मैच (16)
AFG v IRE (1)
WPL (2)
PSL 2024 (1)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (2)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : चेन्नई और बेंगलुरु के मुक़ाबले में हो सकती है छक्कों की बरसात

गेंदबाज़ मैक्सवेल का दिख सकता है जादू

एक मज़बूत शुरुआत दिलानेन के बाद अनुज रावत और डुप्लेसी  •  BCCI

एक मज़बूत शुरुआत दिलानेन के बाद अनुज रावत और डुप्लेसी  •  BCCI

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच हुए मुक़ाबलों में हमेशा से ही चेन्नई का पलड़ा भारी रहा है। दोनों के बीच हुए 28 मुक़ाबलों में 18 में चेन्नई और 9 में बेंगलुरु ने जीत हासिल की है। 2018 से हुए मुक़ाबलों में भी चेन्नई ने छह बार विजय प्राप्त की है। हालांकि इस सीज़न के फ़ॉर्म को देखते हुए लगता है कि बेंगलुरु इस रिकॉर्ड में सुधार कर सकता है। आइए नज़र डालते हैं इस मैच से जुड़े अहम आंकड़ों पर।
क्या मोईन अली का तोड़ बन पाएंगे मैक्सवेल?
चेन्नई की तरफ़ से इस साल मोईन अली शानदार फ़ॉर्म में रहे हैं और एक डक को छोड़कर बाक़ी दो पारियों में उन्होंने 48 और 35 का स्कोर बनाया है। बेंगलुरु की कोशिश होगी कि चेन्नई के सलामी बल्लेबाज़ों को जल्द पवेलियन भेज कर मोईन को भी रोका जाए। ऐसे में ग्लेन मैक्सवेल उनके काम आ सकते हैं। इस ऑफ़ स्पिनर ने बाएं हाथ के मोईन को टी20 की चार पारियों में दो बार आउट किया है। इस दौरान मोईन, मैक्सवेल पर सिर्फ़ 73 के स्ट्राइक रेट और 5.5 की औसत से रन बना पाए हैं।
देखने को मिल सकती है छक्कों की बरसात
यह मुक़ाबला मुंबई के डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेला जाएगा, जहां इस सीज़न में सबसे अधिक 87 छक्के लग चुके हैं। दोनों टीमों में फ़ाफ़ डुप्लेसी, मैक्सवेल, मोईन, रवींद्र जाडेजा, विराट कोहली, दिनेश कार्तिक और महेंद्र सिंह धोनी जैसे आक्रामक बल्लेबाज़ों को देखते हुए इस मैच में भी छक्कों की बरसात होने की पूरी उम्मीद है। इससे पहले दोनों टीमों के बीच 2018 में हुए मैच में 33 छक्के लग चुके हैं, जो कि आईपीएल में संयुक्त रुप से सर्वाधिक छक्कों वाला मैच है।
वहीं धोनी बेंगलुरु के ख़िलाफ़ 29 पारियों में सर्वाधिक 46 छक्के लगा चुके हैं। ऐसे में बेंगलुरु के पूर्व कप्तान विराट भी कहा पीछे रहने वाले हैं। उन्होंने भी चेन्नई के ख़िलाफ़ 27 पारियों में 36 छक्के लगाए हैं, जो कि 'येलो आर्मी' के ख़िलाफ़ किसी भी खिलाड़ी का दूसरा सर्वाधिक है।
थाला बनाम कोहली
कप्तानी छोड़ चुके दोनों खिलाड़ी रनों के मामले में भी एक दूसरे की टीम के ख़िलाफ़ भारी पड़ते हैं। जहां विराट ने चेन्नई के ख़िलाफ़ 27 पारियों में 41.2 की औसत और 127 के स्ट्राइक रेट से नौ अर्धशतकों की मदद से सर्वाधिक 948 रन बनाए हैं, वहीं धोनी के नाम भी बेंगलुरु के ख़िलाफ़ 29 पारियों में 141 के स्ट्राइक रेट और 41.8 की औसत से चार अर्धशतकों की मदद से सर्वाधिक 836 रन दर्ज है।

दया सागर (@dayasagar95) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।