मैच (7)
बांग्लादेश बनाम भारत (1)
WTC (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
विश्व कप लीग 2 (2)
न्यूज़ीलैंड बनाम बांग्लादेश (1)
भारत अंडर-19 बनाम न्यूज़ीलैंड अंडर-19 (1)
फ़ीचर्स

कौन पहुंचेगा प्लेऑफ़ में?

आईपीएल प्लेऑफ़ में जगह बनाने या अपनी वरीयता में सुधार करने के लिए प्रत्येक टीम को क्या करने की आवश्यकता है, इस पर एक नज़र

Varun Chakravarthy sent back Priyam Garg, Kolkata Knight Riders vs Sunrisers Hyderabad, IPL 2021, Dubai, October 3, 2021

अपने अंतिम मैच में जीत प्लेऑफ़ में कोलकाता की जगह पक्की कर सकती है  •  BCCI

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के लीग चरण के अंतिम सात मैचों के साथ अंक तालिका में दो आपसी मुक़ाबले भी चल रहे है - एक चौथे से सातवें स्थान पर बनी हुई टीमों के बीच प्लेऑफ़ में जाने की जंग और दूसरी टॉप 2 में पहुंचने की। आइए एक नज़र डालते हैं कि टीमों को अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए क्या करने की आवश्यकता है :
कोलकाता नाइट राइडर्स
मैच खेले : 13, अंक : 12, नेट रन रेट : 0.294, बचा हुआ मैच : बनाम राजस्थान
नाइट राइडर्स चौथे स्थान के लिए प्रबल दावेदार है। सनराइज़र्स को हराकर वह 12 अंकों पर पहुंच गए हैं। महत्वपूर्ण बात यह भी है कि 0.294 का उनका नेट रन रेट चौथे प्लेऑफ़ स्थान के लिए संघर्ष कर रही टीमों में सर्वश्रेष्ठ है। गुरुवार को राजस्थान रॉयल्स को हराकर वह प्लेऑफ़ में अपनी जगह पक्की कर सकते है।
हालांकि अगर गुरुवार को उन्हें हार का सामना करना पड़ता है, तो वह चाहेंगे कि मुंबई इंडियंस और आरआर 12 अंकों से आगे ना जाए। ऐसा होने के लिए पहले मुंबई को राजस्थान को हराना होगा और फिर अपने अंतिम मैच में सनराइज़र्स से हारना होगा। अगर ऐसा होता है तो कोलकाता 12 अंकों के साथ अपने बेहतरीन रन रेट के दम पर प्लेऑफ़ में प्रवेश करेगा।
पंजाब किंग्स
मैच खेले : 13, अंक : 10, नेट रन रेट : -0.241, बचा हुआ मैच : बनाम चेन्नई
किंग्स प्लेऑफ़ की दौड़ से लगभग बाहर हो चुके हैं। वह केवल 12 अंकों तक पहुंच सकते है, जिसका मतलब यह है कि उन्हें अपने रन रेट को कोलकाता के रन रेट से आगे बढ़ाना होगा। प्लेऑफ़ में जगह बनाने के लिए किंग्स को अंक तालिका के शीर्ष पर चल रही चेन्नई को बड़े अंतर से हराना होगा और उम्मीद करनी होगी की कोलकाता को अपनी आख़िरी मैच में बड़ी हार का सामना करना पड़े। इसके अलावा अगर कोई टीम 14 अंकों पर पहुंच जाती है तो किंग्स प्रतियोगिता से बाहर हो जाएंगे। नेट रन रेट भी पंजाब के साथ नहीं है - उदाहरण के तौर पर अगर किंग्स 70 रन से जीतते है और कोलकाता 70 रनों से हारता है, तब जाकर किंग्स का रन रेट कोलकाता से बेहतर होगा।
राजस्थान रॉयल्स
मैच खेले : 12, अंक : 10, नेट रन रेट : -0.337, बचे हुए मैच : बनाम मुंबई, कोलकाता
कोलकाता के बढ़िया नेट रन रेट ने दूसरी टीमों की मुसीबतें बढ़ा दी है। प्लेऑफ़ में जाने के लिए राजस्थान को अपने दोनों मुक़ाबले जीतने होंगे। चूंकि उनके विरोधी मुंबई और कोलकाता है, जीत के साथ वह उन दोनों की उम्मीदों पर पानी फेर सकते है। हालांकि अगर बात 12 अंकों के साथ नेट रन रेट पर आती है तो राजस्थान के आगे जाने की संभावना कम ही है। अगर वह मुंबई के ख़िलाफ़ एक रन से भी हारते हैं तो उन्हें कोलकाता को 75 रनों से हराना होगा और तब जाकर वह रन रेट में मुंबई से आगे निकल पाएंगे।
मुंबई इंडियंस
मैच खेले : 12, अंक : 10, नेट रन रेट : -0.453, बचे हुए मैच : बनाम राजस्थान, हैदराबाद
मुंबई राजस्थान की तरह एक कठिन स्थिति में है - उनका रन रेट इतना ख़राब है कि उनके पास अपने आख़िरी दोनों मैच जीतने के अलावा और कोई चारा नहीं है। ऐसा करने पर भी वह बाहर हो सकते हैं अगर नाइट राइडर्स गुरुवार को रॉयल्स को हराकर 14 अंकों पर पहुंच जाए। रन रेट के मामले में कोलकाता से आगे निकलने के लिए मुंबई को अपने दोनों मैच लगभग 200 रनों के संयुक्त अंतर से जीतने होंगे।
टॉप 2 में तीन तिगड़ा, काम बिगड़ा?
इसी बीच तालिका के शीर्ष पर टॉप 2 में जगह बनाने के लिए तीन टीमें - चेन्नई, दिल्ली और बेंगलुरु संघर्ष कर रही हैं। रन रेट के मामले में चेन्नई और दिल्ली बेंगलुरु से काफ़ी आगे है। इसके चलते अपने अंतिम दो मैचों में एक जीत के साथ वह दोनों पहले क्वालीफ़ायर में प्रवेश करेंगे। हालांकि अगर दिल्ली या चेन्नई अपने दोनों मुक़ाबले हार जाता है और वहीं आरसीबी को दो मैचों में जीत मिलती है तो वह दूसरे स्थान पर पहुंच जाएंगे। और तो और दिल्ली कैपिटल्स को अपने आख़िरी दो मैचों में चेन्नई और बेंगलुरु का सामना करना होगा जहां हार उनकी राह मुश्किल कर सकती है।

एस राजेश (@rajeshstats) ESPNcricinfo के स्टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।