मैच (17)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

आईसीसी एफ़टीपी: बांग्लादेश को 2023-27 चक्र में वनडे और टेस्ट का मिला जैकपॉट

वे अगले चार वर्षों में 34 टेस्ट, 59 वनडे और 51 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलेंगे; इस अवधि में केवल वेस्टइंडीज़ ही उनसे ज़्यादा मैच खेलेगा

बांग्लादेश टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष आठ से बाहर है, लेकिन अन्य निचले रैंकिंग की टीमों की तुलना में इस प्रारूप में ज़्यादा मैच खेलेगा  •  AFP/Getty Images

बांग्लादेश टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष आठ से बाहर है, लेकिन अन्य निचले रैंकिंग की टीमों की तुलना में इस प्रारूप में ज़्यादा मैच खेलेगा  •  AFP/Getty Images

बांग्लादेश को थोड़ा सा ज़्यादा लाभ मिला है। 2023-2027 आईसीसी फ़्यूचर टूर्स प्रोग्राम (एफ़टीपी) में वे 34 टेस्ट खेलेंगे। इस मामले मेें उनसे आगे सिर्फ़ इंग्लैंड (42), ऑस्ट्रेलिया (41) और भारत (38) है। बांग्लादेश के नाम के आगे सबसे अधिक 59 एकदिवसीय मैच हैं, इस मामले में केवल श्रीलंका (58) 50 से ज़्यादा मैच खेलेगा। कुल मिलाकर बाग्लादेश सिर्फ़ वेस्टइंडीज़ के 146 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबलों से पीछे है, उन्हें 144 मैच खेलने हैं।
एफ़टीपी का अगला चक्र, जिसे ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो ने एक्सेस किया है, उसमें परिवर्तन हो सकते हैं, लेकिन यह एक उचित दिशानिर्देश है कि अगले कुछ वर्षों का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैसा होगा।
बांग्लादेश जारी एफ़टीपी में पहले से ही अपने 30 में से 28 टेस्ट खेल चुका है (भारत में दो और खेलने हैं)। वे आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नौवें स्थान पर हैं। बांग्लादेश को अगले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप चक्र 2023-2025 में कुछ रोमांचक टेस्ट खेलने हैं। वे भारत, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज़ में टेस्ट मैच खेलेंगे और न्यूज़ीलैंड, साउथ अफ़्रीका और श्रीलंका की मेज़बानी करेंगे। यह शीर्ष आठ से बाहर के अन्य टेस्ट देशों ज़िम्बाब्वे, अफ़ग़ानिस्तान और आयरलैंड से काफ़ी बढ़िया है।
इतना ही नहीं। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के पास अपने घरेलू कैलेंडर में बीपीएल के लिए विंडो भी है। टूर्नामेंट का अगला पांच सीज़न जनवरी में खेला जाएगा, सिर्फ़ कभी-कभी दिसंबर के अंत में थोड़ा जल्दी शुरू होगा।
ज़िम्बाब्वे ने पिछले पांच सालों में 13 टेस्ट खेले हैं, उन्हें अगले चक्र में अफ़ग़ानिस्तान के समान सिर्फ़ 20 टेस्ट खेलने की संभावना है, लेकिन आयरलैंड सिर्फ़ 12 टेस्ट मैच खेलेगा।
ज़िम्बाब्वे
ज़िम्बाब्वे को प्रोत्साहित महसूस करना चाहिए, क्योंकि उन्हें अगले चार सालों में कुल 109 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 20 टेस्ट आवंटित किए गए हैं। पिछले चार साल की अवधि की तरह, वे अपना अधिकांश क्रिकेट अफ़ग़ानिस्तान, बांग्लादेश और आयरलैंड के ख़िलाफ़ खेलेंगे। साथ ही साउथ अफ़्रीका और न्यूज़ीलैंड उनके ख़िलाफ़ संयुक्त रूप से तीन टेस्ट खेलेंगे।
ज़िम्बाब्वे को पाकिस्तान और श्रीलंका के ख़िलाफ़ भी मैच खेलने हैं, लेकिन सिर्फ़ सफ़ेद गेंद से, जबकि ज़िम्बाब्वे ने जुलाई 2025 में एक टी20 अंतर्राष्ट्रीय त्रिकोणीय श्रृंखला का प्रस्ताव रखा है, हालांकि अन्य दो टीमों के नाम सार्वजनिक नहीं हैं।
अफ़ग़ानिस्तान
अगले चार वर्षों में अफ़ग़ानिस्तान का भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका के ख़िलाफ़ एक-एक टेस्ट मैच निर्धारित है। हालांकि, उनके 20 टेस्ट में से अधिकांश ज़िम्बाब्वे और आयरलैंड के ख़िलाफ़ होंगे, जबकि बांग्लादेश उनसे चार टेस्ट मैच खेलेगा।
ऑस्ट्रेलिया, भारत, न्यूज़ीलैंड, पाकिस्तान और श्रीलंका की अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ दो-दो सीरीज हैं, जिसमें वनडे और टी20 हैं, जबकि वेस्टइंडीज़ उनसे एक वनडे सीरीज़ खेलेगा।
आयरलैंड
आयरलैंड के पास ख़ुद को उपेक्षित महसूस करने का कारण है। क्योंकि उन्हें सबसे कम 12 टेस्ट मैच खेलने हैं, और उनमें से अधिकांश अफ़ग़ानिस्तान, ज़िम्बाब्वे और बांग्लादेश के ख़िलाफ़ होगा। न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका ने उन्हें एक टेस्ट मैच की एकमात्र श्रृंखला की पेशकश की है, जबकि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के क्रमशः 2023 और 2024 में उनसे सीमित ओवरों की श्रृंखला खेलने की उम्मीद है।

मोहम्मद इसाम ESPNcricinfo के बांग्लादेशी संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के ए़डिटोरियल फ़्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।