मैच (16)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
BAN v SL (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : कप्तान रोहित का बल्ला कब बोलेगा?

एशिया कप 2022 में अब तक के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज़ नवाज़ से बचकर रहना होगा

एक से भले दो... जब भी भारत और पाकिस्तान के बीच मुक़ाबलों की बात आती हैं तो सभी चाहते हैं कि इन दोनों टीमों के बीच मुक़ाबले कभी ख़त्म ना हो। पिछले रविवार को दुबई में एक दूसरे से भिड़ने के एक हफ़्ते बाद यह दोनों टीमें एशिया कप 2022 के सुपर 4 चरण में आमने-सामने होंगी। दोनों टीमें चोट से जूझ रही है - जहां भारतीय ऑलराउंडर रवींद्र जाडेजा घुटने की चोट के चलते एशिया कप और संभवतः टी20 विश्व कप से बाहर हो गए हैं, पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज़ शाहनवाज़ दहानी इस मुक़ाबले का हिस्सा नहीं बन पाएंगे। जब भी भारत और पाकिस्तान का मुक़ाबला होता है तब रोमांच की कमी बिल्कुल भी नहीं होती है। आइए इस धमाकेदार मुक़ाबले के दूसरे राउंड से पहले नज़र डालते हैं कुछ महत्वपूर्ण आंकड़ो पर।
रोहित का बल्ला कब बोलेगा?
टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में टॉप 10 टीमों में रोहित शर्मा कम से कम 30 मैचों में कप्तानी करने वाले विश्व के सबसे सफल कप्तान हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 37 में से 31 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में जीत दर्ज की है। हालांकि कप्तान रोहित का बल्ला बोल नहीं रहा है। टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में इस साल उनकी औसत 23.1 की रही है और उन्होंने केवल एक अर्धशतक लगाया है। चिंता की बात यह है कि रोहित आठ बार 20 से कम के स्कोर पर आउट हुए हैं और उनका फ़ॉर्म में लौटना भारत के लिए बहुत आवश्यक है।
नवाज़ पर रहेगी नज़र
एशिया कप के अपने पहले मैच में रोहित, कोहली और जाडेजा को आउट कर मोहम्मद नवाज़ पाकिस्तान के सबसे सफल गेंदबाज़ रहे थे। वह इसी कहानी को इस मैच में भी दोहराना चाहेंगे। फ़िलहाल छह विकेट लेकर एशिया कप में दूसरे सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ नवाज़ ने अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर में 27 बार दाएं हाथ के बल्लेबाज़ों का शिकार किया है। वहीं बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ उनकी इकॉनमी 9.1 की है और वह केवल चार बार उन्हें आउट कर पाए हैं। अब जब जाडेजा टीम में नहीं होंगे तो नवाज़ पर अच्छा प्रदर्शन करने की ज़िम्मेदारी होगी।
दूसरा स्पिनर कौन?
जाडेजा के टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद अब एकादश में दूसरे स्पिनर का स्थान खाली है और रविचंद्रन अश्विन या अक्षर पटेल को मौक़ा मिल सकता है। अनुभवी ऑफ़ स्पिनर अश्विन इस प्रारूप में भारत के मैच विनर रहे हैं और पिछले साल टी20 अंतर्राष्ट्रीय टीम में वापसी करने के बाद से उन्होंने 5.8 की इकॉनमी से 12 विकेट झटके हैं। वहीं दूसरी तरफ़ अक्षर, जाडेजा की तरह बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाज़ी करते हैं। इस साल उन्होंने नौ पारियों में आठ विकेट निकाले हैं लेकिन उनकी इकॉनमी 8.7 की है। टीम प्रबंधन को यह देखना होगा कि इन दोनों में से कौन उनकी सर्वश्रेष्ठ एकादश में फ़िट बैठेगा।

अफ़्ज़ल जिवानी(@ jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं |