपाई करने के लिए, प्रोटीन और कार्ब्स के अच्छे संतुलन के साथ थोड़ा भारी भोजन करना पसंद करती हूं।
क्या कोई ऐसा खाद्द पदार्थ है जो आप दौरे पर हमेशा साथ ले जाती है?
मैं अपने साथ एनर्जी बार ले जाना पसंद करती हूं क्योंकि आपको नहीं पता कि विदेशों में किस प्रकार का खाना मिलेगा। मैं एक या दो दिन सैंडविच खा सकती हूं। उसके बाद मेरा पेट जवाब दे देगा कि नहीं यार, मुझसे नहीं हो पाएगा। तो अगर आपके पास एक या दो एनर्जी बार हो तो आप जल्दी से कुछ खा सकते हो। वह पेट के लिए काफी हल्के होते हैं और आपको लंबे समय तक भूख भी नहीं लगती।
आम तौर पर आपके चीट-मील में क्या होता है?
ज़्यादातर मिठाइयां। मैं बर्फ़ी और मिल्क-केक की दीवानी हूं।
कसरत करने के बाद आप क्या खाना पसंद करती है?
मैं ज़्यादा प्रयोग किए बिना अड़े या पौधे से आधारित प्रोटीन लेना पसंद करती हूं।
अपने फ़िटनेस प्लान के आधार पर क्या आपने किसी चीज़ को अपने आहार से जोड़ा या हटाया है?
मुझे ग्लूटन को पूरी तरह से अलविदा कहना पड़ा। जैसा कि आप जानते हैं, पंजाबी परिवार ग्लूटन पर पलते हैं। रोटियां, पराठे - अगर आप पंजाबी हैं तो इनसे बच ही नहीं सकते। लेकिन मैनें पिछले दो सालों में किसी भी रूप में ग्लूटन नहीं खाया है। उस फ़ैसले का मुझे बड़े पैमाने पर फ़ायदा हुआ क्योंकि मैच या चोट के बाद मेरी रिकवरी तेज़ हो गई है।

ऑन्नेशा घोष (@ghosh_annesha) ESPNcricinfo में सब-एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब-एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।